सचिन के लाल अर्जुन तेंदुलकर का बड़ा धमाका, घातक बॉलिंग कर टीम को दिलाई बड़ी जीत

|

Updated: 17 Oct 2018, 09:58 PM IST

मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर के बेटे अर्जुन तेंदुलकर भी पिता के नक्शेकदम पर चलते हुए क्रिकेट में बड़ा नाम कमा रहे हैं।

नई दिल्ली। मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर के बेटे अर्जुन तेंदुलकर भी पिता के नक्शेकदम पर चलते हुए क्रिकेट में बड़ा नाम कमा रहे हैं। ये बात और है कि सचिन से इतर अर्जुन का मुख्य हथियार उनकी गेंदबाजी है। अर्जुन एक तेज गेंदबाज बनने के राह पर हैं। जिसकी झलक वो बीच-बीच में दिखा जाते हैं। बुधवार को अर्जुन ने एक बार फिर अपनी गेंदबाजी की धार दिखाई। अर्जुन की सटीक गेंदबाजी का नतीजा यह हुआ कि मुंबई ने असम पर 10 विकेट के अंतर से बड़ी जीत हासिल की।

अर्जुन की घातक गेंदबाजी-
मुंबई और असम के बीच यह मुकाबला खेला गया वीनू मांकड अंडर-19 घेरलू वनडे टूर्नामेंट में। इस मैच में अर्जुन ने न केवल किफायदी गेंदबाजी की बल्कि उन्होंने असम की बल्लेबाजी क्रम को तहस-नहस कर दिया। अर्जुन तेंदुलकर ने असम के खिलाफ 7 ओवर में सिर्फ 14 रन खर्च किए। इस किफायदी गेंदबाजी के साथ ही अर्जुन ने असम के 3 बल्लेबाजों को आउट भी किया।

मात्र 99 रन ढेर हुआ असम-
टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने उतरी असम की बल्लेबाजी काफी लचर रही। अर्जुन ने दानिश अहमद एक के निजी स्कोर पर चलता किया। इसके बाद अपने दूसरे स्पेल में अर्जुन ने ऋषिकेश बोरा (1) और ऋतुराज विश्वास (0) को पवेलियन भेजते हुए असम के बल्लेबाजों पर बड़ा दबाव बना दिया। इस दवाब के कारण असम की पूरी टीम 40.4 ओवर में मात्र 99 रन पर ढेर हो गई। मुंबई की ओर से अर्जुन के अलावा दिव्यांश को दो सफलताएं मिली।

यशस्वी की आकर्षक बल्लेबाजी-
100 रनों के लक्ष्य का पीछा करने उतरी मुंबई की अंडर 19 टीम ने बिना कोई विकेट गंवाए 21.5 ओवर में आसान जीत हासिल कर ली। मुंबई की ओर से सलामी बल्लेबाज यशस्वी जायसवाल ने नाबाद 56 और सुवेद ने नाबाद 41 रनों की पारी खेली। यशस्वी के बारे में बताते चले कि उन्होंने काफी संघर्ष कर ये मुकाम हासिल किया है। तंगी के दिनों में यशस्वी ने मुंबई में गोलगप्पे तक बेचे हैं।

Related Stories