कार में cng किट लगवाने से पहले जान लें, कंपनी फिटेड CNG या ऑफ्टर मार्केट किट क्या है बेस्ट

|

Updated: 03 Mar 2020, 03:28 PM IST

bs6 नॉर्म्स के लागू होने पर इंजनों की एफिशिएंसी बढ़ जाएगी और पॉल्यूशन लेवल में भी कमी आएगी । bs6 इंजन वाली कारों के साथ ही कार चलाने वालों के बीच CNG कारों का ट्रेंड तेजी से बढ़ रहा है।

नई दिल्ली: 1 अप्रैल 2020 से BS6 एमिशन नॉर्म्स लागू हो रहे हैं। इन नॉर्म्स के लागू होने के पीछे की सबसे बड़ी वजह पॉल्यूशन है। बताया जा रहा है कि bs6 नॉर्म्स के लागू होने पर इंजनों की एफिशिएंसी बढ़ जाएगी और पॉल्यूशन लेवल में भी कमी आएगी । bs6 इंजन वाली कारों के साथ ही कार चलाने वालों के बीच CNG कारों का ट्रेंड तेजी से बढ़ रहा है। दरअसल CNG कारों को चलाने का खर्च बेहद कम होता है और पॉल्यूशन भी कंवेशनल कारों की तुलना में बेहद कम होता है।

यही वजह है कि अब मारुति ( Maruti suzuki ) जैसी कंपनियां अपनी कारों के cng वेरिएंट को लॉन्च कर रही हैं। वहीं कुछ लोग पैसे बचाने के लिए कंपनी फिटेड सीएनजी गाड़ी लेने की बजाय आफ्टर मार्केट सीएनजी लगवा लेते हैं। ऐसे में सवाल उठता है कि दोनों ही प्रकार की कारों में क्या बेहतर है। यानि अगर आप पॉल्यूशन और खर्च को कम करने के लिए cng ऑप्शन तलाश रहे हैं तो कार में cng किट कंपनी से लगवाएं या ऑफ्टर मार्केट ।

भारत में लॉन्च हुई CNG फिटेड Maruti Suzuki Wagon r, 5.32 लाख रुपए है शुरूआती कीमत

कौन सी CNG किट है बेहतर-

जब है बात करते हैं कंपनी द्वारा लॉन्च cng कार और बाहर से cng किट लगवाने की तो स्पष्ट है कंपनी फिट सीएनजी ही बेस्ट होंगी लेकिन कई बार लोग थोड़े से पैसे बचाने के लिए नई कार लेते वक्त आफ्टर मार्केट से cng किट लगवाने की बात कहते हैं। लेकिन क्या सवाल सिर्फ पैसों का है चलिए इस मुद्दे को कुछ और मापदंडों के लिहाज से देखें।

माइलेज- सीएनजी कारों को लोग उनके माइलेज की वजह से पसंद करते हैं क्योंकि इन कारों का माइलेज कंवेंशनल कारों से 40 फीसदी तक ज्यादा होता है। मारुति का दावा है कि उनकी फैक्टरी फिटेड सीएनजी न केवल ज्यादा माइलेज देती है।

सेफ्टी- कंपनी में cng किट लगाने वाले मकैनिक ट्रेंड होते हैं यानि वो इस काम में एक्सपर्ट होते हैं और गलती के चांसेज कम होते हैं लेकिन बाहर से लगने वाली किट अप्रशिक्षित मैकेनिक लगाते हैं, जो सुरक्षा के लिहाज से खतरनाक होता है। इसके अलावा कंपनी की किट टेस्टेड होती हैं और सीएनजी किट के वजन का कंपनी उचित प्रबंधन करती है, जिससे पिकअप भी ठीक रहता है और ग्राउंड क्लीरेंस भी ठीक रहता है। लेकिन ऑफ्टर मार्केट किट्स के साथ ऐसा नहीं होता है।

Maruti ने लॉन्च किया bs6 वाली Alto का CNG वेरिएंट, 32 किमी का मिलेगा माइलेज

कीमत- कंपनी फिटेड किट 60 से 70 हजार रुपये तक महंगी होती हैं, वहीं आफ्टर मार्केट किट की कीमत 40 से 50 हजार रुपये तक होती है।

यहां एक बात ध्यान देने वाली है कि कंपनी अपनी किट पर पांच साल तक की वारंटी भी देती है। लेकिन अगर आप अपनी कार में बाहर से किट लगवाते हैं तो आपकी कार पर मिलने वाली वारंटी भी खत्म हो जाती है।