हाथ में कुल्हाड़ी लेकर 2 घंटे तक गांव में घूमता रहा कातिल, घरों में कैद रहे लोग

|

Published: 14 Jul 2021, 03:16 PM IST

बड़े भाई और भतीजे की कुल्हाड़ी से काटकर हत्या करने के बाद आरोपी गांव में घूमता रहा...दो घंटे बाद पहुंची पुलिस पकड़कर थाने लाई...

 

अशोकनगर. शरीर पर खून के छींटे और हाथ में खून से सनी कुल्हाड़ी लेकर कातिल दो घंटे तक गांव की गलियों में घूमता रहा। वो किसी की तलाश में था और अगर वो लोग भी उसके हाथ लग जाते तो उनकी भी हत्या कर देते। खौफ का मंजर कुछ ऐसा था कि दो घंटे तक गांव के लोग अपने ही घरों में कैद हो गए और बाद में जब पुलिस पहुंची और आरोपी की पकड़कर अपने साथ ले गई तो उनकी सांस में सांस आई। मामला अशोकनगर जिले के चंदेरी से 35 किलोमीटर दूर गांव जसपुर तोड़ा की है।

ये भी पढ़ें- कर्ज चुकाने के लिए पत्नी को बेच रहा था पति, नहीं मानी तो कुएं में फेंक दिया

खौफ के 2 घंटे..कुल्हाड़ी लेकर गांव में घूमता रहा कातिल
जानकारी के मुताबिक जमीनी विवाद के कारण आरोपी मोहन ने अपने बड़े भाई धनुआ और भतीजे सुरेश की कुल्हाड़ी से काटकर हत्या कर दी। दोनों को मौत के घाट उतारने के बाद आरोपी मोहन हाथ में खून से सनी कुल्हाड़ी लेकर गांव की गलियों में घूमता रहा। वो अपनी भतीजी, बहू व उसकी करीब 8 महीने की बेटी की तलाश कर रहा था जो उसके डर से गांव में कहीं छिप गए थे जिससे कि उनकी जान बच गई। अगर इनमें से कोई भी आरोपी के हाथ लग जाता तो वो उनकी भी जान ले लेता। आरोपी के खौफ का अंदाजा इस बात से ही लगाया जा सकता है कि वो दो घंटे तक गांव में कुल्हाड़ी लेकर घूमता रहा जिससे डर के कारण लोग अपने घरों में कैद हो गए।

 

ये भी पढ़ें- बहन के लव मैरिज करने से नाराज भाई करना चाहता था जीजा की हत्या, गिरफ्तार

 

जमीनी विवाद में ली भाई-भतीजे की जान
पुलिस ने आरोपी मोहन को गिरफ्तार कर लिया है। शुरुआती जांच में घटना का जो कारण सामने आया है वो दिल दहला देने वाला है। बताया जा रहा है कि छोटे भाई मोहन ने बड़े भाई धनुआ से खेती करने के लिए 25 हजार रुपए लिए थे। इसके बदले उसने एक साल के लिए धनुआ को जमीन खेती करने के लिए दी थी। गांव का ही सीताराम यादव नाम का शख्स जमीन पर नजरे गड़ाए हुए था। उसने मोहन से कहा कि वो धनुआ को जमीन न दे और अगर धनुआ जमीन वापस न दे तो उसके पूरे परिवार को मार डालो, बाकि सब मैं निपट लूंगा। सीताराम की बातों में आकर मोहन के सिर पर खून सवार हो गया, उसने कुल्हाड़ी उठाई और गांव के चौराहे पर भतीजे सुरेश पर ताबड़तोड़ वार कर दिए। भतीजे को खून से लथपथ हालत में छोड़कर मोहन भाई धनुआ के घर पहुंचा और उसकी भी कुल्हाड़ी से हत्या कर दी। वो धनुआ की पत्नी, उसकी बहू और 8 महीने की मासूम बेटी की भी हत्या करना चाहता था। जो डर के कारण घर से भागकर गांव में ही छिप गईं जिससे कि उनकी जान बच गई। पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है और मामले की जांच कर रही है।

देखें वीडियो- कर्ज उतारने पत्नी को बेचा, नहीं मानी तो कुएं में फेंक दिया