फोन टैपिंग मामले में पाकिस्तान भी कूदा, कहा- इमरान खान की जासूसी करा रहा भारत

|

Published: 20 Jul 2021, 06:31 PM IST

इजराइल की साइबर सुरक्षा कंपनी एनएसओ के स्पाईवेयर पेगासस को लेकर भारत में बवाल मचा हुआ है। इस साफ्टवेयर से इमरान खान के फोन को टैप करने का दावा किया गया है।

नई दिल्ली। देश में फोन टैपिंग (phone tapping) मामले ने तूल पकड़ लिया है। मगर इसकी गूंज अब पाकिस्तान (Pakistan) से भी सुनाई देने लगी है। इजराइल की साइबर सुरक्षा कंपनी एनएसओ के स्पाईवेयर पेगासस (Pegasus) को लेकर देश में बवाल मचा हुआ है। देश में इसके जरिए पत्रकारों और कई चर्चित हस्तियों के फोन की जासूसी का दावा किया गया है।

ये भी पढ़ें: दुनिया के सबसे गरीब देश नाइजर में कोरोना के मामले न के बराबर, वैज्ञानिकों ने जताई हैरानी

अब इस विवाद में पाकिस्तान ने भी एंट्री मारी है। पाकिस्तान के पीएम इमरान खान के फोन को भी इजराइली सॉफ्टवेयर के जरिए टैप करने का दावा किया गया है। पाकिस्तान ने इसे लेकर भारत पर आरोप मढ़ा है। इसके साथ कहा है कि वह इस मुद्दे को बड़े मंच पर उठाएगा।

भारत पर इमरान के फोन की जासूसी के आरोप

पाकिस्तान के सूचना मंत्री फवाद चौधरी ने इमरान खान के फोन की जासूसी को लेकर कहा कि "हम भारत द्वारा हैकिंग के ब्योरे का इंतजार कर रहे हैं।" उन्होंने कहा कि एक बार पूरी जानकारी सामने आ जाए, इसके बाद इस मुद्दे को उचित मंचों पर उठाया जाएगा। इससे पहले ट्वीट में चौधरी ने उन रिपोर्टों को लेकर चिंता जताई थी, जिसमे बताया गया था कि भारत सरकार ने कथित रूप से पत्रकारों और राजनीतिक विरोधियों की जासूसी को लेकर लिए इजरायल के सॉफ्टवेयर का उपयोग किया गया।

ये भी पढ़ें: उत्तर कोरिया के नए कानून को न मानने पर मिलेगी मौत की सजा, देश में इस हरकत पर लगाया बैन

पेगासस पर भारत में सियासी तूफान

गौरतलब है कि पेगासस जासूसी मामले के सामने आने के बाद से सियासी तूफान खड़ा हो गया है। विपक्ष ने संसद में इस मुद्दे को सरकार पर हमला बोला है। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी का नंबर भी इस लिस्ट में पाया गया है। हालांकि, 2019 में इस मुद्दे के उठने के बाद भारत सरकार ने पेगासस सॉफ्टवेयर के उपयोग से इनकार किया था। अब केंद्र सरकार ने इस मामले को उठाने की टाइमिंग पर सवाल किया है।