Afghanistan: निमरोज प्रांत में सेना की चौकी पर आतंकी हमला, 20 जवान शहीद

|

Updated: 23 Oct 2020, 05:03 PM IST

HIGHLIGHTS

  • Terror Attack In Nimroz Province: अफगानिस्तान के निमरोज प्रांत के खाशरोड जिले में सेना की चौकी पर तालिबानी हमला।
  • तालिबानी हमले में सेना के 20 जवान शहीद।

काबुल। अफगानिस्तान में शांति बहाली ( Afghanistan Peace Talk ) को लेकर लगातर वार्ता का दौर जारी है, लेकिन इसके बावजूद हमलों को सिलसिला नहीं थम रहा है। ताजा मामला अफगानिस्तान के निमरोज प्रांत से आया है। निमरोज प्रांत के खाशरोड जिले में सेना की चौकी को ( Terror Attack In Nimroz Province ) निशाना बनाते हुए एक बड़े हमले को अंजाम दिया गया। इस हमले में सेना के 20 जवान शहीद हो गए, जबकि कई घायल हुए हैं।

स्थानीय मीडिया टोलो न्यूज की रिपोर्ट के अनुसार, गुरुवार की शाम को तालिबानियों ने इस हमले को अंजाम दिया है। फिलहाल, तालिबान की ओर से इस हमले को लेकर कोई प्रतिक्रिया सामने नहीं आई है।

Afghanistan: तालिबान ने सुरक्षा चौकियों को बनाया निशाना, हमले में मारे गए 6 सुरक्षाबल

बता दें कि यह हमला ऐसे समय में अंजाम दिया गया है, जब अफगान सरकार और तालिबान के बीच कुवैत की राजधानी दोहा में शांति बहाली को लेकर वार्ता हो रही है। काफी दिनों से दोनों पक्षों के बीच वार्ता चल रही है, लेकिन इसका नतीजा अभी तक कुछ भी सामने नहीं आया है।

बीते एक सप्ताह में कई हमले

आपको बता दें कि बीते एक सप्ताह में अफगानिस्तान के अलग-अलग हिस्सों में कई हमलों को अंजाम दिया गया। इन हमलों में अब तक सेना व पुलिस के दर्जनों जवान मारे गए हैं, जबकि आम नागरिकों की भी मौत हुई है।

बीते बुधवार को अफगानिस्तान के सुरक्षाकर्मियों ( Terror Attack On Security Personnel ) पर एक बड़े हमले को अंजाम दिया गया था। यह हमला तखार प्रांत में घात लगाकर सेना के काफिले पर तालिबानियों ने हमला किया था। इस हमले में 25 जवान मारे गए थे।

Afghanistan: कुंदुज प्रांत में तालिबानी ठिकानों पर दो हवाई हमले, 30 नागरिकों की मौत

वहीं, बीते मंगलवार को निमरोज प्रांत में ही कांग जिले में दो बड़े बम धमाकों को अंजाम दिया गया था। इस धमाके में एक जिला पुलिस प्रमुख समेत कम से कम 12 पुलिस बलों की मौत हो गई थी। इसके अलावा पिछले रविवार को अफगानिस्तान के पश्चिमी घोर प्रांत ( Sucide Attack In Ghor Province ) में एक आत्मघाती हमले में 12 लोगों की मौत हो गई थी, जबकि 110 से अधिक लोग घायल हो गए थे।