बलरामपुर मामलाः डीएम ने मृतका के परिवार को दिया 6.18 लाख का चेक, पोस्टमार्टम रिपोर्ट है हैरान करने वाली

|

Published: 01 Oct 2020, 05:19 PM IST

पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट (Postmortem Report) ऐसी है कि किसी भी रूह कांप जाए। मामले का संज्ञान लेते हुए बलरामपुर के डीएम (Balarampur DM) ने पीड़ित परिवार से मुलाकात की है और छह लाख 18 हजार 750 रुपए का चेक सहायता के रूप में दिया है।

balrampur gangrape postmortem report is shocking

बलरामपुर. यूपी में इन दिनों लागातार हो रही रेप (Rape) व हत्या (Murder) की घटनाएं इंसानियत को शर्मसार कर देने वाली हैं। हाथरस के बाद बलरामपुर में युवती संग गैंगरेप (Gangrape) की वारदात ने यूपी सरकार (UP Government) की कानून व्यवस्था (Law and Order) पर पुनः सवाल खड़े कर दिए हैं। इस मामले में भी युवती को बचाया नहीं जा सका। वहीं पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट ऐसी है कि किसी भी रूह कांप जाए। मामले का संज्ञान लेते हुए बलरामपुर के डीएम ने पीड़ित परिवार से मुलाकात की है और छह लाख 18 हजार 750 रुपए का चेक सहायता के रूप में दिया है।

ये भी पढ़ें- 15 अक्टूबर से खुलेंगे स्कूल-कॉलेज, यूपी में पहले इन कक्षाओं की आएगी बारी, इतने घंटे चलेंगी क्लासेस

आंत फटने से मौत-

युवती की पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट हैरान करने वाली है। रिपोर्ट के अनुसार पीड़िता छात्रा की मौत आंत फटने से हुई है। दुष्कर्म की पुष्टि के बाद छात्रा का स्पर्म जांच के लिए भेजा गया है। पोस्टमार्टम के लिए तीन चिकित्सकों का पैनल बनाया गया। बुधवार देर रात छात्रा की पोस्टमार्टम रिपोर्ट आई जिसमें गैंगरेप की पुष्टि हुई है। मौत का कारण आंत का फटना बताया गया है। छात्रा के शरीर में कई जगह हरे रंग के स्पॉट मिले। चिकित्सकों का कहना है कि यह निशान आंत में अत्यधिक रक्त जमा होने से शरीर पर उभर आए हैं। वहीं डीएम कृष्णा करुणेश के मुताबिक छात्रा के शरीर पर कहीं भी चोट के निशान नहीं मिले हैं।

ये भी पढ़ें- हाथरस मामला पहुंचा सुप्रीम कोर्ट, सीबीआई से जांच की उठी मांग

गुरुवार को जिलाधिकारी बलरामपुर व पुलिस अधीक्षक बलरामपुर ने देवीपाटन मंदिर तुलसीपुर के महंत मिथिलेश नाथ योगी के साथ पीड़ित परिवार के घर जाकर उनको सांत्वना दी। और पूरी विवेचना को शीघ्र निस्तारित करवाकर अभियुक्तों को प्रभावी पैरवी के द्वारा सजा दिलवाने की बात कही। छात्रा की मां को डीएम ने छह लाख 18 हजार 750 रुपए का चेक सहायता के रूप में दिया है।