Pulwama हमलावरों को छिपा रहा पाकिस्तान, भारत के लगातार सबूत देने के बावजूद नहीं हुई कार्रवाई

|

Updated: 28 Aug 2020, 10:01 AM IST

Highlights

  • विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अनुराग श्रीवास्तव (Anurag Srivastava) के अनुसार पुलवामा हमले की डेढ़ साल तक जांच के बाद चार्जशीट दायर की गई है।
  • प्रवक्ता ने कहा कि पाकिस्तान (Pakistan) विश्व समुदाय को लगातार गुमराह करता रहा है।

नई दिल्ली। पुलवामा हमले (Pulwama Attack) का मास्टरमाइंड (Mastermind) आज भी पाकिस्तान में बैठा हुआ है। पाक उसे बचाने का काम कर रहा है। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अनुराग श्रीवास्तव (Anurag Srivastava) ने गुरुवार को एक प्रेसवार्ता के दौरान कहा कि पाक कलई खुल चुकी है। पूरी दुनिया जान चुकी है कि पाकिस्तान (Pakistan) आतंकवादियों को गढ़ है। उन्होंने कहा कि पुलवामा हमले की डेढ़ साल तक जांच के बाद चार्जशीट (Chargesheet) दायर की गई है। इस तरह से पाक घिर गया है और आतंकियों के चेहरे से नकाब हट गए हैं।

गौरतलब है कि जैश-ए-मोहम्मद (Jaish e Mohammad) ने पुलवामा हमले की जिम्मेदारी ली थी। इसके सरगना पाकिस्तान में हैं। प्रवक्ता के अनुसार यह अफसोसजनक है कि अभी भी मसूद अजहर (Masood Azhar) समेत दूसरे आतंकियों को पाक में पनाह मिलती रही है। उन्होंने कहा कि भारत लगातार सबूतों को पाकिस्तान से साझा करता रहा है, मगर वह हमेशा जिम्मेदारी से भागता है।

दाउद इब्राहिम (Dawood Ibrahim) पर पूछे गए सवाल के जवाब में प्रवक्ता ने कहा कि पाकिस्तान विश्व समुदाय को लगातार गुमराह करता रहा है। उसे यह तय करना होगा कि जो भी इस तरह के मामलों में शामिल है, उसे सजा दी जाए। मगर यह साबित हो चुका है कि वह अंतरराष्ट्रीय आतंकवादियों के खिलाफ कार्रवाई की हिम्मत नहीं रखता है।

चीन के साथ बातचीत जारी

लद्दाख में चीन के साथ एलएसी पर बातचीत जारी है। विदेश मंत्रालय प्रवक्ता के अनुसार बीते हफ्ते भारत-चीन सीमा मामलों की परामर्श एवं समन्वय समिति (डब्ल्यूएमसीसी) की 18 वीं बैठक हुई। बैठक में दोनों पक्षों ने सीमा पर हालात पर खास चर्चा की। दोनों पक्षों ने समझौते कर एलएसी पर सैनिकों को हटाकर पहले की तरह की स्थिति बहाल करने की बात दोहराई है।

वंदेभारत का छठवां चरण जारी

श्रीवास्तव के अनुसार वंदेभारत मिशन का छठा चरण एक सितंबर 2020 से शुरू होने वाला है। छठवें चरण के तहत एयर इंडिया की 31 वीं उड़ान तैयार है। कनाडा के टोरंटो शहर से 17 और वैंकूवर से 13 फ्लाइट उड़ान भरेंगी। हालांकि मांग के लिहाज से तय समय में बदलाव होने की संभावना बनी हुई है।