Iran का शक्ति प्रदर्शन, UN प्रतिबंधों के खत्म होते ही जमकर दागीं मिसाइलें व रॉकेट

|

Updated: 22 Oct 2020, 07:24 PM IST

HIGHLIGHTS

  • Iran Air Defense Drill: ईरानी सेना ने गार्जियन ऑफ वेलायट स्काई -99 नाम से युद्धाभ्यास किया है।
  • इस युद्धाभ्यास में ईरान ने स्वदेशी मिसाइल डिफेंस सिस्टम-बावर -373 ( Bavar-373 Missile Defense System ) का भी टेस्ट किया है।

तेहरान। परमाणु कार्यक्रमों और हथियार खरीदने को लेकर संयुक्त राष्ट्र ने ईरान ( Iran ) पर कई तरह के प्रतिबंध लगा रखे हैं। लेकिन अब जब संयुक्त राष्ट्र ( united Nation ) ने हथियार खरीदने के प्रतिबंधों को हटा लिया है तब ईरान ने ताबड़तोड़ मिसाइलों और रॉकेटों ( Massive Air Defense Drill Missiles And Rockets ) को दागते हुए अपनी ताकत का प्रदर्शन किया है।

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, ईरानी सेना ने गार्जियन ऑफ वेलायट स्काई -99 नाम से युद्धाभ्यास किया है। इस युद्धाभ्यास में ईरान ने स्वदेशी मिसाइल डिफेंस सिस्टम-बावर -373 ( Bavar-373 Missile Defense System ) का भी टेस्ट किया है। रक्षा विशेषज्ञों की मानें तो अभी हाल ही अमरीका-इजरायल के बीच हुए हवाई युद्धाभ्यास को देखते हुए ईरान ने यह शक्ति प्रदर्शन किया है।

ईरान का मिसाइल कार्यक्रम पर पुनर्विचार करने से इंकार, विदेश मंत्री ने कहा- सेल्फ डिफेंस के लिए जरूरी कदम

रिपोर्ट के मुताबिक, आधे ईरान में युद्धाभ्यास किया जा रहा है। ईरानी सेना ने दावा किया है उसकी नई एयर डिफेंस मिसाइलों ने अपने टारगेट को बिना किसी चूक के हिट करते हुए नष्ट कर दिया। बता दें ईरान पहली बार पिछले साल अगस्त में बावर- 373 एयर डिफेंस सिस्टम को दुनिया के सामने पेश किया था। इस डिफेंस मिसाइल सिस्टम की खासियत है कि यह 100 से अधिक लक्ष्यों को आसानी से पता लगा सकता है।

बावर-373 एयर डिफेंस सिस्टम की खासियत

आपको बता दें कि इस डिफेंस मिसाइल सिस्टम की खासियत है कि यह 100 से अधिक लक्ष्यों को आसानी से पता लगा सकता है। बावर-373 में वर्टिकल लॉंचिंग सिस्टम के साथ तीन तरह के मिसाइलें लगी हुई है। इसकी मिसाइलें एक स्क्वॉयर लॉंचर्स के अंदर लगी है। इस तरह के लॉंचर्स युद्धपोतों में लगाए जाते हैं। बावर-373 में फायर कंट्रोल रडार भी लगा है, जो मिसाइल की दिशा को परिवर्तित करने में सक्षम है।

Iran पर फिर से प्रतिबंध लगाने की मांग करने की तैयारी में America, UN की साख पर खड़े हो सकते हैं सवाल

मालूम हो कि अमरीका-इजरायल के बीच चल रहे संयुक्त युद्धाभ्यास में अमरीकी एफ-35 स्टील्थ फाइटर जेट हिस्सा ले रहे हैं। यह अमरीका का सबसे अत्याधुनिक लड़ाकू विमान है। ऐसे में अब ईरान ने मिसाइलों व रॉकेटों को दागकर अपनी शक्ति का प्रदर्शन किया है।

गौरतलब है कि संयुक्त राष्ट्रप ने ईरान पर कई दशकों से हथियार खरीदने पर प्रतिबंध लगा रखा था, लेकिन अब इसे हटा लिया गया है। अब ईरान किसी भी देश से अपनी सुरक्षा के लिए हथियारों की खरीद कर सकता है।