IPL के इतिहास में पहली बार फाइनल तक पहुंची Delhi Capitals, जानें 13 वर्षों का सफर

|

Published: 09 Nov 2020, 10:05 AM IST

  • IPL 2020 में दिल्ली ने हैदराबाद को हराकर पहली बार फाइनल में बनाई जगह
  • वीरेंद्र सहवाग से लेकर डेविड वॉर्नर तक अनुभवी कप्तान भी फाइनल तक पहुंचाने में रहे नाकाम
  • श्रेयस अय्यर को भी लग गए तीन वर्ष

नई दिल्ली। कोरोना काल के बीच खेला गया आईपीएल ( IPL 2020 ) का 13वां सीजन दिल्ली कैपिटल्स ( Delhi Capitals ) के लिए यादगार बन गया है। हैदराबाद सनराइजर्स को हराकर दिल्ली ने आईपीएल के इतिहास में पहली बार फाइनल तक पहुंचने में कामयाबी हासिल कर ली। इस जीत के साथ ही श्रेयस के रणबांकुरों ने उस चक्रव्यूह को भी भेद दिया है, जिससे पिछले 12 सीजन से टीम जूझ रही थी।

फाइनल तक पहुंचा दिल्ली के लिए इतना आसान नहीं रहा है। विस्फोटक बल्लेबाज वीरेंद्र सहवाग की कप्तान से शुरू हुए दिल्ली के आईपीएल सफर में फाइनल तक पहुंचना एक चुनौती ही बन गया। गौतम गंभीर से लेकर डेविड वॉर्नर तक इस फाइनल तक पहुंचने के तिलिस्म को भेद नहीं पाए। आईए जानते हैं आईपीएल में दिल्ली का अब तक का कैसा रहा सफर।

जब तेजस्वी यादव को शादी के लिए मिले थे 40 हजार से ज्यादा प्रपोजल, जानें किस आईपीएल टीम के लिए चार वर्ष तक खेले

अनुभवी कप्तान भी रहे नाकाम

दिल्ली ने अपने आईपीएल सफर की शुरुआत वीरेंद्र सहवाग की कप्तानी से की। वीरू ने बल्लेबाजी में तो दिल्ली को बेहतरीन जगह दिलाई, लेकिन फाइनल तक पहुंचाने में कामयाब नहीं रहे।

वहीं गौतम गंभीर भी बतौर कप्तान टीम को फाइनल तक पहुंचाने में असफल रहे। इसके बाद भी टीम को एक से बढ़कर एक अनुभवी कप्तान मिले, लेकिन एक भी टीम को सेमीफाइनल से आगे नहीं ले जा पाया। पहले वर्ष जहां टीम को चौथे स्थान पर संतुष्ट रहना पड़ा वहीं दूसरे साल टीम ने प्रदर्शन सुधारा और तीसरे नंबर पर जगह सुनिश्चित की।

आईपीएल में दिल्ली का सफर वर्ष रैंक

कप्तान

2008 4

वीरेंद्र सहवाग

2009 3 गौतम गंभीर 2010 5 दिनेश कार्तिक 2011 10 जेम्स होप्स 2012 3 महेला जयवर्धने 2013 9 रॉस टेलर 2014 8 डेविड वॉर्नर 2015 7 केविन पीटरसन 2016 6 जेपी ड्यूमिनी 2017 6 जहीर खान 2018 8 श्रेयस अय्यर 2019 3 श्रेयस अय्यर 2020 फाइनल श्रेयस अय्यर

मौसम को लेकर आई बड़ी खबर, देश के इन राज्यों में बारिश के बीच उत्तर भारत में लुढ़का पारा

श्रेयस को भी लगे तीन वर्ष
अनुभवी कप्तानों के बीच युवा खिलाड़ी श्रेयस अय्यर को जब दिल्ली की कप्तानी मिली तो उनके सामने सबसे बड़ी चुनौती थी टीम में संतुलन और फाइनल तक पहुंचे का लक्ष्य। हालांकि इस तक पहुंचने के लिए भी उन्हें तीन सीजन लग गए। तीसरे सीजन में टीम ने कोच रिकी पोंटिंग के नेतृत्व में बेहतरीन प्रदर्शन किया और फाइनल तक पहुंचने के लक्ष्य में कामयाब रहे।