Latest News in Hindi

बड़ा सवाल: जब घर घर डस्टबिन बांटे गए हैं तो चौक चौराहों पर कचरा कंटेनर क्यों नजर आ रहे?

By Satya Narayan Shukla

Sep, 12 2018 08:40:51 (IST)

शहर को कचरा मुक्त करने के लिए नगर निगम कई तरह की योजनाए लागू कर चुका है। अब निगम आयुक्त लोकेश्वर साहू ने स्वच्छता सर्वेक्षण को ध्यान में रखते हुए शहर को कन्टेनरमुक्त रखने का निर्णय लिया है।

दुर्ग@Patrika . शहर को कचरा मुक्त करने के लिए नगर निगम कई तरह की योजनाए लागू कर चुका है। अब निगम आयुक्त लोकेश्वर साहू ने स्वच्छता सर्वेक्षण को ध्यान में रखते हुए शहर को कन्टेनरमुक्त रखने का निर्णय लिया है। उन्होंने निगम अधिकारियों की बैठक लेकर योजना पर अमल करने के निर्देश दिए। उन्होंने स्वच्छता निरीक्षकों पर नाराजगी व्यक्त करते हुये कहा दो बजे तक शहर की सफाई कराई जाती है उसके बाद भी कन्टेनर कचरे से भरे दिखाई देते हैं। उन्होंने कहा कि निरीक्षक यह देखें कि सफाई के बाद कन्टेनर में कौन कचरा डालता है। कचरा डालते मिले तो उसके खिलाफ कार्रवाई किया जाए। उन्होंने कहा कि प्रत्येक दुकानदारों को और घर-घर डस्टबिन का वितरण किया गया है। बावजूद लोग कचरा बाहर फेक रहे हैं। कचरा बाहर फेकने वालों को पहले समझाइश दें। इसके बाद जुर्माना वसूल करे।

स्वच्छता सर्वेक्षण के लिए होने वाले स्टार रैंकिंग के लिए सामंजस्य बनाकर काम करें
निगम आयुक्त ने कहा कि स्वच्छता सर्वेक्षण के लिए होने वाले स्टार रेटिंग के तहत निगम की कमजोरियों नहीं दिखना चाहिए। सामंजस्यस बनाकर काम करने की जरूरत है। उन्होंने वार्डो के टायलेट, यूरिनल, रैम्प, रैलिंग, नल में पानी, हाथ धोने के लिए साबुन की सुविधा, शौचालय तक पहुंच मार्ग ठीक कराने के निर्देश दिए । सेनिटेरी नेपकिन मशीन रखी गई है या नहीं इसकी जांच करने के लिए कहा।

 

कंटेनर में कचरा मिला तो उस क्षेत्र के सुपरवाइजर के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी
आयुक्त ने बैठक में अधिकारियों से सवाल किया कि शहर में डोर टू डोर कचरा कलेक्शन कर उसे सेंटर तक पहुंचाया जा रहा है। इसके बाद भी शहर के चौक चौराहे पर रखे कंटेनर में लोग कचरा डाल रहे हैं। आयुक्त ने कहा कि कचरा रिक्शा से कचरा कन्टेनरों में डालते पाए जाने पर उस क्षेत्र के सुपरवाइजर के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।@Patrika