रात में गर्लफ्रैंड से मिलने पहुंचा था युवक..सुबह सड़क पर मिली लाश, जानिए पूरा मामला

|

Published: 08 Aug 2020, 11:07 PM IST

5 अगस्त को सड़क किनारे मिली लाश की गुत्थी सुलझी, 6 युवक गिरफ्तार, चोर समझकर की थी हत्या..

बालाघाट. बालाघाट जिले से लगे कुम्हारी गांव में 5 अगस्त मिली युवक की लाश की गुत्थी पुलिस ने सुलझा ली है। युवक की शिनाख्त कमलेश उर्फ विक्की मेश्राम के तौर पर हुई थी जिसे गला दबाकर मारा गया था। पुलिस की तफ्तीश में जो सच निकलकर सामने आया है उसे जानकर आप हैरान रह जाएंगे। पुलिस ने कमलेश की हत्या करने वाले 6 आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। जिन्होंने पूछताछ में बताया है कि उन्होंने पहले तो कमलेश के साथ मारपीट की थी और फिर उसकी गला दबाकर हत्या कर दी थी।

 

मोबाइल ने खोला मर्डर का राज ?
कमलेश की लाश मिलने के बाद से ही पुलिस मामले की बारीकी से तफ्तीश कर रही थी इसी दौरान जब उसने मृतक कमलेश के मोबाइल की जांच की तो पाया कि कमलेश की बात संजू से हो रही थी जो उसका दोस्त था पुलिस ने संजू से पूछताछ की तो उसने बताया कि वो कमलेश के साथ 4 अगस्त की रात अपने दोस्त रितेश की जन्मदिन की पार्टी में गया था वहीं से रात में कमलेश उसे साथ लेकर अपनी गर्लफ्रैंड के गांव ले गया था जहां कमलेश और उसकी गर्लफ्रैंड मिल रहे थे और वो दूर खड़ा था लेकिन इसी दौरान कुछ लोग उसकी तरफ भागते हुए आए जिससे वो डर गया और गाड़ी लेकर वहां से फरार हो गया। संजू के बताए अनुसार जब पुलिस ने युवती से पूछताछ की तो पता चला कि गांव के ही कुछ युवक उनका पीछा कर रहे थे इसी दौरान कमलेश ठोकर खाकर गिर गया था। किसी तरह युवती गांववालों से बचकर छिप गई थी लेकिन कमलेश गांववालों के हाथ लग गया था और उन्होंने चोर समझकर उसकी बेरहमी से पिटाई की थी। युवती ने गांव के ही युवक दीनू उर्फ राजकुमार का नाम मारपीट करने वाले युवकों में लिया था और इस आधार पर जब पुलिस ने दीनू को पकड़कर पूछताछ की तो उसने जुर्म कबूल लिया। उसने बताया कि वो कमलेश को चोर समझे थे और इसलिए उसके साथ मारपीट की और फिर गला दबाकर उसकी हत्या कर लाश को सड़क पर छोड़कर फरार हो गए थे। पुलिस ने दीनू के साथ ही गांव के ही रहने वाले पांच और युवकों को गिरफ्तार कर लिया है जो वारदात में शामिल थे।