क्या आप नींद न आने की समस्या से परेशान है, आज ही करें ये उपाय

|

Published: 06 Apr 2020, 09:29 AM IST

इस उपाय से नींद की समस्या होगी दूर

क्या आप नींद न आने की समस्या से बहुत परेशान है, कई उपाय या अनेक दवाई लेने के बाद भी नींद आती ही नहीं। कहीं बुरे, डरावने सपने भी तो परेशान नहीं करते, सोने के लिए बिस्तर पर जाते ही डर लगने लगता है। अगर आपको या आपके किसी अपने को इस तरह की समस्या है तो केवल 7 दिन तक इनमें सो कोई भी एक या सभी उपाय आजमाकर देखें। इन उपायों को करने के बाद गहरी नींद आने के साथ सभी तरह के डर भी खत्म हो जाएंगे।

Mahavir Jayanti : भगवान महावीर के 5 व्रत और 12 वचन अपनाने से जीवन को मिलती नई राह

1- यदि किसी को नींद न आती हो तो सोने से पहले हाथ-पैर धोकर बिस्तर पर बैठकर इस मन्त्र का जप 7 बार करके बिस्तर पर लेट जाए। ऐसा करने से नींद न आने की समस्या हमेशा के लिए खत्म हो जाएगी।

अगस्तिर्माधवश्चैव मुचुकुन्दो महाबल:।

कपिलो मुनिरास्तीक: पंचैते सुखशायिन:।।

2- रात को सोने से पहले इस मन्त्र जप 3 या 5 बार करके सो जाए बुरे स्वप्न आना बंद हो जायेंगे।

या देवी सर्वभूतेषु निद्रारूपेण संस्थिता।

नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमो नमः।।

चैत्र मास के अंतिम सोमवार 7 से 2 के बीच करें ये उपाय, प्रसन्न हो जाएंगे महादेव

3- सोते समय बिस्तर पर आंख बंद करके बैठ एकाग्रचित्त होकर 5 बार गहरी सांस लेने के बाद इस प्रार्थना को मन ही मन बोले- मैं शान्त और संतुलित हूं। मेरे मन में किसी प्रकार की चंचलता, व्याकुलता या बुराई नहीं है क्योंकि मेरे अंदर साक्षात् ईश्वर विराजमान हैं। उन्हीं की शक्ति मुझमें काम कर रही है। मेरी शान्ति को कोई भंग नहीं कर सकता। इस प्रार्थना को रोजाना सोते समय बोले। तुरन्त ही आपका मन हल्का होगा और गहरी नींद आने लगेगी।

4- रात्रि में सोते समय आंख बंद करके अपने ईश्वर से मन ही मन कहे- हे परमपिता, जो दु:खदायक वस्तुएं हो, उन्हें हमसे दूर हटा दीजिए। जो सब दु:खों से रहित कल्याणप्रद है, जिन चीजों से हमें आत्मिक सुख प्राप्त हो, उन्हें ही हमें प्रदान कीजिये। इसके बाद नीचे के मंत्र को 7 बार जप कर लें।

मंत्र- ।। ॐ विश्वानि देव सवितु: दुरितानि परा सुव यद् भद्रं तन्न आ सुव।।

Mahavir Jayanti 2020 : जानें कुंए के ताजे जल से भगवान महावीर स्वामी का क्यों किया जाता है अभिषेक

5- यदि किसी को बुरे स्वप्न आते हो तो रात्रि में हाथ-पैर धोकर पूर्व दिशा की ओर मुख करके बिस्तर पर बैठकर, इस मन्त्र को 21 बार उच्चारण करने के बाद सो जाए, बुरे स्वप्न आने बंद होने के साथ गहरी नींद भी आने लगेगी।

वाराणस्यां दक्षिणे तु कुक्कुटो नाम वै द्विज:।

तस्य स्मरणमात्रेण दु:स्वप्न सुखदो भवेत्।।

**********************