उत्तराखंड: महंगाई पर कांग्रेस ने किया सदन से वाक आउट, BJP ने कसा तंज

|

Published: 06 Mar 2020, 04:59 PM IST

Uttarakhand News: (Uttarakhand Government) मुख्यमंत्री (Uttarakhand CM) सदन (Uttarakhand Assembly Session) में मौजूद नहीं थे, (Gairsain Assembly Session) विपक्षी सदस्य बार-बार मुख्यमंत्री से महंगाई के उपर जवाब मांग रहे थे...

(देहरादून): गैरसैंण में चल रहे विधानसभा सत्र के दौरान शुक्रवार को कांग्रेस और सत्ता पक्ष के सदस्य आमने सामने दिखे। महंगाई को लेकर सरकार द्वारा संतोषजनक जवाब नहीं मिलने पर कांग्रेस ने सदन में हंगामा किया और सदन से वाक आउट किया। मुख्यमंत्री सदन में मौजूद नहीं थे। विपक्षी सदस्य बार-बार मुख्यमंत्री से महंगाई के उपर जवाब मांग रहे थे। विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचंद्र अग्रवाल ने विपक्ष के सदस्यों को बार-बार समझाने की कोशिश की लेकिन कांग्रेस के सदस्य नहीं माने। कांग्रेस के सदस्यों का स्पष्ट कहना था कि कांग्रेस के कार्यकाल में कम से कम महंगाई कंट्रोल में थी लेकिन आज महंगाई से हर आदमी परेशान है।

 

यह भी पढ़ें: 3 दिन की सुनवाई में हुआ फैसला, 6 वर्षीय बच्ची से गैंगरेप व हत्या के आरोपियों को फांसी

बजट सत्र के चौथे दिन सदन में महंगाई का मुद्दा ही पूरी तरह से गूंजा। कांग्रेस ने आरोप लगाया कि केंद्र और राज्य में भाजपा की सरकार आने के बाद से महंगाई चरम पर है। सरकार की ओर से महंगाई के आरोपों को खारिज किए जाने से नाराज कांग्रेस ने सदन से बायकॉट कर दिया। संसदीय कार्यमंत्री मदन कौशिक ने दावा किया कि सरकार ने प्रदेश में महंगाई को पूरी तरह से नियंत्रण में कर रखा है। राज्य में प्रति व्यक्ति आय के मुकाबले देश के दूसरे शहरों के मुकाबले महंगाई का स्तर कम हैै। शुक्रवार को कांग्रेस की ओर से महंगाई के सवाल पर काम रोको प्रस्ताव लाया गया। जिसे विस अयक्ष प्रेमचंद अग्रवाल ने पहले नियम 58 के तहत चर्चा के लिए स्वीकार किया। शून्यकाल में नेता प्रतिपक्ष डॉ इंदिरा हृदयेश, विधायक दल के उपनेता करन माहरा, गोविंद सिंह कुंजवाल, प्रीतम सिंह, ममता राकेश, फुरकान अहमद, हरीश धामी आदि ने कहा कि महंगाई दिन प्रतिदिन बढ़ती ही जा रही है।

 

यह भी पढ़ें: भगवंत मान ने BJP-RSS पर लगाया बड़ा आरोप, दिल्ली हिंसा को बताया इंसानीयत का कत्ल

मंत्री ने कसा तंज...

नेता प्रतिपक्ष इंदिरा हृदयेश ने कहा कि सरकार महंगाई पर नियंत्रण करने का प्रयास भी नहीं कर रही है। सरकारी राशन की दुकानों पर रोजमर्रा की जरूरत की चीजों को रियायती दामों पर उपलब्ध कराया जाना चाहिए। सरकार की ओर से संसदीय कार्यमंत्री मदन कौशिक ने विपक्ष पर तंज कसते हुए जवाब की शुरूआत की। उन्होंने कहा कि सदन में आर्थिक सर्वे पेश हो चुका है। जितनी ताकत कांग्रेस यहां बहस करने में लगा रही है, उसकी आधी भी आर्थिक सर्वे पढ़ने में लगाती तो यह विषय ही नहीं उठाती। महंगाई पर सरकार का पूरा नियंत्रण है। कांग्रेस शासित राज्यों के मुकाबले उत्तराखंड की प्रति व्यक्ति आय भी काफी ज्यादा है जबकि उस अनुपात में महंगाई कम है। राज्य के लाखों लोगों को सरकार रियायती मूल्य पर अनाज मुहैया करा रही है। कौशिक के जवाब पर कांग्रेस ने कड़ी आपत्ति जाहिर की। उन्होंने कहा कि संसदीय कार्यमंत्री विषय को भटका रहे हैं। यह कहते हुए कांग्रेस विधायक सदन से वाक आउट कर गए।

यह भी पढ़ें: Video: एंटी टैंक मिसाइल से Indian Army ने तबाह की पाकिस्तानी चौकियां

उत्तराखंड की ताजा ख़बरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें...

यह भी पढ़ें: एक ऐसा नेता जिसने किसी बहादुर फौजी की तरह विदेश में छाप छोड़ी