राजधानी में कई दिन बाद मिले कोरोना के चार मरीज, प्रशासन अलर्ट

|

Published: 13 Aug 2021, 01:51 AM IST

तीसरी लहर को लेकर तैयारी शुरू, बेड बढ़ाकर किए 9500

 

भोपाल. राजधानी में कई दिन बाद चार लोगों की रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आई है। इसे देखते हुए जिला प्रशासन ने तैयारी शुरू कर दी है। कलेक्ट्रेट में आयोजित बैठक में तीसरी लहर को देखते हुए लगभग 9500 बेड तैयार किए गए हैं। इसमें 2 हजार 500 आइसीयू बेड रहेंगे। इसके अलावा 15 ऑक्सीजन प्लांट भी लग रहे हैं। जिनकी क्षमता 16 से 20 मीट्रिक टन प्रतिदिन उपलब्ध रहेगी।

कलेक्टोरेट में हुई बैठक में चिरायु, एलएनसीटी, पीपुल्स, जेके हमीदिया, आरकेडीएफ, कस्तूरबा, कमला नेहरू, जेपी, हमीदिया के साथ-साथ अन्य सभी बड़े चिकित्सालय के अधीक्षक और संचालक उपस्थित थे। बच्चों के इलाज के लिए भी 200 आइसीयू ऑक्सीजन बेड तैयार किए गए हैं। संचालकों ने आग्रह किया है कि उनके स्टाफ को ऑक्सीजन सप्लाई के बारे में ट्रेनिंग दी जाए। तीसरी लहर के दौरान अधिकतम डिमांड 98 से 100 मीट्रिक टन ऑक्सीजन की मांग और उपलब्धता रही थी, उसकी तुलना में इस बार 300 मीट्रिक टन ऑक्सीजन प्रतिदिन उपलब्ध रहने की संभावना है।

एसडीएम ने भेजा प्रस्ताव
बैरसिया नगर पालिका परिषद के 18 वार्ड में 100 फीसदी वैक्सीनेशन का लक्ष्य पूरा कर लिया गया है। बैरसिया एसडीएम राजीव नंदन श्रीवास्तव ने इस संबंध में एक प्रस्ताव स्वास्थ्य विभाग के अफसरों को भेजा है। तीन महीने पहले यहां पर लोग वैक्सीन लगवाने के समय कहते थे कि इसे लगवाने से मर सकते हैं। इधर फंदा ब्लॉक की 15 पंचायतों में पहले डोज 100 फीसदी लगाने काम लक्ष्य पूरा कर लिया है।

इधर घट रहे एक्टिव केस
प्रदेश में पिछले एक हफ्ते से लगातार एक्टिव केस घट रहे हैं। वर्तमान में यह संख्या 131 पर आ गई है। 6 अगस्त को एक्टिव केस 158 थे। बीते चौबीस घंटे के दौरान गुरुवार को कोरोना के आठ नए केस मिले हैं। प्रदेश में पॉजिटिव प्रकरणों के प्रतिशत पिछले एक हफ्ते से स्थिर बना हुआ है। पॉजिटिव प्रकरणों का प्रतिशत 0.01 पर है।