ब्रिस्बेन टेस्ट : भारत ने 2 विकेट खोकर बनाए 62 रन, बारिश ने धोया तीसरा सत्र, दूसरे दिन का खेल खत्म

|

Published: 16 Jan 2021, 04:11 PM IST

-दूसरे दिन का तीसरा सत्र बारिश के कारण धुला। भारत ने पहली पारी में 2 विकेट खोकर बनाए 62 रन।
-44 रन बनाने के बाद गलत शॉट पर आउट रोहित शर्मा। लड़खड़ाते हुए गए मैदान से बाहर।
-ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ पहली पारी में शार्दुल ठाकुर, वॉशिंगटन सुंदर और टी. नटराजन ने चटकाए तीन-तीन विकेट।

नई दिल्ली। भारत और ऑस्ट्रेलिया ( India vs Australia) की क्रिकेट टीमों के बीच यहां के गाबा इंटरनेशनल स्टेडियम में जारी चौथे टेस्ट मैच के दूसरे दिन शनिवार को बारिश के कारण तीसरे सत्र में एक भी ओवर नहीं फेंका जा सका और स्टम्प्स की घोषणा कर दी गई। मेजबान टीम को 369 रनों पर समेटने के बाद टी टाइम तक भारत अपनी पहली पारी में दोनों ओपनरों के विकेट गंवाकर 62 रन बना लिए थे। इसके बाद का खेल सम्भव नहीं हो सका क्योंकि बारिश लगातार जारी रही। दिन के अंतिम पहर में बारिश छूटी लेकिन मैदान खेल के लायक नहीं रहा। बाकी के तीन दिनों में भी बारिश की आशंका जताई गई है। आज की नुकसान की भरपाई के लिए शेष तीन दिन का खेल निर्धारित समय से आधे घंटे पहले शुरू होगा।

Cricketer हार्दिक पांड्या के पिता का निधन, कुणाल भी बीच में टूर्नामेंट छोड़ घर लौटे

रहाणे और पुजारा क्रीज पर
बहरहाल, मेजबान ऑस्ट्रेलिया ने पहली पारी में 369 रन बनाए थे। इस लिहाज से भारतीय टीम 307 रन पीछे है। टी टाइम तक कप्तान अजिंक्य रहाणे (Ajinkya Rahane) ने दो और चेतेश्वर पुजारा (Cheteshwar Pujara) ने आठ रन बनाए थे। भारत ने 26 ओवरों की सामना किया है। भारत ने मात्र 11 रनों पर शुभमन गिल ( Shubhman Gill) 7 का विकेट गंवा दिया था। गिल को पैट कमिंस ने आउट किया। इसके बाद रोहित शर्मा (Rohit Sharma) 44 ने पुजारा के साथ मिलकर 49 रन जोड़े।

India vs Australia 4th Test : ऑस्ट्रेलिया ने बनाए 369, टीम इंडिया को लगा पहला झटका शुभमन गिल आउट

रोहित शर्मा को लगी चोट
60 के कुल योग पर रोहित अपना 100वां टेस्ट खेल रहे नेथन लॉयन की गेंद पर मिशेल स्टार्क द्वारा कैच कर लिए गए। रोहित ने 74 गेंदों का सामना कर 6 चौके लगाए। रोहित लंगड़ाते हुए मैदान से बाहर गए जो चोटों से जूझ रही भारतीय टीम के लिए चिंता का सबब हो सकता है। हालांकि, अभी रोहित शर्मा की चोट कितनी गंभीर या नहीं है। इसको लेकर कोई आधिकारिक घोषणा नहीं की गई है। इससे पहले, अनुभवहीन भारतीय गेंदबा100 के योग पर आउट हुए रोहित शर्माजों ने ऑस्ट्रेलिया की पहली पारी 369 रनों पर समेट दी। ऑस्ट्रेलियाई पारी की समाप्ति के साथ लंच घोषित कर दिया गया था।

Brisbane Test : ऑस्ट्रेलिया की टीम 369 रन पर ऑलआउट, सुंदर और नटराजन ने चटकाए 3-3 विकेट

नटराजन ने हेजलवुड को आउट कर ऑस्ट्रेलियाई पारी को समेटा
दूसरे दिन पेन ने अपना अर्धशतक पूरा किया और ऑस्ट्रेलिया ने 300 का स्कोर भी छुआ। पेन हालांकि 311 के कुल योग पर आउट हो गए। पेन को शार्दूल ठाकुर ने रोहित शर्मा के हाथों कैच कराया। पेन ने 104 गेंदों का सामना कर छह चौके लगाए। पेन और ग्रीन के बीच 98 रनों की साझेदारी हुई। पेन की विदाई के तुरंत बाद 313 के कुल योग पर ग्रीन भी आउट हो गए। ग्रीन ने 107 गेंदों पर छह चौके लगाए। इसके बाद 315 के कुल योग पर पैट कमिंस 2 भी आउट हो गए। इसके बाद हालांकि अपना 100वां टेस्ट खेल रहे नेथन लॉयन 24 और मिशेल स्टार्क नाबाद 20 के बीच 40 गेंदों पर 39 रनों की उपयोगी साझेदारी हुई। लॉयन 354 के कुल योग पर पवेलियन लौटे। जोस हेजलवुड 11 को 369 के कुल योग पर अपना पहला टेस्ट खेल रहे टी. नटराजन ने तीसरा शिकार बनाया।

नटराजन, ठाकुर और वॉशिंगटन ने चटकाए 3-3 विकेट
भारत की ओर से अपना पहला टेस्ट खेल रहे नटराजन और वॉशिंगटन सुंदर के अलावा ठाकुर ने तीन-तीन विकेट लिए जबकि मोहम्मद सिराज तो एक सफलता मिली। टी. नटराजन डेब्यू मैच में विकेट लेने के मामले में भारत के दूसरे सबसे सफल लेफ्ट आर्म पेसर बन गए हैं। भारत के लिए डेब्यू मैच में सबसे अच्छा प्रदर्शन करने वाला लेफ्ट आर्म पेसर होने का रिकार्ड रुद्र प्रताप सिंह के नाम है, जिन्होंने 2005-06 में फैसलाबाद में पाकिस्तान के खिलाफ 89 रन देकर 4 विकेट लिए थे। आरपी सिंह ने 1952-53 सीजन में लखनऊ में पाकिस्तान के खिलाफ डेब्यू करते हुए 97 रन देकर तीन विकेट लेने वाले एसएस नयालचंद के रिकार्ड को पीछे छोड़ा था। अब नटराजन भी नयालचंद से आगे निकल गए हैं।

सीरीज में दोनों टीमें 1-1 की बराबरी पर
चार मैचों की सीरीज में दोनों टीमें 1-1 की बराबरी पर हैं। ऑस्ट्रेलिया ने एडिलेड में खेले गए डे-नाइट टेस्ट में 8 विकेट से जीत हासिल की थी। जवाब में भारत ने मेलबर्न टेस्ट में शानदार वापसी करते हुए 8 विकेट की शानदार जीत हासिल कर 1-1 की बराबरी कर ली थी। लगा था कि सिडनी टेस्ट जीतकर कोई टीम लीड ले लेगी। पांच दिनों तक चले इस मुकाबले में मेजबान टीम जीत की स्थिति में दिख रही थी, लेकिन भारत ने कई खिलाड़ियों की चोट के बावजूद शानदार खेल दिखाते हुई मैच ड्रॉ करा लिया था।