Nepal: कोरोना के कारण गंभीर मरीजों को इलाज कराना हुआ मुश्किल,अस्पतालों में लग रहीं लाइनें

|

Published: 19 Oct 2020, 08:40 PM IST

Highlights

  • अस्पताल (Hospital) में एक मरीज 12 घंटे तक बिस्तर का इंतजार करता हुआ मिला।
  • मरीज निमोनिया के साथ दूसरी बीमारियो से ग्रस्त पाए गए हैं।

काठमांडू। नेपाल (Nepal) में कोरोना संक्रमित मामलों में अचानक आई तेजी के कारण यहां की आम जनता को दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। ऐसे में गंभीर मरीजों को इलाज के लिए बिस्तर नहीं मिल रहे हैं। एक अस्पताल में तो एक मरीज 12 घंटे तक बिस्तर का इंतजार करता हुआ मिला।

Azerbaijan के राष्ट्रपति का दावा, अराकेज नदी पर बने पुल को तीन दशक बाद छुड़ाया

मरीज गंभीर अवस्था में आते हैं

इस दौरान कई मरीजों ने इलाज न मिलने के कारण दम तोड़ दिया है। कई अस्पतालों का यहीं हाल दिखाई दे रहा है। वहीं प्रधानमंत्री केपी शर्मा ओली की सरकार अपनी कुर्सी बचाने के लिए भारत विरोधी मुद्दों को उठा रही है। काठमांडू के धपासी में ग्रांडे इंटरनेशनल हॉस्पिटल के इमर्जेंसी डिपार्टमेंट के प्रमुख डॉ.अजय थापा का कहना है कि यहां पर दर्जनों मरीज गंभीर अवस्था में आते हैं। इन्हें भर्ती करना मुश्किल हो जाता है। ऐसे में कभी-कभी मरीजों को लंबा इंतजार करना पड़ता है।

मृत्यु दर में वृद्धि हो सकती है

काठमांडू पोस्ट की एक रिपोर्ट के अनुसार डॉक्टरों का कहना है कि यदि मरीजों को इमर्जेंसी से चार घंटे के भीतर वार्डों में नहीं भेजा गया तो मृत्यु दर में वृद्धि हो सकती है। स्वास्थ्य कर्मचारी मरीजों पर उचित ध्यान नहीं दे रहे हैं। उन्हें एक साथ बड़ी संख्या में मरीजों को देखना पड़ रहा है।

थापा के अनुसार हम मरीजों को दूसरे स्वास्थ्य केंद्रों में जाने की सलाह देते हैं, लेकिन वे नहीं जानते हैं कि कहां जाना है। थापा नेपालीज सोसायटी ऑफ इमर्जेंसी फिजिशियन के चेयरमैन भी हैं। उन्होंने कहा कि सभी मरीज जो इमर्जेंसी में वार्ड का इंताजर कर रहे हैं, उनकी जान को खतरा है। वे निमोनिया के साथ दूसरी बीमारियो से ग्रस्त पाए गए हैं।

Karachi: नवाज शरीफ के दामाद कैप्टन सफदर को किया गिरफ्तार, गंभीर आरोप लगाए

सुविधाएं कम पड़ रही हैं

डॉक्टरों का कहना है कि कोरोना वायरस संक्रमितों की संख्या तेजी से बढ़ने के कारण लोगों के जरूरी इलाज में देरी हो रही है। काठमांडू घाटी में,कोविड-19 इलाज के लिए सुविधाएं कम पड़ रही हैं। ऐसे में गंभीर रूप से बीमार लोग अपनी बारी का इंतजार करने पर मजबूर हैं।

नेपाल में अब तक एक लाख से अधिक लोग कोरोना पॉजिटिव पाए जा चुके हैं, जबकि 739 लोगों की मौत हो चुकी है। बीते 24 घंटे में 2,942 लोग संक्रमित पाए गए हैं, इनमें से 1,698 लोग काठमांडू घाटी में संक्रमित मिले हैं।