कोरोना की तीसरी लहर की आशंका : प्रदेश सरकार ने गाइड लाइन जारी करते हुए 10 अगस्त तक बढ़ाई सख्ती

|

Published: 31 Jul 2021, 07:34 PM IST

मध्य प्रदेश गृह विभाग की ओर से कोरोना कर्फ्यू की सख्ती को प्रदेशभर में 10 अगस्त तक के लिये बढ़ा दिया है।

भोपाल/ मध्य प्रदेश में कोरोना की दूसरी लहर का खतरा तो टल गया है, लेकिन तीसरी लहर की आशंका लगातार बढ़ती जा रही है। संक्मण की आंशंका को मद्देनजर रखते हुए राज्य सरकार भी चौकन्नी हो गई है। इसी के चलते मध्य प्रदेश गृह विभाग की ओर से कोरोना कर्फ्यू की सख्ती को प्रदेशभर में 10 अगस्त तक के लिये बढ़ा दिया है। गृह विभाग की ओर से इस संबंध में गाइडलाइन भी जारी की गई है, जिसके तहत जिलों को इसका सख्ती से पालन करने के निर्देश भी दिये हैं। यानी रात 11 बजे से सुबह 6 बजे तक रहने वाले कोरोना कर्फ्यू का सख्ती से पालन किया जाएगा। हालांकि, सरकार द्वारा दो दिन पूर्व ही कलेक्टरों से रात का कर्फ्यू खत्म करने के संबंध में राय मांगी थी।

 

पढ़ें ये खास खबर- एक दिन में सामने आए 5 नए कोरोना संक्रमित, वायरस का सोर्स कहा से आया- पता नहीं, अधिकारियों की बढ़ी चिंता

 

गृह विभाग ने जारी की गाइडलाइन

इन राज्यों के कारण प्रदेश में की जा रही सख्ती

बता दें कि, केरल राज्य में लगातार चौथे दिन भी 20 हजार अधिक संक्रमण के मामले सामने आए हैं। इसके अलावा, एमपी से सटेे महाराष्ट्र में भी एक बार फिर कोरोना की रफ्तार बढ़ने लगी है। अगर बात करें, मध्य प्रदेश के, तो यहां आार्थिक नगरी इंदौर में भी पिछले एक सप्ताह से कोरोना के 5-7 केस रोजाना सामने आने लगे हैं, जिसके चलते प्रशासन और सरकार की चिंताएं बढ़ गई हैं। यही वजह है कि, सरकार द्वारा 31 जुलाई तक लागू की गई गाइड लाइन की सख्ती को 10 अगस्त तक के लिये आगे बढ़ाया है। इस संबंध में सरकार ने सभी कलेक्टरों को अपने अपने जिलों में सतर्कता बरतने के संबंध में भी निर्देश भी दिये हैं।

 

पढ़ें ये खास खबर- 1 अगस्त को आपके शहर के कई इलाकों में नहीं रहेगी बिजली, बड़े पैमाने पर चलेगा बिजली सुधार कार्य


प्रदेश में हालात ठीक, पर तीसरी लहर की आशंका के चलते बरती जा रही सावधानी

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने भी प्रदेश के स्कूली बच्चों, अभिभावकों और शिक्षकों से वर्चुअल बात करते हुए कोरोना को लेकर सतर्क रहने, लापरवाही न बरतने और कोरोना नियमों का कड़ाई से पालन करने की अपील की है। उन्होंने शिक्षकों से कहा कि, वो जल्द से जल्द टीकाकरण करा लें। उल्लेखनीय है कि, मध्य प्रदेश में कोरोना पूरी तरह से नियंत्रित किया जा चुका है। प्रदेशभर की बात करें, तो शुक्रवार को यहां 10 नए मामले सामने आए थे, जिसमें से 5 मामले सिर्फ इंदौर के हैं। बाकि, अन्य केस प्रदेश केदीगर जिलों के हैं। इस हिसाब से देखें तो, प्रदेश में हालात सामान्य हैं, बावजूद इसके तीसरी लहर की आशंका को देखते हुए सावधानी बरती जा रही है।

 

पढ़ें ये खास खबर- खंडवा लोकसभा उपचुनाव : अक्टूबर-नवंबर में हो सकते हैं चुनाव, 2 अगस्त को EVM की रिहर्सल, कोरोना के बीच इस तरह चल रही तैयारी


चैकिंग बढ़ाई गई

पड़ोसी राज्य में कोरोना संक्रमण की स्थिति को देखते हुए प्रदेश के शहरी और कस्बाई इलाकों में एक बार फिर सख्ती बढ़ा दी गई है। प्रदेश के सभी सरहदी मार्गों पर पुलिस ने मोर्चा संभाल लिया है और मास्क एवं शारीरिक दूरी के नियमों के तहत निर्देश देते हुए चैकिंग व्यवस्था शुरु कर दी है। राजधानी भोपाल के भी प्रमुख चौराहों और मार्गों पर पुलिस द्वारा मास्क की जांच की जानी शुरु कर दी गई है। साथ ही, चार पहिया वाहन में भी बैठे लोगों की संख्या देखी जा रही है। पुलिस द्वारा मास्क पहनने और सोशल डिस्टेंसिंग का सख्ती से पालन करने को कहा जा रहा है।

 

बरकतउल्लाह विश्वविद्यालय का 51वां स्थापना दिवस - देखें Video