सुरेश रैना ने दिया जवाब, धोनी की मेहरबानी से नहीं बल्कि अपनी काबिलियत की वजह से टीम में रहा

|

Updated: 11 Jun 2021, 04:07 PM IST

पिछले साल अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट को अलविदा कहने वाले क्रिकेटर सुरेश रैना ने अपनी किताब 'बिलीव' में किया कई बातों का खंडन।

 

 

 

नई दिल्ली। टीम इंडिया के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी (MS Dhoni) और सुरेश रैना (Suresh Raina) के बीच काफी अच्छी दोस्ती है। दोनों ने लंबे समय तक साथ में क्रिकेट खेला है। इन दोनों के क्रिकेट कॅरियर की खास बात यह रही है कि दोनों ने एक ही दिन पिछले साल 15 अगस्त को रिटायरमेंट की घोषणा की थी। कई बार रैना को लेकर ये सवाल उठ चुके हैं कि वह धोनी से दोस्ती के चलते ही खराब प्रदर्शन के बावजूद टीम में बने रहे थे। अब रैना ने अपनी किताब 'बिलीव' में इन सभी सवालों का खुलकर जवाब दिया है।

यह भी पढ़ें—भारत के मुकाबले पाकिस्तानी क्रिकेटर्स को मिलती हैं इतनी कम सैलरी

धोनी नहीं, काबिलियत के कारण टीम में रहा
रैना ने इस बात का खंडन किया करते हुए लिखा, 'कहा जाता है कि मुझे धोनी की वजह से टीम इंडिया में मौके मिले हैं, लेकिन मैं आपसे कहना चाहता हूं कि मैं अपनी काबिलियत की वजह से भारतीय टीम का हिस्सा रहा था। बहुत दुख होता है जब लोग हमारी दोस्ती को मेरी टीम इंडिया में जगह की वजह बताते हैं।'

धोनी, मुझसे बेस्ट प्रदर्शन करवाना जानते हैं
रैना ने लिखा, 'धोनी जानते थे कि मुझसे बेस्ट प्रदर्शन कैसे करवाया जा सकता है और मैंने उन पर भरोसा किया। मैंने हमेशा टीम इंडिया में अपनी जगह अपने खेल के दम पर बनाई है ठीक वैसे ही जैसे मैंने माही का भरोसा और सम्मान हासिल किया है।'

यह भी पढ़ें—श्रीलंका दौरे पर IPL-14 में अच्छा प्रदर्शन करने वाले 5 खिलाड़ियों को मिला मौका, धवन को कमान

रैना का क्रिकेट कॅरियर
रैना ने टीम इंडिया के लिए 226 वनडे मैच खेले हैं, जिसमें उन्होंने 35.31 की औसत से 5615 रन बनाए। इसके अलावा 78 टी20 मैचों में उन्होंने 29.16 की औसत से 1604 रन बनाए हैं। हालांकि, रैना का टेस्ट कॅरियर इतना लंबा नहीं रहा। लेकिन उन्होंने अपने पहले ही टेस्ट में शतक लगाया था। आईपीएल में सुरेश मोस्ट सक्सेफुल खिलाड़ियों में से एक हैं। वह धोनी की कप्तानी वाली टीम चेन्नई सुपर किंग्स के लिए खेलते हैं।