एक माह से नहीं उठा कचरा, गंदगी के बीच त्योहार मनाने की विवशता

|

Published: 13 Jan 2021, 07:45 PM IST

एक दिन छोड़ कर दूसरे दिन कचरा उठाने का नियम है, लेकिन एक महीने से ज्यादा समय हो गया कचरा नहीं उठाया। कचरा पात्र भर चुके हैं और कचरा आस-पास फैल रहा है।

वेलूर. स्वच्छ भारत मिशन का जिले के विरंजीपुरम पंचायत में असर नहीं दिखता है। ग्राम पंचायत के सेदूवालय, इंदिरा नगर, पेरुमाल नगर, कस्पा गांवों की गलियों जगह-जगह कचरे के ढेर लगे हुए है। करीब दो महीने से बाजारों से कचरा नहीं उठा। बीमारी फैलने का अंदेशा बना हुआ है। इन गांवों में करीब 350 परिवार रहते हैं। जबकि इन गांवों में पेयजल, बिजली, साफ-सफाई आदि कार्यों का जिम्मा ग्राम पंचायत का है।

गांवों में एक दिन छोड़ कर दूसरे दिन कचरा उठाने का नियम है, लेकिन एक महीने से ज्यादा समय हो गया कचरा नहीं उठाया। कचरा पात्र भर चुके हैं और कचरा आस-पास फैल रहा है। कचरे की पॉलीथिन खाकर गायें बीमार हो रही हंै। इसके अलावा गांव में कई रोड लाइट खराब पड़ी है। गलियों में अंधेरा रहने से महिलाओं को आने-जाने में भय रहता है।

गांव में जगह-जगह कचरे के ढेर लगे होने से ग्रामवासी काफी परेशान हंै। कचरे की दुर्गंध से लोग परेशान है। इससे मौसमी बीमारियां फैलने का अंदेशा भी बना हुआ है। गांव वासियों ने कई बार संबंधित अधिकारियों और ग्राम प्रधान से भी शिकायत की, लेकिन बावजूद अब तक कचरा नहीं उठाया गया है।

ग्रामीणों का कहना है