Coronavirus Prevention : अब तक माइल्ड स्टेज पर है कोरोना वायरस, पर जरा सी चूक से शुरु हो जाएगा तीसरा स्टेज

|

Published: 26 Mar 2020, 05:40 PM IST

प्रदेश और देश की सरकार द्वारा निरंतर इस महामारी से लड़ने के प्रयास किये जा रहे हैं। खासतौर पर लोगों से अपील की गई है कि, घरों से बाहर न निकलें।

भोपाल/ कोरोना वायरस का असर देशभर में बहुत तेजी से बढ़ता जा रहा है। मौजूदा आंकड़ों की मानें तो अब तक देश में 649 संक्रमित मामले सामने आ चुके हैं। वहीं, इससे मरने वालों की संख्या 13 हो गई है। वहीं मध्य प्रदेश में अब तक कुल 20 मामले सामने आ चुके हैं। वहीं, संक्रमण से मरने वालों की संख्या भी 2 हो गई है। हालांकि, प्रदेश और देश की सरकार द्वारा निरंतर इस महामारी से लड़ने के प्रयास किये जा रहे हैं। खासतौर पर लोगों से अपील की गई है कि, घरों से बाहर न निकलें। इसके लिए जहां केन्द्र से 21 दिनों के लिए लॉकडाउन किया गया है, वहीं एमपी में कई शहरों में कर्फ्यू भी लगाया गया है। ये सब इसलिए किया जा रहा है ताकि, देश में तेजी से बढ़ने वाले इस संक्रमण को कम्युनिटी ट्रांसमिशन के फेज में पहुंचने से रोका जाए।

 

पढ़ें ये खास खबर- Coronavirus Medicine : कोरोना में असरदार इस मेडिसिन के निर्यात पर प्रतिबंध, MP से खरीद रहे थे 150 देश


शोध में हुआ खुलासा

रिसर्च में जुटे शोधकर्ताओं की माने तो फिलहाल राहत की बात ये है कि, अब तक देश और मध्य प्रदेश में सामने आया कोरोना संक्रमण माइल्ड स्टेज (हल्के स्तर ) का संक्रमण चल रहा है। यही कारण है कि, यहां अब तक संक्रमित लोगों का मृत्युदर औसत से बहुत कम है। लेकिन, अगर संक्रमण फैलने की गति बढ़ गई, तो तीसरे स्टेज का संक्रमण फैलने लगेगा। ये संक्रमण बेहद भयावय है, जिसे जनरल सर्दी-खांसी की दवाओं से ठीक करना बेहद मुश्किल हो जाता है। इटली, चाइना और अमेरिका इस संक्रमण से जूझ रहे हैं। हालांकि, शोध में ये भी सामने आया है कि, तीसरे चरण का संक्रमण इसलिए भी इन देशों में ज्यादा तेजी से फैला था क्योंकि, इन देशों में रहने वाले लोग संक्रमण की माल्ड स्टेज आन के बाद भी उसेलेकर गंभीर नहीं हुए थे। जिसका भुगतान आज उन्हें हजारों जानों को गंवाकर और लाखों लोगों की गंभीर बीमारी से ग्रस्त होकर भुगतना पड़ रहा है।

 

पढ़ें ये खास खबर- शिवराज बोले- 21 दिनों में कोई नहीं रहेगा भूखा, आपके एक फोन पर सहूलतें पहुंचेंगी आपके घर


पत्रिका की अपील

ऐसे में भारत के लिए एक जरा सी चूक भयावय रूप ले सकती है। इसका बड़ा कारण है यहां कि, 130 करोड़ जनसंख्या। जरा सोचिये कि, अगर हमारी एक चूक कितनी बड़ी आबादी के विनाश का कारण बन सकता है। ऐसे में अगर सरकार की ओर से देश में लॉकडाउन करके या प्रदेश के संदिग्ध शहरों में कर्फ्यू लगाया गया है, तो वो सिर्फ इस संक्रमण की चेन को तोड़ने के लिए लगाया गया है। लेकिन, ये संक्रमण फैलना तब तक नहीं रुक सकता, जब तक लोग अपने घरों को छोड़कर बाहर घूमते रहेंगे। रिसर्चर्स का तो यहां तक मानना है कि, अगर तीसरी चरण के संक्रमण का प्रभाव देश में शुरु हो गया, तो ये इतना प्रभावी है कि, घरों में रहकर भी कई लोगों के लिए इस संक्रमण से बच पाना संभव नहीं होगा। ऐसे में पत्रिका आपसे अपील करता है कि, हर हाल में अपने घरों में ही रहने का प्रास करें। इस समय इसी में देश हित जुड़ा है। आपका और आपके परिवार का जीवन जुड़ा है।