अभिवावकों को बड़ी राहत: सरकार ने जमा की 27 हजार बच्चों की फीस, इन छात्रों को मिला लाभ

|

Published: 06 Jun 2020, 07:06 PM IST

यह योजना मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने शैक्षणिक सत्र 2018-19 में शुरू की थी।

भोपाल. मुख्यमंत्री जन कल्याण (शिक्षा प्रोत्साहन) योजना अन्तर्गत उच्च शिक्षण संस्थाओं में अध्ययनरत 27 हजार 281 विद्यार्थियों की 18 करोड़ 88 लाख 24 हजार रुपये की फीस सरकार ने जमा करवायी है। यह सभी विद्यार्थी असंगठित कर्मकारों के बच्चे हैं। यह योजना मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने शैक्षणिक सत्र 2018-19 में शुरू की थी।

योजना अन्तर्गत तकनीकी शिक्षा के 1500 विद्यार्थियों की एक करोड़ 88 लाख 97 हजार 321, आईआईटी, एनआटी के 2 विद्यार्थियों की एक लाख 78 हजार 700, क्लैट-एन.एल.आई.यू. के 9 विद्यार्थियों की 19 लाख 55 हजार 500, मेडिकल (नीट) में 19 विद्यार्थियों की एक करोड़ 70 लाख 77 हजार, उच्च शिक्षा में 23 हजार 896 विद्यार्थियों की 13 करोड़ 78 लाख 78 हजार 953 और अन्य पाठ्यक्रमों के 1855 विद्यार्थियों की एक करोड़ 28 लाख 36 हजार 764 रुपये की फीस सरकार द्वारा जमा करवायी गयी है।

उल्लेखनीय है कि मुख्यमंत्री जन कल्याण (शिक्षा प्रोत्साहन योजना) असंगठित कर्मकार के रूप में पंजीकृत माता-पिता के विद्यार्थियों को नि:शुल्क उच्च शिक्षा उपलब्ध कराने के लिए शुरू की गयी। योजना में तकनीकी शिक्षा, उच्च शिक्षा एवं चिकित्सा शिक्षा से संबंधित पाठ्यक्रमों के विद्यार्थियों को लाभान्वित किया जाता है।

30 जून तक बंद रहेंगे स्कूल
वहीं, कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों को देखते हुए मध्यप्रदेश सरकार ने बड़ा फैसला लिया है। सरकार द्वारा कहा गया है कि प्रदेश के सभी शासकीय और प्रायवेट स्कूल 30 जून तक बंद रहेंगे। स्कूल कब खुलेंगे इसको लेकर फिलहाल कोई फैसला नहीं किया गया है। शासन द्वारा नोवल कोरोना वायरस एवं उससे जनित बीमारी के संक्रमण से बचाव के लिये शैक्षणिक सत्र 2020-21 के लिये प्रदेश के सभी शासकीय एवं अशासकीय विद्यालयों तथा शिक्षक प्रशिक्षण संस्थाओं में विद्यार्थियों तथा शिक्षकों के लिये 30 जून तक अवकाश घोषित किया गया है। ऑनलाइन अध्यापन की गतिविधियाँ विभागीय आदेश के अनुसार जारी रखी जा सकेंगी।