Pakistan: Imran Khan के करीबी का सनसनीखेज खुलासा, नेपाल में मोदी-शरीफ ने की थी गुप्त मीटिंग

|

Updated: 04 Oct 2020, 09:15 PM IST

HIGHLIGHTS

  • पाकिस्तान के पीएम इमरान खान ( Pakistan PM Imran Khan ) के राजनीतिक सलाहकर शाहबाज गिल ने नवाज शरीफ पर आरोप लगाया है कि उन्होंने भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ( PM Narendra Modi ) के साथ एक गुप्त मीटिंग की थी।
  • उन्होंने दावा किया कि नवाज शरीफ ने रक्षा संस्थाओं को किनारे करके मोदी और जिंदल से अकेले में मुलाकात की थी।

इस्लामाबाद। पाकिस्तान में सेना और प्रधानमंत्री इमरान खान ( PM Imran Khan ) के बीच चल रही खींचतान के बीच सियासी हलचल तेज हो गई है। पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ की राजनीति में वापसी करने के संकेत दे दिए हैं और अब पीएम इमरान खान लगातार एक के बाद एक आरोप लगाते हुए हमला बोल रहे हैं।

बीते दिनों सेना को लेकर दिए अपने बयान से इमरान खान घिरते नजर आए तो अब डेमेज कंट्रोल करने के लिए प्रधानमंत्री इमरान खान के राजनीतिक सलाहकार ने एक बयान देते हुए सनसनीखेज खुलासा किया है। इस खुलासे के बाद से पाकिस्तान की सियासत में हड़कंप मच गया है।

Pakistan: लाहौर गैंगरेप के विरोध में सड़कों पर उतरे लोग, कोर्ट ने मीडिया रिपोर्टिंग पर लगाया बैन

दरअसल, इमरान खान के राजनीतिक सलाहकर शाहबाज गिल ( Shahbaz Gill, Imran Khan's Political Advisor ) ने नवाज शरीफ पर आरोप लगाया है कि उन्होंने भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ एक गुप्त मीटिंग की थी। उन्होंने दावा किया कि नवाज शरीफ और नरेंद्र मोदी ( Nawaz Sharif And Narendra Modi Secret Meeting ) के बीच यह गुप्त मुलाकात नेपाल में हुई थी।

मोदी और जिंदल से की थी मुलाकात

भारतीय पत्रकार बरखा दत्त की एक किताब का जिक्र करते हुए गिल ने कहा कि नवाज शरीफ ने नेपाल की राजधानी काठमांडू में मोदी के साथ सीक्रेट मीटिंग की थी। गिल ने कहा कि उस दौरान नवाज शरीफ ने पाकिस्तानी डिप्लोमैट्स को आदेश दिया था कि वे भारत के खिलाफ कोई बयान ना दें। उन्होंने दावा किया कि नवाज शरीफ ने रक्षा संस्थाओं को किनारे करके मोदी और जिंदल से अकेले में मुलाकात की थी। जब उनसे सवाल किए गए तो उन्होंने सेना को टारगेट करना शुरू कर दिया और लोकतंत्र के नारे लगाने लगे।

शाहबाज ने कहा कि नवाज शरीफ पाकिस्तान के विरोधी नहीं हैं, लेकिन वे संकीर्ण मानसिकता वाले एक व्यवसायी हैं। क्या कोई पाकिस्तानी बिजनेसमैन भारत के प्रधानमंत्री मोदी से गुप्त तरीके से मिल सकता है? लेकिन ये सच है कि विदेश विभाग को बिना सूचना दिए नवाज शरीफ ने नेपाल में नरेंद्र मोदी से गुप्त बैठक की थी। फिलहाल, शाहबाज ने ये नहीं बताया है कि दोनों के बीच बैठक में क्या बात हुई थी और कब हुई थी।

नवाज शरीफ का भारत के साथ व्यापारिक संबंध

शाहबाज गिल ने आगे आरोप लगाया कि नवाज शरीफ का भारतीय व्यवसायिक घरानों से व्यक्तिगत व्यापारिक संबंध है। उन्हें इन संपर्कों से काफी फायदा हुआ है। उन्होंने एक गंभीर आरोप लगाते हुए कहा कि पाकिस्तान अवामी तहरीक के नेता अल्लामा ताहिर उल कादरी को अदालत में पेश नहीं किया था, क्योंकि उन्होंने ही नवाज शरीफ के भारत के साथ कथित संबंधों के बारे में खुलासा किया था।

Pakistan: पीएम इमरान का आर्मी पर बड़ा हमला, कहा- मुझसे पूछे बिना कोई सेना प्रमुख कारगिल युद्ध करता तो सबक सिखाता

बता दें कि इससे पहले पाकिस्तान के रेल मंत्री शेख रशीद ने भी नवाज शरीफ को लेकर बड़ा बयान दिया था। उन्होंने नवाज शरीफ को भारत का एजेंट तक बता दिया था। रशीद ने आरोप लगाया था कि जब देश में विपक्षी दलों का पाकिस्‍तानी सेना प्रमुख जनरल कमर जावेद बाजवा के साथ मुलाकात का मामला गरम होता जा रहा है, वैसे समय में नवाज शरीफ भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से फोन पर बात करते हैं।

बीते दिनों प्रधानमंत्री इमरान खान ने भी बड़ा आरोप लगाते हुए कहा था कि नवाज शरीफ देश की सेना की आलोचना करते हैं और भारत का पक्ष लेते हैं। उन्होंने कहा था कि भारत के इशारों पर नवाज शरीफ सेना के खिलाफ बयान दे रहे हैं।