इमरान खान का विवादित बयान, कश्मीरी तय करें कि वे पाकिस्तान के साथ जाएंगे या एक आजाद मुल्क बनना चाहेंगे

|

Published: 24 Jul 2021, 08:35 PM IST

पाक के कब्जे वाले कश्मीर में चुनावी रैली को संबोधित करने पहुंचे पाक पीएम इमरान खान ने विवादित बयान दिया। 25 जुलाई को होने वाले चुनाव के मद्देनजर तरार खाल पहुंचे थे।

इस्लामाबाद। पाकिस्तान (Pakistan) के कब्जे वाले कश्मीर में चुनावी रैली को संबोधित करने पहुंचे पाक पीएम इमरान खान ने विवादित बयान दिया है। उन्होंने कश्मीर के लिए नए विकल्प की पेशकश की है। उन्होंने शुक्रवार को कहा कि कश्मीर के लोग ही ये फैसला ले सकेंगे कि वे पाक में शामिल होना चाहते हैं या 'स्वतंत्र राज्य' बनना चाहते हैं।

ये भी पढ़ें: पाकिस्तान में पत्नी से संबंधो के शक में एक शख्स के नाक-कान काटे, हालत गंभीर

इस दौरान उन्होंने विपक्ष की तरफ से किए जा रहे कश्मीर को प्रांत बनाने की योजना के दावे को खारिज कर दिया है। हालांकि, भारत हमेशा से इस बात पर जोर देता रहा है कि जम्मू-कश्मीर उसका अंदरूनी मामला है।

भविष्य तय करने की अनुमति मिलेगी

25 जुलाई को होने वाले चुनाव के मद्देनजर तरार खाल पहुंचे खान ने कश्मीर को पाकिस्तान का प्रांत बनाए जाने की बात इनकार करा है। इमरान ने कहा कि 'मुझे नहीं पता ये बातें कहां से उठ रही हैं।' उन्होंने कहा कि एक दिन आएगा जब कश्मीरियों को संयुक्त राष्ट्र के प्रस्तावों के आधार पर भविष्य तय करने की अनुमति मिलेगी।

ये भी पढ़ें: चीन ने आतंकी घटना के बाद पाक में चल रहे कई प्रोजेक्ट पर लगाई रोक, पाकिस्तानियों को नौकरी से निकाला

गौरतलब है कि पाकिस्तान मुस्लिम लीग-नवाज (PML-N) की नेता मरियम नवाज ने पीओके में 18 जुलाई को आयोजित एक चुनावी रैली में कहा था कि कश्मीर का दर्जा बदलने और उसे प्रांत बनाने का फैसला लिया गया है। वहीं इमरान खान ने कहा कि उनकी सरकार एक और जनमत संग्रह कराएगी। इसमें कश्मीरियों के लोगों को यह विकल्प चुनने का मौका दिया जाएगा कि वे पाक के साथ रहना चाहते हैं या स्वतंत्र राष्ट्र बनना चाहते हैं।

कश्मीर को लेकर पाक की घोषित नीति के तहत, यह मुद्दा संयुक्त के प्रस्तावों के अनुसार जनमत संग्रह के जरिए सुलझाया जाना चाहिए। इसमें कश्मीरियों को भारत या पाकिस्तान में से किसी एक को चुनने की इजाजत होगी।