Latest News in Hindi

MP Elections 2018 जिस बूथ पर मिले थे भाजपा को सर्वाधिक वोट, पांच साल बाद भी सुविधाओं का टोटा

By Rafi Ahamad Siddiqui

Sep, 12 2018 12:56:42 (IST)

जहां थे सरताज, वहां क्या आज विधानसभा क्षेत्र- छतरपुर

 

छतरपुर। शहर के 40 वार्डो में सबसे बड़ा वार्ड है एक नंबर। नारायणपुरा मार्ग से शुरू हुआ यह वार्ड नौगांव रोड तक फैला है। बस स्टैंड क्षेत्र का एक बड़ा हिस्सा इसी वार्ड में आता है। मोटर मैकेनिक वर्कशॉप, वाहनों के शोरूम से लेकर होटल और कई व्यापारिक प्रतिष्ठान भी इसी वार्ड का हिस्सा है। पिछले पास साल में इस इलाके में मुख्य सड़क वाला हिस्सा औद्योगिक रूप से विकसित हुआ है। करीब ५ हजार की आबादी वाले इस वार्ड में किसी एक जाति का बाहुल्य नहीं है। हर वर्ग के लोग यहां के वोटर हैं। अधिकांश परिवार ऐसे हैं जो बाहर से आकर यहां बसे हैं।
विधानसभा चुनाव के परिपेक्ष्य में इस इलाके को देखें तो यह वही वार्ड क्रमांक एक है, जहां के बूथ नंबर ९४ पर मौजूदा भाजपा विधायक एवं राज्यमंत्री ललिता यादव को पूरे विधानसभा क्षेत्र में किसी भी एक बूथ के सर्वाधिक 678 वोट मिले थे। इस वार्ड के नारायणपुरा मार्ग की मुख्य सड़क पर कई जगह से क्षतिग्रस्त सड़क और नालियों का गंदा पानी सड़क पर बह रहा था। पूछने पर पास के ही किनारा दुकानदार सोनू गुप्ता ने बताया कि पिछले पांच सालों से यही हाल है। वार्ड की मुख्य सड़क तो बन गई, लेकिन नालियों की सफाई, जल भराव की मुसीबत से आज तक निजात नहीं मिली। वार्ड में पेयजल के लिए पाइप लाइन भी नहीं डाली गई। इसी वार्ड के वृंदावनपुरम में रहने वाले हजारीलाल चौरसिया का कहना था कि मुख्य सड़क पर कभी भी झाडू नहीं लगती, सफाईकर्मी आते ही नहीं। स्ट्रीट लाइट कभी नहीं जलती, रात को अंधेरा रहने से कई बार लूट की वारदातें तक हो चुकी हैं। जलसंकट भी गर्मियों के दिनों में रहता है। जब उनसे पूछा गया कि कभी अपने पार्षद या विधायक को बताया, तो उनका कहना था कि जैसे वोट लेने आते थे, वैसे ही यहां के लोगों की हालत देखने के लिए भी उन्हें आना चाहिए। यहां के लोग अपनी पार्षद से नाराज दिखे। जबकि पार्षद द्रोपदी कुशवाहा कहती हैं कि हर दो दिन में उनके वार्ड में सफाई होती है। कर्मचारियों का ड्यूटी रजिस्टर वे खुद देखती हैं। वार्ड में पेयजल के लिए पाइप लाइन डाली जा रही है।
इस क्षेत्र में राजनीति के जानकारों का कहना है कि इस बार मतदाताओं की संख्या बढ़ी है, समस्याएं अगर यथावत रहीं और चेहरा भी वही रहा तो यहां की वोटिंग का शगल प्रभावित होगा। देखने वाली बात यह होगी कि पांच साल पुरानी समस्याओं और जनता की अपेक्षाएं पूरी नहीं होने के कारण भाजपा अपना वोट बैंक कितना बरकरार रख पाती है और कांग्रेस इसे कितना बदल पाती है। इसी वार्ड में रहने वाले द्वारिका सोनी कहते हैं कि भाजपा का थोक वोट बैंक यहां पर है, इसलिए व्यक्ति से नाराजगी होने के बाद भी लोग भाजपा को ही विकल्प के रूप में चुनते आए हैं।
फोटो : सीएचपी ११०९१८-०३ केप्शन : सोनू गुप्ता, किराना व्यापारी
०४ केप्शन : हजारीलाल चौरसिया
०५,०६,०७,०८ केप्शन : वार्ड नंबर एक के नारायणपुरा रोड पर क्षतिग्रस्त सड़क और सड़क पर फैला नाली का पानी।

कांग्रेस को सबसे ज्यादा वोट देने वाले पोलिंग बूथ के वार्ड में सुधरी हालत
गल्लामंडी क्षेत्र पुराने शहर का हिस्सा है। इसी इलाके में 6 नंबर वार्ड है। यहां से भाजपा की पार्षद स्वाती सोनू गुप्ता हैं। लेकिन विधानसभा चुनाव में इस वार्ड के बूथ नंबर ११३ से सबसे ज्यादा ७२८ वोट कांग्रेस को मिले थे। यहां मुस्लिम आबादी का भी एक बड़ा हिस्सा रहता है। कई सालों बाद गैर मुस्लिम प्रत्याशी ने कांग्रेस के कब्जे से इस वार्ड को छीन लिया। वार्ड की मूलभूत सुविधाओं के लिए यहां काम हुआ है। पानी के लिए अलग से स्थाई और वैकल्पिक व्यवस्था हुई है। पीएम आवास योजना से इस वार्ड के सबसे ज्यादा हितग्राही जोड़े गए। लेकिन इस वार्ड से निकले बड़े नाला की दुर्गंध और घरों में बारिश के समय नाले का पानी भरने की समस्या से लोग अब भी मुक्त नहीं हो पाए हैं। वार्ड की महिला चंदनबाई अहिरवार ने बताया कि सालों से नाला की सफाई नहीं हुई। नाला पर अतिक्रमण है। शौचालय के पाइप भी लोग उसमें डाले हैं। ऐसे में दुर्गंध के कारण यहां रहना मुश्किल है। बारिश होती है तो नाला उफान पर आ जाता है और घरोंं में पानी भर जाता है। गौरीशंकर अहिरवार कहते हैं कि नाला के ढाकने के लिए सभी लोगों से कह चुके हैं, लेकिन कोई नहीं सुन रहा। पार्षद स्वाती सोनू गुप्ता कहती हैं कि वार्ड में गंदगी की समस्या दूर करने सुलभ शौचालय की निशुल्क व्यवस्था कराई। पेयजल के लिए दो बड़ी टंकियां रखवाई और पाइप लाइन भी डलवाई गई है। पीएम आवास योजना का लाभ 70 से अधिक परिवारों को दिलवाया है। नाला की समस्या का भी समाधान होगा।
हर क्षेत्र में विकास कार्य हुए हैं :
भाजपा की सरकारी बनने के बाद से शहर के हर वार्ड से लेकर पूरे क्ष्ेात्र में विकास कार्य बिना भेदभाव के हुए हैं। क्षेत्र की जनता को अच्छी शिक्षा, अच्छी स्वास्थ्य सेवाएं और रोजगार उपलब्ध हो सके, इस दिशा में बड़े कदम उठाए गए हैं। छतरपुर में विश्वविद्यालय की स्थापना, वाइपास रोड, मेडिकल कॉलेज की स्थापना से लेकर कई बड़े प्रोजेक्टों पर काम किया गया है। जिसका लाभ किसी एक वार्ड व्यक्ति या किसी पार्टी के व्यक्ति को नहीं, बल्कि हर क्षेत्रवासी को मिलेगा। मूलभूत सुविधाएं उपलब्ध कराने के लिए हमारी नगरपालिका लगातार काम कर रही है।
- ललिता यादव, विधायक एवं राज्यमंत्री छतरपुर

जनता के साथ धोका और छलावा हुआ है :
भाजपा ने पिछले चुनाव में इस क्षेत्र की जनता से जिन वादों और विकास के नाम पर वोट मांगे थे, वह पूरे नहीं हुए हैं। लोगों को गुमराह करके और धोखे में रखकर भाजपा ने वोट तो ले लिए, लेकिन लोगों को पेयजल, सफाई, सड़क, बिजली जैसी मूलभूत सुविधाएं भी नसीब नहीं हुईं। आज भी लोग परेशान है। सरकारी योजनाओं का लाभ भी चहेतों को दिया जा रहा है। भ्रष्टाचार चरम पर है, लेकिन जनता की सुनने वाला कोई नहीं है। इस बार जनता को समझना होगा कि वह धोखे में न आ पाएं।
- आलोक चतुर्वेदी, पज्जन, कांग्रेस नेता