चीन ने आतंकी घटना के बाद पाक में चल रहे कई प्रोजेक्ट पर लगाई रोक, पाकिस्तानियों को नौकरी से निकाला

|

Published: 23 Jul 2021, 11:58 PM IST

अपने नौ इंजीनियरों की मौत के बाद चीन (China) ने महत्वकांक्षी बेल्ट एंड रोड प्रोजेक्ट (Belt and Road Project) पर काम को लेकर गठित उच्च स्तरीय समितियों की बैठकों को स्थगित कर दिया है।

इस्लामाबाद। पाकिस्तान के खैबर पख्तूनख्वा में बीते दिनों एक बस में हुए बम धमाके में चीनी इंजीनियरों (Chinese Engineers) की मौत हो गई है। इसके लेकर चीन ने काफी नाराजगी दिखाई है। चीन ने पाकिस्तान (Pakistan) में चल रहे कई प्रोजेक्ट्स पर काम को पूरी तरह रोक दिया है। इसके साथ ही चीन ने दासू हाइड्रोपावर प्रोजेक्ट में काम कर रहे पाकिस्तानी कर्मियों को निकाल दिया है।

ये भी पढ़ें: Rat in parliament: संसद में हुई चूहे की एंट्री, सांसदों में मची अफरातफरी

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार अपने नौ इंजीनियरों की मौत के बाद चीन (China) ने महत्वकांक्षी बेल्ट एंड रोड प्रोजेक्ट (Belt and Road Project) को करने के लिए गठित उच्च स्तरीय समितियों की बैठकों को स्थगित करा है। इसके साथ अरबों डॉलर की लागत से बन रहे हाइड्रोपावर प्रोजेक्ट पर पाबंदी लगाई है। चीन अपने नागरिकों की सुरक्षा को लेकर भी पाकिस्तान (Pakistan) को फंड देता है। ऐसे में उसके इंजीनियरों की मौत से वह तिलमिला गया है।

9 चीनी इंजीनियरों की हुई थी मौत

गौरतलब है कि बीते सप्ताह चीन के नेतृत्व वाले दासू हाइड्रोपावर प्रोजेक्ट (DASU Hydropower Project) में काम कर रहे उसके नौ इंजीनियरों की मौत हो गई थी। ये इंजीनियर बस में बैठकर साइट पर आ रहे थे। इस दौरान एक जोरदार धमाके के बाद बस नहर में जा गिरी। पाकिस्तान ने पहले इसे हादसा करार दिया। मगर बाद में चीन ने साफ किया था कि ये कोई हादसा नहीं था बल्कि आतंकी हमला था।

आतंकवाद के मामलों के जानकारों का कहना है कि यह धमाका इसलिए किया गया ताकि चीन-पाकिस्तान इकनॉमिक कॉरिडोर जैसे मेगा प्रोजेक्ट को बाधित करा जा सके। अब तक बलूचिस्तान के बाहरी इलाकों में परियोजना को निशाना बनाया जाता रहा है। मगर यह पहली बार है कि जब ऐसी किसी घटना में चीन के लोगों को नुकसान पहुंचा है।