India के खिलाफ Pakistan-China की साजिश! President Xi Jinping जल्द जाएंगे Islamabad

|

Updated: 13 Aug 2020, 08:43 AM IST

HIGHLIGHTS

  • लद्दाख सीमा ( Ladakh Border ) पर भारत से तनाव के बीच चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग ( Chinese President Xi Jinping ) बहुत जल्द पाकिस्तान दौरे पर जाएंगें।
  • शी जिनपिंग के पाकिस्तान दौरे ( Xi Jinping Pakistan Visit ) के दौरान दोनों देशों में के बीच सैन्य और व्यापार के क्षेत्र में कई बड़े समझौते होने की संभावना है।

बीजिंग। लद्दाख सीमा ( Ladakh Border ) पर भारत-चीन में बढ़ते तनाव के बीच चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग ( Chinese President Xi Jinping ) बहुत जल्द ही पाकिस्तान दौरे ( Pakistan Visit ) पर जाने वाले हैं। माना जा रहा है कि भारत के खिलाफ पाकिस्तान-चीन ( Pakistan China ) एक साझी रणनीति पर काम कर रहे हैं।

लद्दाख सीमा पर भारत की बढ़ती सैन्य ताकत के मद्दनेजर पाकिस्तान और चीन में घबराबट बढ़ गई है। ऐसे में दोनों देश साथ मिलकर भारत के खिलाफ व्यापक रणनीति बनाने पर विचार विमर्श करेंगे। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, शी जिनपिंग के पाकिस्तान दौरे के दौरान दोनों देशों में के बीच सैन्य और व्यापार ( Military and Trade Agreement ) के क्षेत्र में कई बड़े समझौते होने की संभावना है।

India के खिलाफ China से नजदिकियां PAK के लिए खड़ी कर सकती हैं मुश्किलें, इमरान सरकार पर बढ़ा दबाव

शी जिनपिंग अपनी यात्रा के दौरान इस्लामाबाद में पाकिस्तान-चीन की वार्षिक उच्च स्तरीय रणनीतिक परिषद की बैठक में भी शामिल होंगे।

2015 में पाकिस्तान गए थे जिनपिंग

आपको बता दें कि राष्ट्रपति बनने के बाद शी जिनपिंग दूसरी बार पाकिस्तान के दौरे पर जाएंगे। इससे पहले वे 2015 में इस्लामाबाद का दौरा कर चुके हैं। बताया जा रहा है कि शी जिनपिंग जून में का पाकिस्तान दौरा करने वाले थे, लेकिन कोरोना महामारी ( Corona Epidemic ) के कारण यह दौरा रद्द हो गया।

चीनी सरकारी मीडिया के मुताबिक, फिलहाल राष्ट्रपति जिनपिंग के पाकिस्तान दौरे की तारीख तय नहीं हुई है। राष्ट्रपति शी के इस दौरे को ऐतिहासिक और भव्य बनाने के लिए पाकिस्तान और चीन के अधिकारी लगातार वार्ता कर रहे हैं।

यूरोपीय थिंक टैंक का दावा- Pakistan पर America को अब नहीं रहा भरोसा, China के खिलाफ बड़ी लड़ाई को तैयार

बता दें कि जब 2015 में जिनपिंग पाकिस्तान दौरे पर इस्लामाबाद पहुंचे थे तब चीन-पाक इकनॉमिक कॉरिडोर ( Pakistan China Economic Corridor ) को लेकर दोनों देशों में 51 समझौते हुए थे। मालूम हो कि कोरोना संक्रमण के बीच यानी 2020 में शी जिनपिंग की यह दूसरी विदेश यात्रा होगी। इससे पहले वे जनवरी में म्यांमार के दौरे पर गए थे।

जम्मू-कश्मीर और लद्दाख पर हो सकती है चर्चा

ऐसा समझा जा रहा है कि हाल के समय में कोरोना और सीमा विवाद को लेकर दक्षिण एशियाई देशों ( South Asian countries ) के साथ चीन के संबंध थोड़े खराब हुए हैं। इसमें भारत सबसे बड़ा देश है। कश्मीर को लेकर पाकिस्तान भारत में पहले से ही विवाद है और अब लद्दाख को लेकर चीन-भारत में ठन गई है।

भारत सरकार की ओर से जम्मू-कश्मीर ( Jammu Kashmir ) से अनुच्छेद 370 ( Article 370 ) के हटाने और दो केंद्र शासित प्रदेश (जम्मू-कश्मीर और लद्दाख) में विभाजित करने पर चीन और पाकिस्तान ने आपत्ति जताई थी। हालांकि भारत ने साफ कर दिया था के ये हमारा आंतरिक मामला है।

इसके बाद से पाकिस्तान और चीन भारत के खिलाफ सीमा पर साजिशें रच रहे हैं। ऐसे में पाकिस्तान के पीएम इमरान खान ( Pakistan PM Imran Khan ) और शी जिनपिंग के बीच मुलाकात भारत के लिए परेशानी का सबब बन सकता है। दोनों नेता जम्मू-कश्मीर और लद्दाख को लेकर चर्चा कर सकेत हैं। हालांकि सीमा पर भारत के बढ़ती सैन्य ताकत से भी दोनों देश परेशान हैं।