कोरोना की लड़ाई में अहम योगदान देने वाले क्रिकेटर की पत्नी हुई हादसे का शिकार, फटा सिलेंडर

|

Updated: 30 Mar 2020, 04:00 PM IST

Liton Das की शादी के अभी एक साल भी नहीं हुए हैं। उन्होंने पिछले साल विश्व कप के बाद देवश्री बिस्वास संचिता से शादी की है।

नई दिल्‍ली : बांग्‍लादेश क्रिकेट टीम (Bangladesh Cricket Team) के बल्‍लेबाज लिटन दास (Liton Das) की पत्‍नी देवश्री बिस्‍वास संचिता एक बड़ी दुर्घटना का शिकार हो गईं। मिली खबर के मुताबिक वह घर पर चाय बना रही थीं, इसी दौरान गैस सिलेंडर फट गया। इस हादसे में उनका हाथ बुरी तरह जल गया है।

खतरनाक था विस्फोट

परिवार वालों ने बताया कि सिलेंडर में एक छेद था। इस कारण विस्‍फोट हो गया। जब सिलेंडर फटा तो संचिता ने किसी तरह अपना चेहरा तो बचा लिया, पर इस हादसे में उनका हाथ बुरी तरह जल गया। इसके अलावा आग के भभूके में उनका बाल भी जल गया। इतना ही नहीं, विस्‍फोट के कारण रसोई में बने कैबिनेट का एक हिस्‍सा भी संचिता पर गिर गया। इससे उनके शरीर पर गहरी चोट आई है। यह हादसा 27 मार्च को हुआ था। हालांकि मीडिया को इसकी जानकारी आज लगी है।

Coronavirus : लॉकडाउन में भी वकार की पत्नी घर से निकल बचा रही हैं मरीजों की जान, दुनिया कर रही सलाम

संचिता बोलीं, मौत सामने खड़ी थी

इस बारे में जानकारी देते हुए संचिता ने बताया कि उस वक्त उन पर क्या बीत रही थी, वह सही-सही नहीं बता सकतीं। उनके लिए यह किसी भी तरह से आसान नहीं था। बस इतना कह सकती हैं कि मौत सामने खड़ी थी। उन्होंने काफी करीब से अपनी मौत को देखा। अगर उन्होंने अपने हाथों से चेहरे को कवर नहीं किया होता तो शायद पूरा चेहरा ही जल गया होता। जलने के बाद उन्‍होंने अपने बाल कटवा लिए हैं। संचिता ने बताया कि वह नहीं जानती कि आग उनके चेहरे तक पहुंच जाती तो क्‍या होता।

शादी के अभी एक साल भी नहीं हुए

बता दें कि लिटन दास की शादी के अभी एक साल भी नहीं हुए। पिछले साल अप्रैल में उन्होंने संचिता ने सगाई थी और विश्व कप खत्म होने के बाद इन दोनों ने शादी की थी।

मुख्य कोच रवि शास्त्री ने किया खुलासा, वह नहीं हैं टीम इंडिया के बॉस

कोरोना की लड़ाई में दे रहे हैं अहम योगदान

लिटन दास बांग्लादेश के उन चुनिंदा क्रिकेटरों में से एक हैं, जो कोरोना वायरस जैसी खतरनाक महामारी के खिलाफ लड़ाई में जबरदस्त योगदान दे रहे हैं। वह उन 26 खिलाड़ियों में शामिल हैं, जिन्होंने अपनी आधी सेलरी दान कर दी है। इसके अलावा मुहिम चलाकर उन्होंने 26 लाख टका जुटाए भी हैं।