Lockdown: हाथ जोड़कर पुलिस वाले कह रहे, कृपया अपने—अपने घरों में रहें

|

Updated: 26 Mar 2020, 10:58 AM IST

Highlights

  • कोरोना वायरस से बचाव के लिए पुलिस इंस्पेक्टर ने पेश की मिसाल
  • गाजियाबाद और मुरादाबाद में भी दिखा ऐसा ही नजारा
  • सड़क पर निकल रहे लोगों से की घर जाने की अपील

 

बिजनौर। कोरोना वायरस से बचाव के लिए देश में कई लापरवाह लोगों की तस्वीरें सामने आ रही हैं। पुलिस इनसे निपटने के लिए हरसंभव प्रयास कर रही है। कई जगह पुलिस की इन पर लाठियां बरसाती हुई वीडियो भी सामने आई है। जबकि कई जगह वह इनसे हाथ जोड़कर घर जाने की अपील भी कर रही है। बिजनौर, मुरादाबाद और गाजियाबाद में ऐसा ही नजारा देखने को मिला।

इंस्पेक्टर ने जोड़े हाथ

जनपद बिजनौर के शेरकोट क्षेत्र से कोरोना जैसी महामारी से बचने के लिए सड़क पर निकल रहे लोगों से पुलिस इंस्पेक्टर ने हाथ जोड़कर घर जाने की अपील की। यह एसओ लोगों से हाथ जोड़कर कह रहा है कि आपकी सेवा के लिए पुलिस हमेशा तत्पर है। आप इस महामारी से बचने के लिए कृपया वापस अपने घरों को लौट जाएं। इस एसओ का नाम है संजय कुमार।

जरूरी काम वालों को जाने दिया

थाना शेरकोट में एसओ संजय कुमार ने क्षेत्र के लोगों को कोरोना वायरस से बचने की गुजारिश की। शेरकोट के चौराहे पर वह घर से बाहर निकल रहे लोगों से हाथ जोड़कर उनको घर वापस लौटने के लिए कह रहे हैं। इस अंदाज को देखकर घर से बाहर निकल रहे लोग वापस भी लौट गए। जिन लोगों को जरूरी काम था या सरकारी काम से निकले हुए थे, पुलिस ने केवल उन्हें जाने दिया।

समस्या होने पर 112 पर करें फोन

एसओ संजय कुमार ने बताया कि इस महामारी से बचने के लिए जो भी पुलिस व जिला प्रशासन के आदेश हैं, वे उनका पालन करा रहे हैं। इसके तहत वह सड़क पर निकलकर लोगों से उनके घर वापस जाने के लिए हाथ जोड़कर अपील कर रहे हैं। उनका मकसद है कि क्षेत्र के नागरिक अपने घरों पर रहें। कोई भी समस्या होने पर पुलिस की 112 सेवा पर फोन कर सकते हैं। उस समस्या का तुरंत समाधान किया जाएगा।

मुरादाबाद में भी दिखा नजारा

मुरादाबाद में भी पुलिसकर्मी हाथ जोड़कर लोगों से अपने घरों में अपील कर रहे हैं। कुछ ऐसी ही तस्वीर गाजियाबाद से भी सामने आई है। बता दें कि 21 दिन के लॉकडाउन का ऐलान होते ही लोग राशन की दुकानों व सब्जी मंंडी में पहुंच गए। जबकि कई लोग बेवजह ही सड़क पर घूमने लगे। पुलिस व प्रशासन ने इनको समझाकर घर भेज रहे हैं।