पाकिस्तान: सरकारी आदेश का पालन न करने वाले 25 शिक्षण संस्थाओं पर गिरी गाज, लाइसेंस रद्द

|

Updated: 03 Mar 2020, 08:45 AM IST

  • सिंध सरकार ( Sindh Government ) ने 13 मार्च तक के लिए शिक्षण संस्थानों ( educational institutions ) को बंद रखने का आदेश दिया
  • सरकार के आदेश का अनुपालन न करने वाले संस्थानों पर कार्रवाई की है
  • पाकिस्तान में कोरोना वायरस ( Coronavirus ) के अब तक चार मामले सामने आ चुके हैं

कराची। जानलेवा कोरोना वायरस के प्रकोप ( coronavirus outbreak ) से दुनिया भर में हाहाकार मचा हुआ है। ये वायरस चीन के वुहान शहर ( Wuhan City ) से निकलकर दुनिया के 60 से अधिक देशों में पैर पसार चुका है, जिनमें पाकिस्तान ( Pakistan ) भी शामिल है।

पाकिस्तान में कोरोना वायरस के अब तक चार मामले सामने आए हैं। इसको फैलने से रोकने के लिए सरकार ने सख्त आदेश जारी किए हैं। इस बीच पाकिस्तान के कराची से एक बड़ी खबर सामने आई है।

दुनियाभर में Coronavirus का बढ़ता आतंक, अब तक 2900 से अधिक की मौत, जानें कहां-कहां है वायरस का प्रकोप

दरअसल, पाकिस्तान के कराची ( Karachi ) में सोमवार को 25 शिक्षण संस्थाओं पर कड़ी कार्रवाई की गई है। ये कार्रवाई सरकार के आदेश की अवहेलना करने को लेकर की गई है। सरकार ने इन सभी शिक्षण संस्थानों का लाइसेंस रद्द कर दिया है। बता दें कि कोरोना वायरस के प्रभाव को देखते हुए सिंध सरकार ( Sindh government's order )ने एक दिन पहले ही संस्थानों को बंद रखने का आदेश दिया था।

13 मार्च तक सभी संस्थान बंद रखने के आदेश

आपको बता दें कि सिंध के मुख्यमंत्री सैयद मुराद अली शाह ( Chief Minister Syed Murad Ali Shah ) ने रविवार को कराची में कोरोनो वायरस पर टास्क फोर्स की एक बैठक की अध्यक्षता करते हुए 13 मार्च तक बंद पूरे प्रांत में ट्यूशन और कोचिंग सेंटर सहित सभी शैक्षणिक संस्थानों को बंद रखने का आदेश दिया था।

सीएम शान ने कहा था कि आदेश का उल्लंघन करने वाले शिक्षण संस्थानों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी, जो इस आपातकाल के समय में बहुत ही महत्वर्ण है। सोमवार को इस बाबत प्रांतीय शिक्षा और साक्षरता विभाग ने निजी संस्थानों के महानिदेशक डॉ. मानसोब हुसैन सिद्दीकी की ओर से एक प्रेस रिलीज जारी किया।

ASEAN बैठक पर Coronavirus का असर, अमरीका ने स्थगित की मीटिंग

इसमें कहा गया कि शहर के कुछ हिस्सों में एक निरीक्षण किया गया, जिसमें कोरंगी, लांधी, गुलशन-ए-हदीद, नजीमाबाद और उत्तरी कराची में लगभग 25 स्कूल खुले पाए गए। इन सभी स्कूलों के लाइसेंस को तत्काल प्रभाव से रद्द कर दिया गया है। इसके अलावा माध्यमिक शिक्षा बोर्ड के अध्यक्ष को भी स्कूलों के खिलाफ कार्रवाई करने की सिफारिश की गई है।

प्रेस विज्ञप्ति में आगे कहा गया है कि शैक्षणिक संस्थानों के प्रमुखों को निजी संस्थानों के लिए महानिदेशक के कार्यालय में बुलाया गया है, जिसके बाद संबंधित डिप्टी कमिश्नर उनके पंजीकरण को रद्द करने और संस्थानों के परिसर को सील करने का फैसला करेंगे।

पाकिस्तान में कोरोना वायरस के चार मामले

आपको बता दें कि पाकिस्तान में कोरोना वायरस के अब तक चार मामले सामने आ चुके हैं। बीते सप्ताह पाकिस्तान ने पहले दो मामलों की पुष्टि की थी, जो कि एक दक्षिण सिंध प्रांत और दूसरा इस्लामाबाद से सामने आया था। इसके तुरंत बाद, सिंध सरकार हरकत में आ गई और दो दिन (27 फरवरी और 28 फरवरी) के लिए प्रांत में सभी शैक्षणिक संस्थानों को बंद करने का आदेश दिया था।

दक्षिण कोरिया में Coronavirus का बढ़ता प्रकोप, 2931 तक पहुंची संक्रमितों की संख्या

बाद में कोरोना वायरस के प्रभाव को देखते हुए रविवार को 13 मार्च तक के लिए सभी शैक्षणिक संस्थानों को बंद रखने की सीमा बढ़ा दी गई। बलूचिस्तान शिक्षा विभाग की ओर से 15 मार्च तक सरकारी और निजी स्कूलों को बंद करने का आदेश दिया है। साथ ही माध्यमिक स्कूल परीक्षाओं को भी स्थगित कर दिया है।

फिलहाल अब दो नए मामले सामने आने के बाद से पाकिस्तान में कोरोना वायरस के कुल चार मामलों की पुष्टि हो गई है। इसमें से दो सिंध प्रांत का है, जबकि कराची में पहला मामला सामने आया है। मालूम हो कि ईरान से लौटे एक शख्स की वजह से पाकिस्तान में वायरस पहुंचा है।

Read the Latest World News on Patrika.com. पढ़ें सबसे पहले World News in Hindi पत्रिका डॉट कॉम पर. विश्व से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter पर.