Latest News in Hindi

मोबाइल के लिए पत्नी ने जहर खाकर दे दी जान, पति ने काट लिया हाथ की नस, फिर हुआ ये सब...

By Dakshi Sahu

Sep, 12 2018 12:55:12 (IST)

पुलिस ने बताया कि मजदूरी करने वाले राजकुमार कोसरे (48) व सीता बाई कोसरे (40) के बीच विवाद चल रहा था। सीता घरों में खाना बनाती थी।

दुर्ग. फोन पर बात करने की मनाही करने से उपजे विवाद में आधी रात पत्नी ने आत्महत्या कर ली। पति ने भी जान देने की कोशिश की। दोनों हाथ की कलाई की नस काट ली। फिर अपना गला भी रेत लिया। उसे गंभीर हालत में जिला अस्पताल में दाखिल कराया गया है। घटना वृंदानगर शिवपारा बोरसी की है।

पति-पत्नी के बीच चल रहा था विवाद
पुलिस ने बताया कि मजदूरी करने वाले राजकुमार कोसरे (48) व सीता बाई कोसरे (40) के बीच विवाद चल रहा था। सीता घरों में खाना बनाती थी। काम से आने के बाद फोन पर लंबे समय तक बातचीत करती थी। इसी बात को लेकर दोनों के बीच विवाद चल रहा था। सोमवार की रात दोनों के बीच फिर विवाद हुआ।

आवेश में आकर पत्नी ने खा लिया जहर
विवाद इतना बढ़ा कि आवेश में आकर सीताबाई ने जहर खा लिया। विवाद के कारण राजकुमार ने भी जान देने की कोशिश की। उसने ब्लेड से हाथ का नस काट ली। फिर अपना गला भी रेत लिया। सीता ने कीटनाशक दवा खाई या चूहा मार दवा यह अभी स्पष्ट नहीं हुआ है। घटना का खुलासा मंगलवार को सुबह ९ बजे हुआ।

डायल 112 में दी सूचना
सूचना 112 में दी गई। सूचना मिलते ही प्रधान आरक्षक मोहन साहू राजकुमार के घर पहुंचा। खून से लथपथ राजकुमार तड़प रहा था। उसकी पत्नी सीताबाई बेडरूम में मृत पड़ी थी। प्रधान आरक्षक ने तत्काल राजकुमार को जिला अस्पताल पहुंचाया। उपचार के बाद उसे सर्जिकल वार्ड में भर्ती किया गया।

राजकुमार की दूसरी पत्नी थी सीता
सीताबाई राजकुमार की दूसरी पत्नी थी। पहली पत्नी की मृत्यु आठ साल पहले हो गई। सीताबाई भी अपने पहले पति को छोड़कर मायके में रहती थी। सीता का पहले पति से एक १२ साल का बेटा है। राजकुमार की पहली पत्नी से २ बेटे हैं। घटना के समय राजकुमार के बड़े बेटे दिनेश ने ही पुलिस को घटना की सूचना दी।

बेटे ने बताया किया था मारपीट
दिनेश ने पुलिस को बताया कि उसकी सौतेली मां काम से लौटने के बाद फोन पर बात करती थी। पांच दिन पहले पत्नी के साथ मारपीट की थी। जिसमें सीता के सिर पर चोटें आई थी। पुलिस ने आरोपी को न्यायालय में प्रस्तुत कर जेल दाखिल कराया था। जमानत पर सोमवार को ही जेल से रिहा हुआ था।