सुहागरात वाले दिन घूंघट उठाते ही दूल्हे के उड़ गए होश, दुल्हन की जगह निकली किन्नर

|

Updated: 16 Mar 2020, 02:27 PM IST

Highlights

-जैसे ही घूंघट खोला तो उसकी पैरों के तले से जमीन खिसक गई
- सुहाग रात में उसको पता चला कि उसने जिससे शादी की है, वह किन्‍नर है
-शर्म के मारे किसी से कुछ नहीं कहा

इस्‍लामाबाद. लोग शादी के अवसर पर नाच गा रहे थे। बारात बैंडबाजे के साथ लड़की की दरवाजे पहुंची, दोनों समधी गले मिलकर एक दूसरे को बधाई दी। विवाह की रश्मों के बाद नई-नवेली दुल्हन ससुराल आ गई। दोस्तों और परिजनों से मिलने के बाद दूल्हा-दुल्हन के पास पहुंचा और जैसे ही घूंघट खोला तो उसकी पैरों के तले से जमीन खिसक गई, वो औरत न होकर किन्नर निकली। पाकिस्तान के पंजाब के एक इलाके झेलम में एक शादी इन दिनों चर्चा का विषय बनी है, क्योंकि दूल्हे को सुहागरात पर दुल्हन का किन्नर होने का पता चला। ये जानने के बाद दूल्हे के होश उड़ गए। पाकिस्ताव में छपी एक खबर के मुताबिक हाल में सज्जाद नाम के एक शख्स की शादी नाजिया नाम की एक लड़की से करवाई गई थी।

दो दिन पहले ही हुई थी शादी

जानकारी के मुताबिक झेलम के काला गुजरां में सज्जाद नाम के एक व्‍यक्ति की शादी हुई थी। मगर शादी की रात ही दुल्‍हन को उसके मायके भेज दिया गया। दूल्‍हे ने शर्म की वजह से किसी को यह बात नहीं बताई कि उसकी जिससे शादी कराई गई है वह असल में लड़की नहीं, किन्‍नर है। बताया गया है कि दो दिन पहले ही सज्जाद ने सुहावा की रहने वाली नाजिया से हुई थी।

बहाना बनाकर भेजा मायके

जब रस्‍मों के बाद दूल्‍हा अपनी पत्‍नी को ब्‍याह कर घर ले आया, तो सुहाग रात में उसको पता चला कि उसने जिससे शादी की है, वह किन्‍नर है। शर्म के मारे किसी से कुछ नहीं कहा। इसके बाद उसने सब रिश्‍तेदारों से बहाना बना कर अपनी पत्‍नी को उसके मायके भेज दिया। इसके बाद जब परिवार के लोग और रिश्‍तेदार उससे दुल्‍हन को इतनी जल्‍दी मायके भेजने की वजह पूछते रहे तो उसने बताया कि 'उसकी पत्‍नी लड़की नहीं, किन्‍नर है।'

की थी दूसरी शादी

जानकारी के मुताबिक उसकी पहली पत्‍नी की मृत्‍यु हो चुकी है और अपने बच्‍चों की देखभाल के लिए अपनी दूसरी शादी की थी। ताकि उसके घर और बच्‍चों की देखभाल हो सके।' उसके करीबी रिश्‍तेदारों का कहना है कि सज्‍जाद का रिश्‍ता उसके पीर ने तय कराया था। इसके बाद सज्‍जाद ने अपनी दुल्‍हन के बारे में ज्‍यादा छानबीन करना मुनासिब नहीं समझा और शादी हो गई।