IND vs WI : रोमांचक मुकाबले में भारत ने विंडीज को हराया, 2-1 से सीरीज पर किया कब्जा

|

Updated: 23 Dec 2019, 08:22 AM IST

रोहित शर्मा, केएल राहुल और कप्तान विराट कोहली की अर्धशतकीय पारी की बदौलत भारत ने आखिरी वनडे मैच में विंडीज को हराया। यह भारत की 10वीं वनडे सीरीज जीत है।

कटक। बाराबाती स्टेडियम में खेले जा रहे सीरीज के अंतिम और निर्णायक वनडे मैच में विंडीज ने जब निर्धारित 50 ओवर में पांच विकेट के नुकसान पर 315 रनों का स्कोर खड़ा किया तो यह तय हो गया था कि मुकाबला भारत के लिए आसान नहीं होने जा रहा है। यह कांटे का मुकाबला भारत के पक्ष में रहा। टीम इंडिया ने विंडीज से मिले 316 रनों के लक्ष्य को छह विकेट खोकर हासिल कर लिया। भारत ने जब यह जीत हासिल की तब अभी आठ गेंद और फेंके जाने थे।

शार्दुल ठाकुर ने दिखाई दिलेरी

टीम इंडिया को एक बार फिर रोहित शर्मा (63) और केएल राहुल (77) ने शानदार शुरुआत दिलाई। इन दोनों ने महज 21.2 ओवर में 122 रन जोड़ दिए। इसी स्कोर पर रोहित शर्मा आउट होकर पैवेलियन लौट गए। इसके बाद लोकेश ने कप्तान विराट कोहली (85) के साथ अर्धशतकीय साझेदारी कर भारत को मजबूत स्थिति में पहुंचा दिया। 167 के स्कोर पर राहुल आउट होकर पैवेलियन लौट गए। इसके बाद श्रेयस अय्यर, ऋषभ पंत और केदार जाधव जल्दी-जल्दी आउट हो गए तो लगा कि इस मैच में विंडीज का पलड़ा भारी हो गया है। टीम इंडिया 38.5 ओवर में 228 रन पर पांच विकेट खोकर संघर्ष कर रहा था। यहां से रविंद्र जडेजा (39 नाबाद) ने कप्तान विराट कोहली के साथ अर्धशतकीय साझेदारी निभाकर भारत को एक बार फिर मजबूत स्थिति में ला दिया था कि 288 स्कोर पर भारत का छठा विकेट कप्तान के रूप में गिरा। अब भी भारत को 23 गेंद पर 30 रन बनाने थे, लेकिन दूसरे छोर से जडेजा का साथ कोई स्थापित बल्लेबाज नहीं था। लेकिन मैदान में आए शार्दुल ठाकुर ने किसी स्थापित बल्लेबाज की तरह खेलते हुए जडेजा के साथ मिलकर टीम इंडिया को जीत दिला दी।

विंडीज के सभी बल्लेबाजों ने दिया योगदान

विंडीज की शुरुआत अच्छी रही। ईविन लुइस (21) और शाई होप (42) ने उसे अच्छी शुरुआत दिलाई। इसके बाद शिमरॉन हेटमायर (37) और रोस्टन चेज (38) ने भी उपयोगी पारी खेली। फिर निकोलस पूरन (89) और कीरोन पोलार्ड (नाबाद 74) की तेज अर्धशतकीय पारी की बदौलत विंडीज ने निर्धारित 50 ओवर में 300 से भी अधिक का लक्ष्य रखकर यह तय किया की भारत के लिए लक्ष्य आसान नहीं रहे। पूरन ने 64 गेंदों की पारी में 10 चौके और तीन छक्के लगाए। वहीं पोलार्ड ने 51 गेंद की पारी में तीन चौके और सात छक्के जड़ दिए।

13 साल का रिकॉर्ड बरकरार रखना चाहेगा भारत

सीरीज के निर्णायक मैच में टीम इंडिया की तरफ से तेज गेंदबाज नवदीप सैनी ने वनडे डेब्यू किया। उन्हें दीपक चाहर की जगह टीम में शामिल किया गया है। चाहर दूसरे वनडे मैच के दौरान चोटिल हो गए थे।

इस सीरीज में दोनों टीमें 1-1 की बराबरी पर हैं। विशाखापत्तनम में हुए पिछले वनडे में टीम इंडिया ने शानदार जीत दर्ज की थी। वहीं वेस्टइंडीज ने चेन्नई में खेले गए पहले वनडे में भारत को 8 विकेट से हरा दिया था। आज का मुकाबला कटक के बाराबाती स्टेडियम में हो रहा है। इस मुकाबले को जीतकर भारत अपने 13 साल के सिलसिले को बरकरार रखना चाहेगा। बता दें कि विंडीज की टीम बीते 13 सालों में भारत से कोई भी द्विपक्षीय एकदिवसीय सीरीज नहीं जीत सकी है।

दोनों टीमें

भारत : रोहित शर्मा, केएल राहुल, विराट कोहली (कप्तान), श्रेयस अय्यर, ऋषभ पंत (विकेटकीपर), केदार जाधव, रविंद्र जडेजा, मोहम्मद शमी, शार्दुल ठाकुर, नवदीप सैनी और कुलदीप यादव।

वेस्टइंडीज : शाई होप (विकेटकीपर), ईविन लुइस, शिमरोन हेटमायर, निकोलस पूरन, रोस्टन चेस, किरोन पोलार्ड (कप्तान), जेसन होल्डर, कीमो पॉल, अल्जारी जोसेफ, शेल्डन कॉटरेल और खारी पियरे।