Latest News in Hindi

कल से थम जाएगी ट्रेक पर ट्रेनों की आवाज, 20 यात्री ट्रेन बंद

By दीपेश तिवारी

Nov, 15 2019 09:43:44 (IST)

रेलवे ने जारी किया आदेश, अशोकनगर से पीलीघटा स्टेशन तक लाइन दोहरीकरण का होना है कार्य...

अशोकनगर@अरविंद जैन की रिपोर्ट...

गुना-बीना रेलवे ट्रेक पर कल से यात्री ट्रेनों की आवाज बंद हो जाएगी। रेलवे ने रूट की पैसेंजर और एक्सप्रेस सहित 20 यात्री ट्रेनों को लगातार 18 दिन के लिए बंद कर दिया है। इससे सुबह चार बजे से रात 10 बजे तक लगातार 18 घंटे तक ट्रेक से कोई भी ट्रेन नहीं निकलेगी। नतीजतन ट्रेनें बंद होने से जिलेवासियों को परेशानियों का सामना करना पड़ेगा।

रेलवे के आदेश मुताबिक चारों गुना-बीना-गुना पैसेंजर, बीना-कोटा, कोटा-बीना पैसेंजर 16 नवंबर से तीन दिसंबर तक पूरी तरह से रद्द रहेंगी। वहीं 16 नवंबर से तीन दिसंबर तक ग्वालियर-भोपाल, भोपाल-ग्वालियर इंटरसिटी एक्सप्रेस, बीना-ग्वालियर, ग्वालियर-बीना पैसेंजर, बीना-नागदा, नागदा-बीना पैसेंजर को सिर्फ गुना स्टेशन तक ही चलाया जाएगा और यह ट्रेनें गुना से बीना और भोपाल के बीच रद्द रहेंगी।

इसके अलावा अहमदाबाद-दरभंगा, दरभंगा-अहमदाबाद, अहमदाबाद-वाराणसी, वाराणसी-अहमदाबाद साबरमती एक्सप्रेस को 15 नवंबर से दो दिसंबर तक झांसी-बीना-निशातपुरा-मक्सी के रास्ते चलेंगी। वहीं कोलकाता-मदार, मदार-कोलकाता साप्ताहिक एक्सप्रेस, भागलपुर-अजमेर व अजमेर-भागलपुर एक्सप्रेस को भी इस अवधि में बीना-निशातपुरा-नागदा-कोटा के रास्ते चलाया जाएगा। यानी यह ट्रेनें गुना-बीना रूट पर नहीं चलेंगी।


कारण: रूट पर चलेगा लाइन दोहरीकरण कार्य-
रेलवे ने सुबह चार बजे से रात 10 बजे तक चलने वाली सभी ट्रेनों के बंद करने का कारण लाइन दोहरीकरण को बताया है। गुना-बीना रूट पर अशोकनगर से पीलीघटा तक 24 किमी हिस्से में दूसरी लाइन बनकर तैयार हो चुकी है। इससे 16 से 30 नवंबर तक रूट के अशोकनगर, रातीखेड़ा, शाढ़ौरा और पीलीघटा स्टेशन पर प्री नॉन इंटरलॉकिंग कार्य और एक से तीन दिसंबर तक दोहरीकरण के लिए नॉन इंटरलॉकिंग कार्य चलेगा।


रात में सिर्फ छह ट्रेनें ही चलेंगी-
ट्रेक पर इस अवधि में सिर्फ रात के समय ही छह ट्रेनें चलेंगी। सुबह चार बजे जोधपुर-भोपाल एक्सप्रेस निकलेगी और रात 9:45 बजे भोपाल-जोधपुर एक्सप्रेस आएगी। वहीं रात में अजमेर-जबलपुर,जबलपुर-अजमेर दयोदय एक्सप्रेस व कोटा-जबलपुर, जबलपुर-कोटा एक्सप्रेस ही निकलेंगी।


अब सिर्फ यात्री बसें ही एक मात्र सहारा-
सुबह चार बजे से रात 9:45 बजे तक लगातार 18 घंटे तक ट्रेनें बंद रहने से यात्रियों के लिए अपने गंतव्य तक पहुंचने सिर्फ यात्री बसें ही सहारा बचेंगी। ट्रेनों से शासकीय-प्राईवेट कार्यालयों के कर्मचारी, मजदूर और छात्र सहित अन्य कार्य करने वाले लोग रोजाना यात्रा करते हैं, जिन्हें अब यात्री बसों से यात्रा करना पड़ेगी। वहीं क्षेत्रों के आवागमन का साधन सिर्फ ट्रेनें हैं और बस रूट नहीं है, उन क्षेत्रों के यात्रियों को परेशानी का सामना करना पड़ेगा। वहीं बीना जाने के लिए भी लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ेगा।

अशोकनगर, रातीखेड़ा, शाढ़ौरा और पीलीघटा स्टेशन पर लाइन दोहरीकरण का एनआई वर्क होना है। मशीनों के साथ मजदूरों द्वारा भी यह कार्य किया जाएगा, इसलिए गुना-बीना रूट पर चलने वाली इन ट्रेनों को निरस्त, आंशिक निरस्त और मार्ग परिवर्तन किया गया है।
- आईए सिद्दीकी, जनसंपर्क अधिकारी रेल मंडल भोपाल

More