आजाद भारत में टीम इंडिया की और से खेले क्रिकेटर गोपाल शर्मा, जानिए क्यों खो गए गुमनामी के अंधेरे में!

|

Updated: 14 Aug 2021, 08:30 PM IST

उत्तर प्रदेश के खिलाड़ी गोपाल शर्मा आजाद भारत में टीम इंडिया का प्रतिनिधित्व करने वाले पहले खिलाड़ी हैं। लेकिन कुछ समय बाद ही वह गुमनामी के अंधेरे में गुल हो गए।

नई दिल्ली। भारतीय क्रिकेट टीम (Indian Cricket Team) में पहले मुंबई और फिर दिल्ली के खिलाड़ियों का बोलबाला था। बेशक अब कई छोटे शहरों के युवा टीम इंडिया में खेल रहे हैं, लेकिन आजाद भारत में भारतीय क्रिकेट के शुरुआती दल में उत्तर प्रदेश का प्रतिनिधित्व भी होता था। उत्तर प्रदेश से सबसे पहले टीम इंडिया में जगह बनाने खिलाड़ी का नाम गोपला शर्मा (Gopal Sharma) है। आइए जानते हैं इस खिलाड़ी के बारे में।

यह खबर भी पढ़ें:—पाकिस्तानी क्रिकेटर कामरान अकमल ने लिखी इंडिपेंडेंस डे की गलत स्पैलिंग, लोगों ने उड़ाया मजाक, किए ऐसे कमेंट्स

गोपाल का क्रिकेट कॅरियर
गोपाल शर्मा ने टीम इंडिया में ऑफ स्पिनर के तौर पर एंट्री की थी। उन्होंने 5 टेस्ट और 11 वनडे मुकाबले खेले। वह भारत के लिए और भी मुकाबले खेल सकते थे, लेकिन उनकी राह में छह खिलाड़ी खड़े हो गए। इनमें लक्ष्‍मण शिवरामक्रष्‍णन, मनिंदर सिंह, अरशद अयूब, शिवलाल यादव, रवि शास्‍त्री और नरेंद्र हिरवानी शामिल थे। इन दिग्गज खिलाड़ियों के चलते गोपाल शर्मा के लिए टीम इंडिया में अपनी जगह पक्की करना आसान नहीं था। गोपाल आजाद भारत में टीम इंडिया के लिए खेलने वाले पहले क्रिकेटर थे। उनसे पहले 1936 में उत्तर प्रदेश का प्रतिनिधित्व महाराज कुमार ऑफ विजयनगरम ने किया था। 1984-85 की घरेलू सीरीज में इंग्‍लैंड के खिलाफ उन्‍होंने टेस्‍ट डेब्‍यू किया।

टेस्ट और वनडे में गजब का संयोग
गोपाल शर्मा ने टीम इंडिया के लिए 5 टेस्ट मैचों में हिस्सा लिया। इनमें उन्होंने 10 विकेट हासिल किए। वहीं 11 वनडे में भी उन्होंने 10 विकेट लिए। गोपाल का वनडे और टेस्ट में गजब संयोग ये रहा कि उन्होंने दोनों 5 वनडे और 11 टेस्ट दोनों में 11—11 रन बनाए और 10—10 विकेट हासिल किए। यानी अंतरराष्‍ट्रीय क्रिकेट में उन्‍होंने टेस्‍ट और वनडे में एक समान रन बनाए और एक समान ही विकेट लिए।

यह खबर भी पढ़ें:—धोनी और रैना ने 15 अगस्त को लिया था संन्यास, जानिए कैप्टन कूल के 5 खास लम्हे

प्रथम श्रेणी क्रिकेट में लगाए दो शतक
गोपाल ने 104 प्रथम श्रेणी में 22.11 की औसत से 2309 रन बनाए। इसमें दो शतक और 11 अर्धशतक शामिल रहे। वहीं प्रथम श्रेणी क्रिकेट में उनके खाते में 353 विकेट दर्ज हैं। उन्होंने 44 लिस्ट ए मैच भी खेले। इसमें 157 रन बनाने के अलावा उन्होंने विरोधी टीम के 45 बल्लेबाजों को आउट भी किया। दिग्गज खिलाड़ियों की कतार होने के चलते गोपाल शर्मा का क्रिकेट कॅरियर ज्यादा नहीं चल सका। वह कुछ समय बाद गुमनाम हो गए।