गुपचुप शादी के बाद मिथुन चक्रवर्ती ने दिया था Sridevi को धोखा, बोनी कपूर ने पहली पत्नी को छोड़कर थामा था अभिनेत्री का हाथ

|

Published: 23 Feb 2021, 05:48 PM IST

  • मिथुन चक्रवर्ती के अलग होने के बाद टूट गई थी श्रीदेवी
  • बोनी कपूर ने शादी के लिए 10 साल मनाया
  • बाथटब में मृत पाई गई थी श्रीदेवी

नई दिल्ली | बॉलीवुड की चांदनी कही जाने वाली सदाबहार अभिनेत्री श्रीदेवी (Sridevi) आज भले ही हमारे बीच नहीं हैं लेकिन लोग आज भी उनकी फिल्मों के जरिए उन्हें बेहद याद करते हैं। श्रीदेवी की अचानक मौत ने सभी को चौंका दिया था। हिंदी सिनेमा जगत के लिए श्रीदेवी का यूं चले जाना किसी बड़े सदमें से कम नहीं था। 24 फरवरी 2018 बॉलीवुड के लिए वो काली रात बन गई जिसे लोग आज भी भुला नहीं पाए हैं (Sridevi Death Anniversary)। श्रीदेवी की जिंदगी कभी भी आसान नहीं रही थी उन्हें बचपन से ही मुश्किलों का सामना किया था। पहले माता-पिता की मौत, फिर पहले प्यार का मुंह मोड़ना और फिर जो हुआ उसने उन्हें ही दूसरी दुनिया में बुला लिया। श्रीदेवी का पहला प्यार मिथुन चक्रवर्ती थे लेकिन धोखा मिलने के बाद वो बेहद ही टूट गई थीं।

मिथुन चक्रवर्ती के प्यार में दीवानी थी श्रीदेवी

श्रीदेवी, मिथुन चक्रवती (Mithun Chakraborty) से बेइंतहा प्यार करती थीं। खबरों के मानें तो कहा जाता है कि श्रीदेवी और मिथुन का रिश्ता दिलीप कुमार और मधुबाला जैसा था, दोनों ने चुपके से शादी भी कर ली थी। हालांकि मिथुन पहले से ही शादीशुदा थे, सच जानने के बाद उनकी पहली पत्नी ने सुसाइड करने की कोशिश की तब मिथुन ने श्रीदेवी से मुंहमोड़ लिया। इस दौरान श्रीदेवी बुरी तरह से टूट गई थीं। ऐसे वक्त में बोनी कपूर उनके दोस्त के रूप में सामने आए और उनकी मां की ब्रेन सर्जरी के लिए अमेरिका गए। जहां डॉक्टरों की गलत सर्जरी की वजह से श्रीदेवी की मां मनो रोग से पीड़ित हो गईं।

बोनी कपूर बने श्रीदेवी का सहारा

बोनी कपूर श्रीदेवी का सहारा उस वक्त भी बने थे जब वो पूरी तरह से कंगाल हो चुकी थी। श्रीदेवी के पिता कभी नहीं चाहते थे कि वो एक्ट्रेस बने लेकिन मां ने उनका पूरा सपोर्ट किया जिसके बाद वो सफल अभिनेत्री बनीं। पिता की मौत के बाद श्रीदेवी कंगाल हो गई थीं और मां की बीमारी ने उन्हें बुरी तरह तोड़ दिया था। कई लोगों ने पिता का पैसा मारा उसके बाद मां ने कानूनी केस लड़े ऐसे में उनके परिवार को आर्थिक संकट का सामना करना पड़ा। इसी दौरान बोनी कपूर (Boney Kapoor) ने श्रीदेवी की बहुत मदद की थी।

बाथटब में मृत पाई गई थी श्रीदेवी

श्रीदेवी कई बार बेहद परेशान रहा करती थीं लेकिन किसी के सामने जाहिर नहीं करती थीं। बोनी कपूर लंबे समय तक श्रीदेवी को शादी के लिए मनाते रहे। आखिरकार 10 साल बाद उन्होंने बोनी के प्यार को माना था। बोनी कपूर ने खुद एक इंटरव्यू में बताया था कि उन्हें श्रीदेवी को मनाने में 10 साल लग गए थे। इस दौरान भी श्रीदेवी पर बोनी कपूर की मां ने कई इल्ज़ाम लगाए क्योंकि वो पहले से शादीशुदा थे। जिस दिन श्रीदेवी दुनिया से रुखसत हुईं उस दिन वो दुबई में घर की एक शादी में शामिल होने पहुंची थीं।