दौरे के पहले दिन ही मंत्री के निशाने पर आई बिजली कंपनी : बिजली खंभा टेढ़ा दिखा तो गेंती फावड़े से खुद करने लगे सीधा

|

Published: 18 Jul 2021, 10:09 PM IST

खेत में बिजली का टेढ़ा खंभा देखकर ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर उतर गए और खुद ही खंभे पर गेंती से खुदाई करने करके उसे सीधा करने में जुट गए।

अशोकनगर/ मध्य प्रदेश के ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर के निशाने पर जिले में बिजली कंपनी के अधिकारी निशाने पर रहे। खेत में बिजली का टेड़ा खंभा देखकर ऊर्जा मंत्री उतर गए और खुद ही खंभे पर गेंती से खुदाई करने करके उसे सीधा करने में जुट गए। साथ ही, लापरवाही बरतने वाले अधिकारियों पर कार्रवाई के निर्देश भी जारी कर दिये।

 

पढ़ें ये खास खबर- शबरी वाटरफॉल में बड़ा हादसा : उत्तर प्रदेश से पिकनिक मनाने आए 4 युवक नहाते समय डूबे, 3 शव बरामद, 1 की तलाश जारी


खुद खुदाई करके करने लगे खंभा सीधा

बता दें कि, ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर को अशोकनगर जिले का प्रभारी मंत्री बनाया गया है, इससे मंत्री तोमर पहली बार जिले में आ रहे थे। इस दौरान शाढ़ौरा-नई सराय के बीच मूडरा गांव में खेत में उन्हें बिजली का खंभा टेढ़ा लगा दिखा, तो वो अपनी जीप से उतर गए और गांव से गेंती-फावड़ा मंगाकर खंभे को सुधारने खुदाई करने लगे। इसके बाद पीएचई राज्यमंत्री बृजेंद्र सिंह यादव ने भी वहां पर खुदाई की। ऊर्जा मंत्री ने बिजली कंपनी के अधिकारियों को फटकार लगाई और कहा कि, खंभे की गुणवत्ता को देखकर पता लगा कि इसे लगाते समय लापरवाही बरती गई, जिससे खेतों में पोल व लाइन झुकी हैं और इन्हीं कारणों से बिजली प्रदाय में बाधा आती है। साथ ही, लापरवाही बरतने वाले अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई करने और समय पर लाइन का मेंटेनेस करने के निर्देश दिए।

 

पढ़ें ये खास खबर- दिग्विजय सिंह का भाजपा पर बड़ा हमला : बोले- MP में CM बनने के कई उम्मीदवार, मैं कल जारी करूंगा सूची, शिवराज ने दिया जवाब


आठ घंटे लेट आए तो सिर रख मांगी माफी

ऊर्जा मंत्री का जिले में दोपहर एक बजे का कार्यक्रम था, लेकिन वो रात साढ़े आठ बजे रघुवंशी धर्मशाला स्थित भाजपा के कार्यकर्ता सम्मेलन में पहुंचे। जहां उन्होंने मंच पर सिर रखकर देरी से आने के लिए कार्यकर्ताओं से माफी मांगी। हालांकि, जहां कलेक्टर ने दो दिन पहले ही निषेधाज्ञा लागू की थी और भीड़ वाले कार्यक्रमों को प्रतिबंधित किया था, लेकिन इस कार्यक्रम में करीब 400 से 500 कार्यकर्ता शामिल हुए थे।

 

रिश्वत मांगने पर सेंट्रल बैंक के कैशियर को पीटा! - देखें Video