LAC पर तनाव बढ़ाने वाला चीन अब बन रहा है 'शांतिदूत', बोला- लद्दाख में हालात बेहतर हैं

|

Updated: 27 May 2020, 05:34 PM IST

- भारत से लगी सीमाओं पर चीन ने तैनात की हुई है सैन्य ताकत

- लद्दाख सीमा पर भारत और चीनी सेना के जवान आमने-सामने, सड़क निर्माण को लेकर शुरू हुआ विवाद

नई दिल्ली। एक तरफ चीन ( china ) का फैलाया कोरोना वायरस ( Coronavirus ) दुनियाभर में आफत बन चुका है, लेकिन अपनी भूल स्वीकार करने के बजाय ड्रैगन अलग-अलग तरीकों से और परेशानी बढ़ा रहा है। यही नहीं, चीन के उपरअब 'शांतिदूत' बनकर अपना दोहरा चरित्र भी दिखाने से बाज नहीं आ रहा है। चीन ने भारत से लगती सीमा पर अपने सैनिक बढ़ाये, इसके अलावा हाल ही में चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने सेना को युद्ध के लिए तैयार रहने को भी कहा था, लेकिन अब चीनी विदेश मंत्रालय ने भारत के साथ सीमा पर हालात स्थिर बताए हैं।

LAC पर चीन ने तैनात किया हुहै भारतयी

चीनी विदेश मंत्रालय ने कहा कि, 'सीमा पर हालात नियंत्रण योग्य हैं। दोनों देशों के पास बातचीत और विचार विमर्श करने का विकल्प है। इसके लिए उचित सिस्टम और संचार का माध्यम भी उपलब्ध है।' आपको बता दें कि हाल ही चीन और भारत के सेनाओं के बीच झड़प हुई थी। इसके अलावा वास्तविक नियंत्रण रेखा (LAC) पर भी दोनों सेनाओं के गतिरोध जारी है।

हम दोनों देशों के बीच हुए समझौते का कर रहे पालन: चीन

इस गतिरोध पर चीन के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता झाओ लीजिआन ने कहा कि,'सीमा से संबंधित मुद्दों पर चीन का रुख साफ और सुसंगत है। हम दोनों देशों के बीच हुए सहमति और समझौते का सख्ती से पालन करते रहे हैं।' आपको बता दें, चीनी प्रवक्ता ने शी जिनपिंग और नरेंद्र मोदी के बीच हुई दो अनौपचारिक बैठकों का जिक्र कर रहे थे। इस बैठक के दौरान दोनों देशों की सेनाओं को परस्पर विश्वास पैदा करने के कदम उठाने पर सहमति बनी थी।

इस कारण शुरू हुआ विवाद

सीमा पर चीन के साथ तनाव भारतीय सीमा में चल रहे निर्माण कार्य के वजह से शुरू हुआ है। हालांकि, भारतीय सेना ने भी कहा है कि पेंगोंग में अब संघर्ष जैसी स्थिति अब नहीं है। वहां ज्यादा सैनिक भी नहीं।