कंगना रनौत ने ऑक्सीजन पर जताई चिंता, कहा-''हमने अपनी गलतियों से कुछ नहीं सीखा'

|

Published: 03 May 2021, 07:18 PM IST

कंगना रनौत ने वर्तमान में चल रहे ऑक्सीजन सिलेंडर्स के संकट और पर्यावरण पर बात की है। ऑक्सीजन सिलेंडर्स की कमी पर प्रतिक्रिया देते हुए एक्ट्रेस ने इसकी कमी पर चिंता जताई है।

मुंबई। कोरोना महामारी के दूसरे चरण में देशभर में हालात खराब हैं। खासकर मेडिकल फील्ड पर अतिरिक्त दबाव आ गया है। इसके चलते कोविड मरीजों के मुकाबले दवाईयों, ऑक्सीजन सिलेंडर्स और अस्पताल बेड्स की कमी आ गई है। ऑक्सीजन सिलेंडर्स की कमी पर कंगना रनौत ने प्रतिक्रिया व्यक्त की है और इसकी कमी पर चिंता जताई है।

 

'हमने अपनी गलतियों से कुछ नहीं सीखा है'

कंगना रनौत ने अपने ट्विटर अकाउंट से पोस्ट करते हुए लिखा है,'हर कोई ज्यादा से ज्यादा ऑक्सीजन संयंत्रों का निर्माण कर रहा है। सैंकड़ों-हजारों टन ऑक्सीजन सिलेंडर हासिल कर रहे हैं। हम उन सभी ऑक्सीजन की क्षतिपूर्ति कैसे कर रहे हैं जो हम पर्यावरण से जबरदस्ती खींच रहे हैं? ऐसा लगता है कि हमने अपनी गलतियों से कुछ नहीं सीखा है और वह पेड़ लगाने का कारण बनते हैं।'

यह भी पढ़ें : कंगना रनौत ने शाहरुख खान की कामयाबी से की खुद की तुलना, हुईं ट्रोल

'हवा की क्वालिटी सुधारने के लिए करेंगे काम'

कंगना की ओर से किए गए कई ट्वीट में से एक में कहा गया,'मानव के लिए अधिक से अधिक ऑक्सीजन की घोषणा के साथ, सरकार को प्रकृति के लिए भी रिलीफ की घोषणा करनी चाहिए। जिन लोगों को ऑक्सीजन मिल रही है, वे भी ये प्रण करें कि हवा की क्वालिटी सुधारने के लिए काम करेंगे। कब तक हम लोग दयनीय कीड़े बने रहेंगे और देने की बजाय प्रकृति से लेते ही रहेंगे? अगर मानव जाति मिट जाएगी तो धरती फलेगी-फूलेगी। अगर आप उसके बच्चे या प्यार करने वाले नहीं हैं तो आप अनावश्यक हैं।'

कंगना ने अपने अगले ट्वीट में लिखा, 'याद रखें अगर धरती से कोई भी जिंदगी गायब होती है, चाहे वह जीवाणु या कीड़े ही क्यों न हों, इससे मिट्टी की उपजाऊ शक्ति और धरती मां के स्वास्थ्य पर असर पड़ेगा। लेकिन अगर इंसान धरती से गायब हो गए तो वह और बेहतर होती जाएगी। इसलिए अगर आप धरती से प्यार नहीं करते तो आपकी जरूरत नहीं है।'

यह भी पढ़ें : कंगना रनौत को ऑफर हुई थी 'डर्टी पिक्चर', नहीं पहचान पाईं थी इसमें छिपी संभावना को

गौरतलब है कि एक्ट्रेस कंगना रनौत समसामयिक और देशहित के मुद्दों पर बोलने में अग्रणी रहती हैं। कई बार उनकी बेबाक बयानी पर ट्रोलिंग भी हो जाती है। हालांकि इसकी परवाह किए बगैर कंगना अपनी राय व्यक्त करने से पीछे नहीं हटती हैं।