Health News: जानें क्या है नोरोवायरस के लक्षण और बचाव का सही तरीका

|

Published: 23 Jul 2021, 05:19 PM IST

Norovirus: कोरोना वायरस की तीसरी लहर से बचने के लिए दुनिया अभी पूरी तरह से तैयार भी नहीं हो पाई है कि एक और वायरस ने दस्तक दे दी है। कोरोना के बाद अब नोरोवायरस भी तेजी से लोगों को अपनी चपेट में लेता हुआ दिख रहा है।

Norovirus: कोरोना वायरस की तीसरी लहर से बचने के लिए दुनिया अभी पूरी तरह से तैयार भी नहीं हो पाई है कि एक और वायरस ने दस्तक दे दी है। कोरोना के बाद अब नोरोवायरस भी तेजी से लोगों को अपनी चपेट में लेता हुआ दिख रहा है। अभी तक इस वायरस से संक्रमण के 154 से ज्यादा मामले इंग्लैंड में ही देखने को मिले हैं। मालूम हो कि कोरोना वायरस ने शुरुआत ऐसे ही चीन के एक शहर से की थी, जिसने पूरी दुनिया को अपनी जद में ले लिया। अभी तक इस वायरस को लेकर कोई दावा नहीं किया जा रहा है कि यह कितना खतरनाक है। लेकिन इस वायरस के लक्षणों और इसके फैलने की वजह को जानना बेहद जरूरी है। ताकि समय रहते उपचार हो सके।

Read More: सात सुपर फूड जो आपकी सेहत को देंगे प्रचुर मात्रा में पोषक तत्व, बीमारियां भी रहेंगी कोसों दूर

सीडीसी के मुताबिक यह नोरोवायरस बहुत से खतरनाक वायरसों का एक ग्रुप है। यह वायरस दस्त, उल्टी, पेट दर्द और मतली जैसी समस्या को जन्म देता है। इसे विंटर वॉमिटिंग बग भी कहते हैं। इस वायरस से संक्रमित व्यक्ति अरबों की संख्या में वायरस के कणों को फैला सकता है। हालांकि यह कण बहुत ही कम संख्या में लोगों को बीमार कर सकते हैं।

नोरोवायरस और इम्यूनिटी
यह वायरस कई तरह के होते हैं। यदि कोई व्यक्ति इस वायरस से संक्रमित हो गया है तो वह कभी भी इसके दूसरे वैरिएंट से भी संक्रमित हो सकता है। क्योंकि इसके दूसरे वैरिएंट्स से आपको इम्यूनिटी नहीं मिलती है।

Read More: ऑयली स्किन से छुटकारा दिलाता है राइस स्क्रब, ऐसे करें तैयार

ऐसे बरतें सावधानी
दूषित भोजन या पानी का सेवन करने से बचें।
हाइजीन का पूरा ध्यान रखें।
हाथों को नियमित तौर पर साबुन से धोएं।
यह वायरस भी आपके नाक और मुंह के जरिए ही प्रवेश कर सकता है। इसलिए संक्रमित व्यक्ति से दूरी बनाकर रखें।

Read More: कई बीमारियों का संकेत हो सकती है खांसी, ऐसे करें घरेलु उपचार