बुरहानपुर में पथराव, भगदड़ और शहर बंद, दो पुलिसकर्मी घायल

|

Published: 20 Apr 2018, 07:19 PM IST

- रैली निकाल रहे युवाओं ने मचाया उत्पाद

बुरहानपुर में पथराव, भगदड़ और शहर बंद, दो पुलिसकर्मी घायल

- दो दर्जन से अधिक गाडिय़ों के कांच फोड़े
- धड़ाधड़ बंद हुआ पूरा बाजार
बुरहानपुर. कश्मीर के कठुआ में हुए दुष्कर्म के विरोध में शुक्रवार को युवकों ने रैली निकाली, जहां रैली में युवकों का गुस्सा सिर चढ़कर बोला। हाथों में लठ्ठ लेकर निकले युवकों ने जमकर नारेबाजी करते हुए बाजार में तोडफ़ोड़ शुरू कर दी। देखते ही देखते पूरा बाजार बंद हो गया। कई दुकानों का सामान बाहर फेंका तो कहीं पार्किंग में खड़ी गाडिय़ों के कांच फोड़ दिए। दस मिनट में पूरे शहर में तनाव हो गया। बाजार में खरीदारी करने आए लोग दहशत के कारण इधर उधर भागते नजर आए। कोई दुकान में जाकर छुपा तो कोई बस स्टैंड की ओर दौड़ा।
शुक्रवार को दोपहर ३ बजे निकली रैली जब गांधी चौक की तरफ से गुजरी तो यहां बंद करो बंद करो युवक चिल्लाने लगे। इसमें से कुछ युवकों ने कमल तिराहे तक आते आते दुकानों के बाहर टंगे कपड़े निकालकर फेंकने लगे। इसमें दुकानदार से भी छिनाछपटी हुई। कुछ युवकों ने कमल तिराहे से लेकर शनवारा तक खड़ी गाडिय़ों के कांच फोड़ दिए। यह रैली देख शहर में दहशत में मच गई। ग्रामीण क्षेत्रों से आए लोग घबराकर इधर-उधर भागने लगे। कइयों ने कुंदन डेयरी के सामने पोस्ट ऑफिस के परिसर में घुस गए। रैली जब शनवारा पहुंची तो यहां माहौल और बिगड़ गया। जब पुलिसकर्मियों ने इन्हें रोका तो उन पर भी पथराव कर दिया। दो पुलिसकर्मी इसमें घायल हो गए। एक के सिर पर गंभीर चोट आई है। कुछ पुलिस कर्मियों ने इन पर लाठी चार्ज किया। इसके बाद पुलिस अधीक्षक गश्त पर निकले और कंट्रोल रूम पर पहुंचते ही उन्होंने पूरे शहर में पुलिस बल तैनात करवाया। पूरे मामले के बाद पुलिस की पेट्रोलिंग शुरू हुई।
महाराष्ट्र की बस पर भी पथराव
रैली बस स्टैंड की ओर से भी गुजरी यहां खड़ी बसों के कांच फोड़ दिए। बिजली कंपनी के बाहर खड़ी महाराष्ट्र की गाड़ी पर भी पथराव करने से इसमें बैठे यात्री दहशत में आ गए। यात्री ताबड़तोड़ बाहर निकल गए, जब तक रैली आगे जा चुकी थी।