बलरामपुर में दलित छात्रा के साथ हैवानियत, गैंगरेप के बाद तोड़ दी कमर और दोनों टांगे, आंत फटने से मौत

|

Updated: 01 Oct 2020, 05:10 PM IST

-6 घंटे तक 4 डॉक्टरों के पैनल ने किया पोस्टमार्टम
-घर से निकली थी बीकाम में एडमीशन लेने
-दो गिरफ्तार, डीएम ने परिवार को दी छह लाख की मदद

पत्रिका न्यूज नेटवर्क

बलरामपुर. हाथरस गैंगरेप के बाद अब बलरामपुर में एक और दिल दहला देने वाली घटना सामने आई है। यहां दरिंदों ने एक 22 साल की दलित छात्रा का अपहरण कर, उसे नशीला पदार्थ खिलाकर गैंगरेप किया। जब दरिंदों का मन भर गया तो पीडि़ता को देर शाम गंभीर हालत में रिक्शे पर लादकर घायल हालत में उसके घर भेज दिया। हैवानों ने उसकी कमर और दोनों टांगे भी तोड़ दी थीं। कुछ घंटों बाद उसकी मौत हो गई। पुलिस की मौजूदगी में देर रात शव का अंतिम संस्कार कर दिया गया।

बी.कॉम में एडमीशन लेने जा रही थी

युवती के परिजनों का कहना है कि वह सुबह करीब 10 बजे बी.कॉम में एडमीशन कराने घर से निकली। लेकिन शाम को करीब 5 बजे तक जब वह घर वापस नहीं लौटी तो खोजबीन शुरू हुई। करीब 7 बजे शाम को पीडि़त युवती एक रिक्शे पर लदकर बुरी तरह से घायल अवस्था में घर पहुंची। उसकी यह हालत देख घर वालों ने पूछताछ करने की कोशिश की तो वह दर्द से कराहने लगी। गांव के दो डॉक्टरों को दिखाने के बाद जैसे ही जिला मुख्यालय पर इलाज करवाने के लिए वे गांव से बाहर निकले तो कुछ दूर जाने के बाद छात्रा की मौत हो गई।

इंजेक्शन लगाकर की हैवानियत

जब पीड़िता घर पहुंची तो कीचड़ से लथपथ थी और उसके हाथ में ग्लूकोज चढ़ाने वाला वीगो लगा था। परिजनों ने जब गांव में पता करने की कोशिश की तो मालूम हुआ कि एक डॉक्टर को गांव के ही एक लड़के ने एक घर में उसके इलाज के लिए बुलाया था। एडमीशन कराकर लौट रही थी तभी गांव के ही 5 से 6 लड़कों ने उसका अपहरण कर लिया। एक घर में ले जाकर गैंगरेप की वारदात को अंजाम दिया। जिस रिक्शे पर युवती को घर पहुंचाया गया उसपर खून के धब्बे व रास्ते में उसकी जूती भी पाई गई है। मृतक युवती की मां का आरोप है कि उसकी बेटी के साथ इंजेक्शन लगाकर हैवानियत की वारदात को अंजाम देने के बाद उनकी बेटी की कमर व दोनों टांगों को तोड़कर रिक्शे पर बैठाकर घर भेज दिया गया जिसके बाद वो कुछ भी बोल नहीं पा रही थी। वह सिर्फ इतना कह पाई कि बहुत दर्द है अब मै बचूंगी नहीं।

मेधावी छात्रा थी

गैंगरेप की शिकार पीडि़त दलित छात्रा मेघावी थी और करीब दो साल से एक संस्था में कम्युनिटी रिसोर्स पर्सन के पद पर तैनात थी। वह किसानों को आधुनिक खेती करने के लिए जागरूक करने का काम भी करती थी। पुलिस ने युवती के शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। संयुक्त जिला चिकित्सालय स्थित पोस्टमार्टम हाउस में करीब 6 घंटे तक युवती का पोस्टमार्टम 4 डॉक्टरों के पैनल ने किया। गैंगरेप के बाद युवती के अंतरिक एवं बाहरी अंगों में काफी चोटें आई हैं, जिसके कारण उसकी मौत हुई।

दो गिरफ्तार, कार्रवाई जारी

बलरामपुर के पुलिस अधीक्षक देव रंजन वर्मा ने बताया कि इस मामले में छात्रा के भाई की तहरीर पर पुलिस ने दो नामजद लोगों पर रेप और हत्या का केस दर्ज कर लिया है। आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है। इस बीच बलरामपुर पुलिस ने एक ट्वीट में कहा कि उसके अंगों के टूटने की खबरें सच नहीं हैं और शव परीक्षण में इन चोटों की पुष्टि नहीं हुई है। पोस्टमार्टम में मौत आंत फटने से हुई है। दुष्कर्म की पुष्टि के बाद छात्रा का स्पर्म जांच के लिए भेजा गया है। गुरुवार को जिलाधिकारी बलरामपुर व पुलिस अधीक्षक बलरामपुर ने देवीपाटन मंदिर तुलसीपुर के महंत मिथिलेश नाथ योगी के साथ पीडि़त परिवार के घर जाकर छह लाख 18 हजार 750 रुपए का चेक राशि दी। छात्रा की मौत के बाद देर रात भारी पुलिस फोर्स के बीच दाह संस्कार कर दिया गया।

आजमगढ़ में आठ साल की बच्ची से दुष्कर्म

आजमगढ़ के एक गांव में आठ साल की बच्ची के साथ 20 वर्षीय युवक ने रेप किया। पीड़ित बच्ची के पिता एक दुकान चलाते हैं। पड़ोस के युवक दानिश की टेंट हाउस की दुकान है। उसका पीड़िता के घर पर आना जाना लगा रहता है। आरोपी बच्ची को बहला फुसला कर अपने साथ ले गया। आरोप है कि उसने दुकान के अंदर ले जाकर बच्ची के साथ दुष्कर्म किया। काफी देर बाद बालिका घर पहुंची। रक्त स्त्राव होने पर परिजन उसे पास के निजी अस्पताल ले गए जहां डॉक्टर ने दुष्कर्म होने की पुष्टि की। घटना के बारे में पूछने पर बालिका पूरी जानकारी दी। इसके बाद बालिका के दादा ने डायल 112 पर पुलिस को सूचना दी। मौके पर पहुंची पुलिस बालिका को लेकर सीएचसी अजमतगढ़ गई। बालिका की हालत देख कर डॉक्टर ने जिला अस्पताल के लिए रेफर कर दिया। आजमगढ़ के पुलिस अधीक्षक सुधीर कुमार सिंह ने कहा कि बच्ची की मां की शिकायत पर एफआईआर दर्ज कर ली गई है। इस मामले में आरोपी दानिश को गिरफ्तार कर लिया गया है।

फतेहपुर में बच्ची हुई लापता

फतेहपुर में सात साल की बच्ची को हैवानियत का शिकार बनाया गया। थाना प्रभारी निरीक्षक संदीप तिवारी ने बताया कि बच्ची अपने घर से कुछ दूरी पर खेल रही थी। कुछ देर बाद वह लापता हो गई। गांव वालों ने जब बच्ची को ढूंढा तो पता चला कि उसे पड़ोसी गांव के अनिल निषाद (20) ले गया है। बच्ची के रोने-चिल्लाने की आवाज सुनकर खेतों में काम कर रहे लोग जब वहां पहुंचे, तो उन्होंने बच्ची को आपत्तिजनक हालत में देखा। उन्होंने युवक को दौड़ाकर पकड़ लिया। उधर, गंभीर हालत में बच्ची को जिला महिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है, जहां पर उसकी हालत गंभीर बनी हुई है। थानाध्यक्ष संदीप तिवारी ने बताया कि आरोपी को पकड़ लिया गया है। उसने घटना करना स्वीकार किया है। बच्ची के पिता की तहरीर पर आरोपी के खिलाफ दुष्कर्म, पाक्सो एक्ट में रिपोर्ट दर्ज की गई है।

14 साल की नाबालिग से दुष्कर्म

बुलंदशहर में 14 साल की नाबालिग के साथ उसके पड़ोसी ने दुष्कर्म किया। नाबालिग युवती ने आरोप लगाया है कि नशीला पदार्थ सुंघाकर पड़ोसी ने उसके साथ दुष्कर्म किया। आरोप के मुताबिक, जब वो सो रही थी तो पड़ोस में रहने वाला एक युवक घर में आया और उसके साथ जबरदस्ती की। जब युवती ने शोर मचाने की कोशिश की तो आरोपी ने तेजाब डालने की धमकी दे दी। इस मामले में लड़के के पिता ने बुधवार रात को पुलिस में शिकायत दर्ज कराई है। पुलिस ने बताया कि लड़के के पिता ने पड़ोस के रहने वाले रिजवान (20) पर दुष्कर्म का आरोप लगाया है। पुलिस ने आरोपी रिजवान को गिरफ्तार कर लिया है।

10वीं की छात्रा के साथ दरिंदगी

अयोध्या में 10वीं की छात्रा के साथ पड़ोस के ही युवक पर दुष्कर्म का आरोप है। घटना 26 सितंबर की हैष पीड़िता की मां के अनुसार, पड़ोस में रहने वाला युवक चंद्रभान उनकी बेटी को मोटरसाइकिल पर बैठा कर लखनऊ ले गया था। आरोपी युवक के साथ उसका एक साथी भी था जो रास्ते में गाड़ी से उतर गया। जिसके बाद लखनऊ ले जाकर आरोपी युवक ने उनकी बेटी के साथ दुष्कर्म किया और 27 सितंबर को सुल्तानपुर जनपद के कूड़ेभार में लाकर छोड़ दिया। पीड़िता की मां के आधार पर मुकदमा दर्ज किया गया है। हालांकि, दुष्कर्म करने वाला आरोपी पड़ोसी फरार चल रहा है।

ये भी पढ़ें: UP Top Ten News: यूपी बोर्ड के मेधावियों को मिलेगी 80 हजार की स्कॉलरशिप

ये भी पढ़ें: हाथरस जैसी एक और हैवानियत, बलरामपुर में दुष्कर्म के बाद तोड़े पीड़िता के पैर और कमर, आजमगढ़, और फतेहपुर में भी दरिंदगी