अब 4 घंटे खुले रहेंगे बाजार, दाम बढ़ाने पर व्यापारियों को होगी 2 साल की जेल

|

Published: 26 Mar 2020, 11:49 AM IST

- 4 घंटे खुले रहेंगे बाजार
- मुनाफाखोरी करने वालों पर लिया जाएगा सख्त एक्शन
- भेजा जा सकता है जेल

भोपाल। वैश्विक महामारी कोरोना से निपटने के लिए प्रधानमंत्री मोदी के द्वारा दिए गए आदेश के बाद पूरे देश में 14 अप्रैल तक पूर्ण लॉकडाउन की घोषणा की गई है। इस फैसले के बाद से ही प्रदेश सरकार ने भी जनता के लिए जरूरी व्यवस्थाएं मुहैय्या कराने के लिए कमर कस ली है।

शासन-प्रशासन की ओर से व्यवस्था की जा रही है। इन सब के बीच प्रशासन की ओर से अपील की जा रही है कि, कोरोना के खिलाफ इस लड़ाई में अपने घरों में रहकर सरकार का सहयोग करें। वहीं लोगों को इस हालात में न घबराने की भी सलाह दी जा रही है। सरकार ने कहा है कि लॉकडाउन में खाने-पीने का जरूरी सामान और राशन की कमी नहीं होगी।

इस लॉकडाउन में हनुमानगंज व जुमेराती का थोक किराना बाजार सुबह 10 से दोपहर 2 बजे तक खोला जाएगा। पीएम मोदी जी के लॉकडाउन निर्देश के बाद से कुछ फुटकर व्यापारियों ने खाने-पीने की चीजों के दाम एकदम से बढ़ा दिए हैं। ये व्यापारी मनमानी कीमत में सामान बेच रहे हैं। लोगों के पूछने पर जवाब दे रहे है कि सामान खत्म हो गया है।

भेजा जा सकता है जेल

बाजार में 80 रुपए किलो का साबूदाना 100 व 120 रुपए किलों , 20 रुपए किलो मिलने वाला टमाटर 40 रुपए किलो और 38 रुपए किलो मिलने वाली शक्कर 50 रुपए किलो मिल रही है। साथ ही चावल, दाल, तेल और आटे के रेट भी मनमाने हो गए है। मानमाने रेट लेने के लिए कलेक्टर तरुण पिथोड़े ने कहा कि लॉकडाउन के नाम पर मुनाफाखोरी करने वालों पर सख्त एक्शन लेगें। अगर ये लोग मनमाने रेट लेते रहे तो इन्हें जेल भी भेजा जा सकता है।

साथ ही भोपाल किराना व्यापारी महासंघ के महासचिव अनुपम अग्रवाल ने बताया कि सुबह 10 से दोपहर 2 बजे तक फुटकर व्यापारियों को खाद्यान्न थोक दाम में दिया जाएगा। महासंघ के पदाधिकारी बुधवार शाम हनुमानगंज थाना प्रभारी से मिले। अग्रवाल समेत दाल-चावल व्यापारी एसोसिएशन के अध्यक्ष शीलचंद लचकिया, शंकर सचदेव का कहना है कि थोक में दाम नहीं बढ़े हैं।

थाने में करें सूचित

एसपी मुख्यालय धर्मवीर सिंह यादव ने बताया कि कालाबजारी करने वाले व्यापारियों पर केस दर्ज किया जाएगा। यह एक तरीके से कानूनी अपराध है। जिन पर केस दर्ज होगा इन्हें कम से कम 2 साल तक की सजा का प्रावधान है। उन्होंने कहा कि कालाबाजारी करने वालों की जानकारी संबंधित थाने में दें, ताकि कार्रवाई की जा सके।