बेटे की नदी में डूबने से मौत, घटना बताने थाने पहुंचा पिता, पुलिस ने पिता को हिरासत में लिया

|

Published: 30 May 2020, 09:37 AM IST

पुलिस ने नदी से प्रतीक का शव बरामद कर लिया है।

बालाघाट. मध्यप्रदेश के बालाघाट जिले में दिल को दहला देने वाला मामला सामने आया है। यहां एक पिता को अपने ही बेटे की हत्या का संदिग्ध मानकर हिरासत में लिया गया है। बताया जा रहा है कि पिता ने बेटे की नदी में डूबाकर हत्या कर दी और फिर खुद पुलिस स्टेशन पहुंचकर अपना गुनाह कबूल किया।

पुलिस के अनुसार, मृतक प्रतीक के गले में बेल्ट बांधकर उसे डुबाए जाने की जानकारी सामने आ रही है। इसके आधार पर मृतक के पिता को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है। शुर्रवार की दोपहर मृतक प्रतीक अपने पिता के साथ नहाने के लिए वैनगंगा नदी के छोटे पुलिया पर गया था। इस दौरान प्रतीक की पानी में डूबने से मौत हो गई।

पिता ने स्वयं दी जानकारी
बेटे प्रतीक की मौत की जानकारी खुद थाने पहुंचकर पिता ने दी। पुलिस ने मौके पर पहुंचकर पंचनामा कार्रवाई करते हुए शव को बाहर निकाला। बेटे की हत्या का शक पिता पर होने के कारण पुलिस ने सुनील को हिरासत में ले लिया है। बताया जा रहा है कि बेरोजगारी से तंग एक पिता ने वंश खत्म करने के लिए 8 साल के इकलौते बेटे को वैनगंगा नदी में डुबाकर मार डाला। इसके लिए पहले उसने बच्चे के दोनों हाथ बांध दिए थे।

मानसिक रूप से विक्षिप्त है पिता
पिता का नाम सुनीश जायसवाल है। सुनील 10 सालों से मानसिक रूप से कमजोर है और घर पर ही रहता है। बताया जा रहा है कि पिता शुक्रवार को बेटे के साथ वैनगंगा नदी में नहाने गया था। इस दौरान उसकी मौत हो गई। आरोपी पिता सुनील जायसवाल सरस्वती नगर इलाके में परिवार के साथ रहता है। आरोपी ने पुलिस को बताया कि उसके पास कोई काम धंधा नहीं था। बेटे और परिवार को कैसे पालता। पुलिस ने नदी से उसके बेटे प्रतीक का शव बरामद कर लिया है।

लॉकडाउन के कारण लोगों को मुश्किलें
बता दें कि कोरोना वायरस के कारण देश में चौथे चरण का लॉकडाउन लगा हुआ है। लॉकडाउन के कारण लोगों के सामने रोजगार की दिक्कत हैं।