बाइक के दीवानों को बड़ी सौगात, हीरो मोटोकॉर्प और हार्ले डेविडसन ने मिलाया हाथ

|

Updated: 27 Oct 2020, 09:20 PM IST

  • भारतीय बाजार में हार्ले डेविडसन ( Harley Davidson ) की बिक्री और सर्विस हीरो को मिली।
  • हीरो मोटोकॉर्प ( Hero MotoCorp ) और हार्ले डेविडसन ने सार्वजनिक रूप से किया ऐलान।
  • हार्ले के पुर्जे, एक्सेसरीज, जनरल मर्चेंडाइज और राइडिंग गियर भी बेचे जाएंगे।

नई दिल्ली। एक बड़ी डील के तहत दुनिया की सबसे बड़ी मोटरसाइकिल और स्कूटर बनाने वाली कंपनी हीरो मोटोकॉर्प ( Hero MotoCorp ) और हार्ले-डेविडसन इंक ( Harley Davidson ) ने अपने प्रोडक्ट्स को बेचने के लिए हाथ मिलाया है। दुपहिया वाहनों की मशहूर ये दोनों कंपनियों ने इस करार का सार्वजनिक रूप से ऐलान किया है। समझौते के मुताबिक हीरो मोटोकॉर्प भारत में हार्ले डेविडसन बाइकों की बिक्री और सर्विसिंग की जिम्मेदारी संभालेगी।

दीपावली से पहले नई Bajaj CT100 का कड़क वर्जन लॉन्च, खुश कर देंगे यह 8 नए फीचर्स

दोनों कंपनियों के बीच हुए एक डिस्ट्रिब्यूशन एग्रीमेंट (वितरण समझौते) के मुताबिक यह काम भारत में हार्ले डेविडसन के एक्सक्लूसिव डीलरों और हीरो के मौजूदा डीलरशिप नेटवर्क दोनो के माध्यम से किया जाएगा। इतना ही नहीं हार्ले डेविडसन मोटरसाइकिल के पुर्जे, एक्सेसरीज, जनरल मर्चेंडाइज और राइडिंग गियर भी इसी करार के तहत बेचे जाएंगे।

अमरीका की मशहूर कंपनी के साथ किए गए इस लाइसेंसिंग डील के तहत हीरो मोटोकॉर्प, हार्ले डेविडसन ब्रांड नाम के अंतर्गत प्रीमियम बाइकों को बनाकर उनकी बिक्री भी करेगा। दरअसल, सितंबर में हार्ले डेविडसन कंपनी ने रीवायर नीति को अपनाते हुए भारत में अपने व्यावसायिक मॉडल में परिवर्तन किए जाने का ऐलान किया था।

इस संबंध में जारी एक बयान में बताया गया है कि हार्ले डेविडसन और हीरो मोटोकॉर्प के बीच की गई यह व्यवस्था भारत में कंपनियों और राइडर्स दोनों के लिए पारस्परिक रूप से फायदेमंद है। इसकी वजह अब हीरो मोटोकॉर्प के मजबूत डिस्ट्रीब्यूशन नेटवर्क और कस्टमर सर्विस के साथ ही प्रतिष्ठित हार्ले डेविडसन ब्रांड एक साथ जुड़ गए है।

नई कार खरीदने से पहले जान लें दिल्ली सरकार की योजना, दे रही है 1.50 लाख तक का कैश इंसेटिव

बता दें कि हार्ले डेविडसन ने भारतीय बाजार में उम्मीद के मुताबिक परिणाम ना मिलने पर कुछ दिनों पहले भारत से विदाई ले ली थी। करीब एक दशक पहले हरियाणा के बावल में असेंबलिंग यूनिट स्थापित किए जाने के बाद कंपनी अमरीका से कल-पुर्जे लाकर यहां बाइक तैयार करती थी। कंपनी अब तक देश में केवल 27 हजार मोटरसाइकिलें ही बेच सकी है।

भारत में हार्ले डेविडसन की बाइकों की कीमत 4.70 लाख से लेकर 11 लाख तक है। भारतीय बाजार में अपनी पैठ मजबूत करने के लिए हार्ले ने कुछ कम कीमत वाले मॉडल भी पेश किए थे, लेकिन यह उम्मीद के मुताबिक नतीजे नहीं दे सके।