बीएसपी के रिटायर कर्मी का आ गया जवान महिला पर दिल, जब करने लगी पैसे की डिमांड तो उतार दिया मौत के घाट

|

Published: 04 Jul 2020, 01:29 PM IST

दुर्ग जिले में अवैध संबंध के भंवरजाल में फंसे एक बुजुर्ग ने विधवा महिला की हत्या कर दी और लाश को नाले में फेंक दिया। (Rape and murder case in Bhilai)

भिलाई. दुर्ग जिले में अवैध संबंध के भंवरजाल में फंसे एक बुजुर्ग ने विधवा महिला की हत्या कर दी और लाश को नाले में फेंक दिया। रिटायर बीएसएपी कर्मी की करतूत ज्यादा दिन छिप नहीं पाई और हत्या को अंजाम देने के चार दिन के अंदर ही आरोपी बुजुर्ग और उसका सहयोगी बेटा पुलिस के हत्थे चढ़ गए। भिलाई पुलिस ने दो जुलाई को हत्या के इस मामले का खुलाया किया। पाटन के खोरपा नाले में मिली महिला की लाश के मामले को पुलिस ने सुलझा लिया है। जैसी आशंका जाहिर की जा रही थी कि महिला से दुष्कर्म के बाद उसकी हत्या की गई होगी, वो सही साबित हुई।

ये मामला अवैध संबंध से जुड़ा हुआ निकला। हत्या के आरोप में गिरफ्त में आए बीएसपी के सेवानिवृत्त कर्मचारी ने पुलिस को जानकारी दी है कि वो महिला के भंवरजाल में फंस गया था। महीने का खर्च देने के बाद भी वो उससे एक लाख रुपए की मांग कर रही थी। इसी के चलते उसने योजना बनाकर उसकी हत्या की। लाश को ठिकाने लगाने के लिए अपने बेटे की मदद ली। पुलिस ने आरोपी वृद्ध के साथ ही उसके बेटे को भी गिरफ्तार किया है। बीते 28 जून को पाटन के खोरपा नाला में एक बोरे में एक महिला की लाश मिली थी। लाश पूरी तरह से नग्न अवस्था में थी। उसके हुलिए, कपड़े और अंगूठियों, नाक की फुल्ली और पायल के आधार पर उसकी शिनाख्त शुरू की गई थी। लाश मिलने के चौथे दिन पुलिस को हत्या की इस गुत्थी को सुलझाने में सफलता मिली।

पत्रकार वार्ता में मामले की जानकारी देते हुए एएसपी ग्रामीण लखन पटले, एएसपी रोहित झा, पाटन एसडीओपी आकाश राव गिरेपुंजे और पाटन थाना प्रभारी शिवानंद तिवारी ने बताया कि मृतका की शिनाख्त राजनांदगांव जिले के सोमनी निवासी कंचन बंजारे (38) के रूप में की गई। वहीं हत्या के आरोप में बजरंग पारा शनि मंदिर के पास उतई निवासी ओभान साहू (63) और उसके बेटे उमेश कुमार साहू (31) को गिरफ्तार किया गया है। बीएसपी से सेवानिवृत्त कर्मचारी ओभान साहू का मृतका से अवैध संबंध था। उसी के चलते ये पूरी वारदात हुई।

ठिकाने लगाने के 24 घंटे पहले ही कर दी थी हत्या
एएसपी लखन पटले ने बताया कि आरोपित ओभान साहू ने पहले ही दो शादी की थी। पहली पत्नी को छोडऩे के बाद उसने दूसरी शादी की थी और उतई में अपने पत्नी व बच्चों के साथ रहता था। उसने राजनांदगांव के सोमनी में एक जमीन लेकर मकान बनवाया था और सभी को किराये पर दे दिया था। मृत महिला ने भी अपने पति को छोड़ दिया था और अपनी मां के घर पर सोमनी में रहती थी। वहीं आने-जाने के दौरान आरोपी और मृतका के बीच पहचान हो गई थी।

मृतका से मिलने के लिए आरोपी ने नेवई में किराए पर एक मकान ले लिया था। 26 जून को आरोपित, मृतका को अपनी बाइक से लेकर नेवई आया। यहां पर दोनों ने मिलकर शराब पी। इसके बाद आरोपित ने मृतका से दुष्कर्म किया और उसके बाद रस्सी से गला घोंटकर हत्या कर दी। 27 जून की सुबह उसने बोरा और रस्सी खरीदा। लाश को बोरे में बंद करने के बाद रात में अपने बेटे उमेश साहू को फोन कर बुलाया। आरोपी का बेटा कार लेकर वहां पहुंचा और रात करीब 10 बजे वे लोग लाश लेकर निकले और खोरपा नाले में फेंककर चले गए।

पूरी प्लानिंग के तहत की थी हत्या
एएसपी लखन पटले ने बताया कि आरोपी और मृतका के बीच करीब डेढ़ साल से अवैध संबंध था। आरोपी उसे हर माह चार हजार रुपए खर्च के तौर पर देता था, लेकिन वो उससे एक लाख रुपये की मांग कर रही थी। रुपए न देने पर उसे दुष्कर्म के मामले में फंसाने की धमकी दे रही थी। आरोपी इसी से परेशान हो गया था। 26 जून को उसने मृतका को 40 हजार रुपए देने की बात कही थी और उसे अपने साथ लेकर नेवई आ गया था। उसने मृतका को पहले शराब पिलाई और उसके नशे में होने पर रस्सी से गला घोंटकर उसकी हत्या कर दी।

हत्या के लिए आरोपी ने पहले से ही रस्सी भी खरीद ली थी। उन्होंने मृतक के दो बच्चे हैं। जिसमें से बेटी की शादी हो चुकी है और बेटा 14 साल का है। फोटो वायरल होने के बाद मृतका के दामाद ने कपड़े, अंगूठी और पायल के आधार पर उसकी शिनाख्त की। शिनाख्ती के बाद संदेहियों को चिन्हित किया गया। एएसपी ने बताया कि आरोपित और उसका बेटा भागने ही वाले थे कि उन्हें सोमनी के पास से पकड़ा गया। मृतका का मोबाइल और टूटी हुई चूडिय़ां नेवई वाले मकान से जब्त की गई।