यूपी से आकर मध्यप्रदेश में करते थे ठगी, अंतर्राज्यीय ठग गिरोह का पर्दाफाश

|

Published: 25 Jun 2021, 08:56 PM IST

आगरा से आए 5 ठग गिरफ्तार, 10 किलो नकली चांदी की सिल्लियां व नगदी बरामद..

अशोकनगर. अशोकनगर में नकली चांदी बेचने आए आगरा के पांच अंतर्राज्यीय ठगों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। जिनसे 10 किलो नकली चांदी की सिल्लियां, 59 जोड़ी पायल, 50 हजार रु. नगदी बरामद हुई है। ठगों ने शहर में 50 हजार रु. किलो में चांदी की सिल्ली बेची थी। जब खरीदने वाले ने ज्वैलर्स दुकान पर पहुंचकर सिल्लियों को काटकर जांच कराई तो वह नकली निकलीं। सूचना मिली तो पुलिस ने सीसीटीवी व साइबर सेल की मदद से पांचों ठगों को गिरफ्तार कर लिया है।

 

ये भी पढ़ें- पिता की 'गंदी बात' : 6 साल के मासूम से दुष्कर्म की कोशिश, चंगुल से छुड़ाकर थाने लेकर पहुंची मां

 

आगरा से आकर करते थे ठगी
ठगी का शिकार हुए शहर के ईसागढ़ रोड निवासी गोपाल पुत्र ओमप्रकाश शर्मा ने शुक्रवार को कोतवाली पहुंचकर शिकायत की साथ ही शहर में ही ठगों के होने की जानकारी दी। इससे कोतवाली प्रभारी विवेक शर्मा ने शहर की मुख्य जगहों व रास्तों पर टीम तैनात कर दी और आगरा के कालिंदी विहार निवासी हिरदेश पुत्र राधेश्याम वर्मा, आगरा निवासी आकाश पुत्र अशोक अग्रवाल, देवेंद्र गुप्ता पुत्र कल्याणदास, अतुल गुप्ता पुत्र राजवीर व आगरा के ग्राम ऐथमागपुर निवासी दिनेशकुमार पुत्र कैलाशचंद जादौन को गिरफ्तार कर लिया। जिनके पास से नकली चांदी की सिल्लियां, पायलें, 50 हजार रुपए नगदी बरामद कर लिया, वहीं उनके चार पहिया वाहन को भी जब्त कर लिया है।

देखें वीडियो-

 

सिल्ली काटी तो निकली नकली
कोतवाली प्रभारी विवेक शर्मा के मुताबिक गोपाल पुत्र ओमप्रकाश शर्मा ने शिकायत की कि हिरदेश कुमार व आकाश अग्रवाल ने चांदी को 100 टंच असली बताया तो 50 हजार रु.किलो रेट पर सौदा हुआ। जिला जेल के पास किराने की दुकान पर सिल्लियां तौलीं तो दो किलो 840 ग्राम वजन निकला व कीमत 1.40 लाख रु. बनी, 50 हजार रु. नगद दिए व शेष राशि दो-तीन घंटे बाद देने की बात हुई। गोपाल शर्मा ने गुरुकृपा ज्वैलर्स पर सिल्लियां काटकर जांच कराई तो नकली निकलीं। जब बेचने वालों को फोन लगाया तो वह फोन काटते रहे।

 

ये भी पढ़ें- ट्रिपल मर्डर : घर में घुसकर बुजुर्ग दंपति व 12 साल की पोती की बेरहमी से हत्या

 

होटल में एसी के पीछे छिपाकर रखी थी चांदी
पुलिस टीम ने दो ठगों को तो शहर में घूमते पकड़ लिया और उनके तीन साथी शहर की एक होटल में छिपे बैठे थे। खास बात यह है कि वह नकली चांदी को पॉलिथिन में पैक कर पानी के कैंपर में छिपाकर लाए थे, ताकि कहीं भी जांच में पकड़े न जा सकें। वहीं जब पुलिस टीम तीन लोगों को पकड़ने होटल के कमरे में पहुंची तो वह चांदी को एसी के पीछे छिपाए हुए थे।

ये भी पढ़ें- दुल्हन की विदाई से पहले ही दूल्हे की 'दरिंदगी' का पर्दाफाश, जानिए पूरा मामला

मामले में यह भी खास-
- गोपाल शर्मा को यह सभी ठग जिला अस्पताल की वाहन पार्किंग में वाहन के पास खड़े मिले थे और जिन्होंने खुद को चांदी का थोक व्यापारी बताकर सौदे की बात की।
- ठगी का शिकार हुए गोपाल शर्मा ने सौदे के दौरान सभी पांच लोगों के मोबाइल नंबर ले लिए थे, शिकायत मिली तो पुलिस ने उन्हीं फोन नंबरों को ट्रेस कर उन्हें पकड़ा।
- पुलिस के मुताबिक पूछताछ में ठगों ने उप्र के लखनऊ, गौंडा व बहराइच में ठगी की वारदात करना बताया है, साथ ही गुरुवार को गुना में भी नकली चांदी बेचना बताया।
- कोतवाली प्रभारी के मुताबिक पकड़े गए यह पांचों लोग अंतर्राज्यीय ठग हैं और कई प्रदेशों में वारदात कर चुके हैं, जिनसे अन्य वारदातों की पूछताछ की जा रही है।

देखें वीडियो-