Astrology: कोरोना काल में कटा हुआ पैसा आपको कब मिलेगा वापस?

|

Updated: 29 Dec 2020, 08:31 PM IST

महिलाओं की आर्थिक स्थिति में सुधार...

साल 2020 में फैले कोरोना संक्रमण ने देश दुनिया के आर्थिक हालात बुरी तरह से बिगाड़ कर रख दिए हैं। ऐसे में जहां विभिन्न कंपनियों में लगातार कर्मचारियों को सैलरी में कटौती का सामना करना पड़ रहा है, वहीं अब कर्मचारी कटौती का पैसा वापसी की उम्मीद में हैं।

जानकारों की भी मानें तो आर्थिक हालात सामान्य होने की स्थिति में कंपनियां अपने कर्मचारियों को कटौती की गई तन्ख्वाह की रकम वापस कर देंगी।

इस संबंध में ग्रहों की चाल के आधार पर ज्योतिष के जानकारों का मानना है कि कर्मचारियों का ये कटा हुआ पूरा पैसा नवंबर 2021 के आसपास उनके पास आने की संभावना है।

जबकि इससे पहले ये प्रबल संभावना है कि शुक्र की प्रबलता के कारण महिलाओं की आर्थिक स्थिति में सुधार के लिए सरकार की ओर से जल्द ही विशेष प्रयास होंगे। वहीं आर्थिक रूप से कमजोर महिलाओं के जनधन खातों में सरकार फिर से सहायता पंहुचा सकती है।

MUST READ : Kisan Andolan 2020- ग्रहों की नजरों में किसान आंदोलन कब होगा खत्म

कुल मिलाकर ग्रहों की चाल astro जो संकेत दे रही है उसके अनुसार आजाद भारत की कुंडली में चल रही शनि-चंद्र की कमजोर दशा के कारण अगले (2021) वर्ष मई-जून तक अर्थव्यस्था की रफ्तार धीमी गति से ही बढ़ पाएगी।

वहीं कोरोना को लेकर ज्योतिष के जानकार पंडित सुनील शर्मा का मानना है कि राहु सहित कुछ ग्रह अभी भी कोरोना को विश्व में बरकरार रखे हुए हैं। ऐसे में अब जल्द ये जाने वाला नहीं हैastro, जून 2021 तक इसका प्रकोप कभी बड़े तो कभी छोटे आकार में कई जगहों पर देखने को मिल सकता है। लेकिन 2021 नवंबर तक ये तकरीबन शांत स्थिति में जाता हुआ दिख रहा है।

ज्योतिष के जानकारों के अनुसार अंग्रेजी कैलेंडर के अनुसार नए साल का पहला दिन आधी रात के बाद तारीख बदलने से एक जनवरी 2021 को गुरु पुष्य के महायोग में नव वर्ष का आरंभ हो रहा है । ऐसे में दिन बृहस्पतिवार तथा पुष्य नक्षत्र होने से अति शुभ गुरु पुष्य के योग बन रहे हैं।

ऐसा महायोग बहुत वर्षों बाद आ रहा है। अंक ज्योतिष के अनुसार इस दिन बहुत से शुभ योग बन रहे हैं। वर्ष 2021 इसके अंक 2 को छोड़ दिया जाए तो 21 सन् कहलाएगा। इसका योग तीन है जिसके स्वामी बृहस्पति हैं।

MUST READ : देवी महालक्ष्मी जी की इस स्वरूप से धन लाभ के साथ ही घर आती है सुख-समृद्धि

भारतीय ज्योतिष में सूर्योदय के बाद दिन में बदलाव होता है। इसी दिन से वर्ष भी आरंभ होगा। खास बात यह है कि काफी सालों के बाद ही वर्ष के पहले दिन मध्यरात्रि में गुरुवार एवं सूर्योदय के बाद शुक्रवार तथा पुष्य नक्षत्र आ रहा है। इस दिन भगवान विष्णु के साथ माता लक्ष्मी की विशेष कृपा रहेगी। यह दिन तथा योग व्यापार में वृद्धि व लोगों को सुख-समृद्धि के साथ आर्थिक बल प्रदान करने वाला होगा।

वहीं कर्मचारियों के पैसे वापसी के संबंध में ग्रह समय समय पर योग का निर्माण कर रहे हैं, ऐसे में मुमकिन है कि इनका कटा हुआ पैसा कंपनियां किश्तों में लौटाएं। इसके अलावा 2021 में होने वाले ग्रहों के परिवर्तनों के बीच धन में कभी अधिकता तो कभी कमी का सामना भी कंपनियों सहित कर्मचारियों को भी कई मौकों पर करना पड़ सकता है।