इस बड़ी वजह से BMW छोड़ Range Rover पर सवार हुए पीएम मोदी, वजह जानकर मुस्कुरा उठेंगे आप

|

Published: 23 Apr 2019, 03:39 PM IST

  • प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने बदली अपनी सवारी
  • इस वजह से रेंज रोवर को बनाया अपनी सवारी

नई दिल्ली: भारत के 71वें स्वतंत्रता दिवस के मौके पर जब प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का काफिला दाखिल हुआ तो लोगों की निगाहें पीएम मोदी की बदली हुई सवारी पर थी। दरअसल पीएम मोदी सालों से चली आ रही 7 सीरीज BMW को छोड़ Range Rover की फ्रंट सीट पर बैठे थे। और उनकी सुरक्षा में तैना SPG के जवान Toyota Fortuner से बने काफिले में थे।

केरल में रहने वाले नहीं चला पाएंगे ऐसी गाड़ियां, RTO ऩे जारी किया फरमान

खैर उस दिन खबरों की दुनिया में यही चर्चा थी कि आखिर प्रधानमंत्री ने क्यों लग्जरी सेडान bmw को range rover से रिप्लेस किया। बल्कि एक धड़ा तो ये भी मान रहा था कि अपने make in india मिशन के चलते प्रधानमंत्री मोदी ने टाटा मोटर्स के स्वामित्व वाली रेंज रोवर को अपनी सवारी बनाया है, लेकिन आपको बता दें कि ये दोनों ही कारण पीएम मोदी के गाड़ी बदलने के फैसले के लिए जिम्मेदार नहीं थे।

मात्र 1000 रूपए में अपना बना सकते हैं 65000 का स्कूटर, मई में होगी लॉन्चिंग

दरअसल bmw सेडान है जबकि रेंज रोवर SUV, जिसे आराम से कहीं भी लाया ले जाया जा सकता है। इसके अलावा रेंज रोवर को पॉवरफुल कार माना जाता है। यानि ये पीएम मोदी का शक्ति प्रदर्शन भी हो सकता है। और जहां तक आगे बैठने की बात है तो सभी को मालूम है कि पीएम मोदी को कैमरे के सामने दिखना पसंद है । और bmw में आगे या पीछे बैठने पर बैठा हुआ इंसान न के बराबर नजर आता है जबकि रेंज रोवर की बड़ी ग्लास डिजाइन के चलते इसमें बैठने वाला इंसान साफ नजर आता है। यही वजह है कि पीएम मोदी ने Range Rover को अपनी सावारी चुना।

आपको बता दें कि पीएम मोदी की range rover, 2010 की Range Rover HSE का armoured वर्जन है और इस कार को 218km/h की स्पीड से चला सकते हैं।