ब्रिसबेन टेस्ट में रोहित शर्मा ने रचा इतिहास, एक टेस्ट मैच में ऐसा रिकॉर्ड बनाने वाले बने इकलौते भारतीय

|

Updated: 19 Jan 2021, 11:25 AM IST

-रोहित शर्मा ने ब्रिसबेन टेस्ट मैच में 5 कैच लपकर अपने नाम किया एक अनोखा रिकॉर्ड।
-न्यूजीलैंड के स्टीफन फ्लेमिंग के नाम है एक टेस्ट मैच में सबसे ज्यादा 6 कैच लपकने का रिकॉर्ड।
-रोहित शर्मा एक टेस्ट मैच में सबसे ज्यादा कैच लपकने वाले भारतीयों की एलीट लिस्ट में हुए शामिल।

नई दिल्ली। टीम इंडिया के हिटमैन रोहित शर्मा ( Rohit Shatma) भले ही चौथे टेस्ट मैच की दूसरी पारी में 7 रन बनाकर पवेलियन लौट गए, लेकिन उन्होंने ब्रिसबेन (brisbane test ) में खेले जा रहे इस टेस्ट मैच में अपने नाम एक अनोखा रिकॉर्ड कर लिया है। यह रिकॉर्ड उन्होंने बल्लेबाजी में नहीं बल्कि फील्डिंग में अपने नाम किया है। दरअसल, ब्रिसबेन टेस्ट में रोहित शर्मा ने अपने नाम 5 कैच किए। उन्होंने ऑस्ट्रेलिया की पहली पारी में 3 कैच ओर दूसरी में 2 कैच लपके। इसी के साथ रोहित शर्मा ब्रिसबेन में एक टेस्ट मैच में सबसे ज्यादा कैच लपकने वाले भारतीय खिलाड़ी बन गए हैं।

 

स्टीफन फ्लेमिंग के नाम है रिकॉर्ड
इससे पहले ब्रिसबेन में सबसे ज्यादा कैच लपकने का रिकॉर्ड न्यूजीलैंड के स्टीफन फ्लेमिंग के नाम है। फ्लेमिंग ने ब्रिसबेन में खेले गए एक टेस्ट मैच में 6 कैच लपके थे। साल 1997 में ब्रिसबेन टेस्ट मैच के दौरान फ्लेमिंग ने यह चमत्कार बतौर फील्डर किया था। इसके साथ-साथ ऑस्ट्रेलिया के सैम लोक्सटन ने 1950 में इंग्लैंड के खिलाफ ब्रिसबेन टेस्ट के दौरान 5 कैच लपके थे। ऑस्ट्रेलिया के मार्क टेलर ने न्यूजीलैंड के खिलाफ इस मैदान पर 5 कैच लेने का रिकॉर्ड बनाया था।

IND vs AUS Brisbane Test Day 5 : शुभमन गिल ने जड़ा शानदार अर्धशतक, टीम इंडिया को जीत के लिए 245 रनों की दरकार

भारतीयों की एलीट लिस्ट में शामिल हुए रोहित
रोहित ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ एक मैच में सबसे ज्यादा कैच लेने वाले भारतीयों की एलीट लिस्ट में भी शामिल हो गए हैं। एकनाथ सोल्कर, क्रिस श्रीकांत और राहुल द्रविड़ ऐसे भारतीय खिलाड़़ी रहे हैं जो ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ एक टेस्ट मैच के दौरान 5.5 कैच लिए हैं। एकनाथ सोल्कर ने 1969-70 में चेन्नई टेस्ट मैच के दौरान 5 कैच लपके थे। श्रीकांत ने 1991-92 में पर्थ टेस्ट में 5 कैच लिए थे। राहुल द्रविड़ ने यह कारनामा 1997-98 में चेन्नई टेस्ट मैच के दौरान किया था।

घरेलू क्रिकेट में कड़ी मेहनत का नतीजा है शार्दु्ल की सफलता : ट्रेनर

सिराज और शार्दुल ने दिखाया दम
गौरतलब है कि ब्रिसबेन टेस्ट मैच के चौथे दिन अनुभवहिन भारतीय गेंदबाजों के सामने ऑस्ट्रेलिया के धुंरधर घुटने टेके नजर आए। ऑस्ट्रेलिया ने भारत के सामने जीत के लिए 328 रना का लक्ष्य रखा। दूसरी पारी में ऑस्ट्रेलिया की पूरी टीम 294 रनों पर ऑल आउट हो गई। भारत की और मोहम्मद सिराज ने सबसे ज्यादा 5 विकेट और शार्दुल ठाकुर ने 4 विकेट चटकाए। वॉशिंगटन सुंदर के खाते में एक विकेट गया।

सिराज के रिकॉर्ड तोड़ प्रदर्शन पर सहवाग, सचिन और लक्ष्मण ने ऐसी की तारीफ, यकीन नहीं होगा