चीन: एक इमारत में भीषण विस्फोट से 8 की मौत, कई घायल

|

Updated: 26 May 2021, 10:04 PM IST

हेइलोंगजियांग प्रांत के सरकारी सूचना कार्यालय ने जानकारी देते हुए बताया है कि डोंगिंग सिटी में एक कार्यालय की इमारत में यह भीषण विस्फोट हुआ है, जिसमें आठ लोगों की मौत हो गई और चार घायल हो गए।

हार्बिन। पड़ोसी देश चीन से एक बड़े धमाके की खबर सामने आई है। पूर्वोत्तर चीन के हेइलोंगजियांग प्रांत में बुधवार को एक इमारत में जबरदस्त विस्फोट हुआ, जिसमें कम से कम आठ लोगों की मौत हो गई। इस घटना में कई अन्य घायल भी हुए हैं। सभी घायलों को नजदीकी अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

समाचार एजेंसी सिन्हुआ की रिपोर्ट के मुताबिक, शहर के सरकारी सूचना कार्यालय ने जानकारी देते हुए बताया है कि डोंगिंग सिटी में एक कार्यालय की इमारत में यह भीषण विस्फोट हुआ है, जिसमें आठ लोगों की मौत हो गई और चार घायल हो गए। कार्यालय ने बताया कि राहत बचाव का कार्य रात आठ बजे पूरा हो गया है।

यह भी पढ़ें :- चीन: कोयले की खदान में धमाका, 14 कर्मचारियों की मौत

अधिकारियों ने बताया कि प्रारंभिक जांच में पता चला है कि यह विस्फोट एक कोयला खदान के लिए अवैध रूप से निर्मित और संग्रहीत विस्फोटकों के कारण हुआ।

चीन के कोयला खदान में होते रहते हैं हादसे

आपको बता दें कि चीन के कोयला खदानों में विस्फोट और गैस रिसाव की घटनाएं आए दिन होती रहती है। इस तरह की घटनाओं में अब तक सैंकड़ों लोगों की जान जा चुकी है। दिसंबर 2020 में चीन के एक कोयला खदान ( Coal Mine ) में गैस रिसाव की वजह से काम करने वाले 18 मजदूरों की मौत हो गई थी। समाचार एजेंसी शिन्हुआ ने बताया था कि यह घटना चोंगकिंग नगर निगम के योगचुआन जिले स्थित दियाओशुइदोंग कोयला खदान में में शाम पांच बजे हुई है।

यह भी पढ़ें :- China के शांडोंगे प्रांत में Beirut जैसा भीषण विस्फोट, कई घरों की छतें उड़ी

इसके अलावा चीन के दक्षिण पश्चिम के गुईझो प्रांत स्थित एक कोयला खदान में दिसंबर 2019 में एक जोरदार धमाका हुआ था, जिसमें 14 कर्मचारियों की मौत हो गई थी। इससे एक महीने पहले एक अन्य कोयला खदान में धमाके में 15 लोगों की जान चली गई थी और 9 लोग घायल हो गए थे।

इतना ही नहीं, 21 अक्टूबर 2019 को चीन के शानडोंग की कोयला खदान में जोरदार धमाका हुआ था। इस दौरान 22 मजदूर फंस थे। जनवरी 2019 में भी चीन में एक बड़ा हादसा हो गया था। इस दौरान 20 सिलसिलेवार धमाके हुए थे। इसमें काफी संख्या में लोगों की मौत भी हुई थी। उल्लेखनीय है कि चीन का कोयला खनन उद्योग दुनिया में सबसे खतरनाक माना जाता है, जहां सालाना पांच हजार से अधिक मजदूरों की मौत हो जाती है।